दैनिक भास्कर हिंदी: बंधक बनाकर नाबालिग से दुराचार, पुलिस ने तीनों आरोपियों को किया गिरफ्तार

December 17th, 2018

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। तामिया में एक नाबालिग को बंधक बनाकर दुराचार का मामला सामने आया है। नाबालिग की शिकायत पर पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि बीती आठ दिसम्बर की रात वह घर पर अकेली थी। इस दौरान चाचा तिलकराम घर आया और उसे अपने घर ले गया। यहां विश्राम और छुटई पहले से मौजूद थे। ये दोनों ने उसे अपनी बातों में बहला फुसलाकर अपने साथ ले गये। विश्राम ने खाली पड़े उसके बहन के घर पर उसे बंधक बनाकर उसके साथ दुराचार किया। उसके चुंगल से छुटकर घर लौटी नाबालिग ने परिजनों को अपने साथ हुए दुराचार की जानकारी दी। पीड़िता के परिजनों ने उसे थाने लाकर तीनों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस टीम ने तीनों आरोपियों को दबोच लिया।

नाबालिग के साथ अभद्रता
मोहखेड़ की पठरा नदी के समीप एक नाबालिग से एक युवक ने अभद्रता की। अभद्रता का विरोध करने पर युवक ने उसे जान से मारने की धमकी दी। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार शाम पठरा नदी के समीप पवन नामक युवक ने उसके साथ अभद्रता की। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने पवन के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

दीवार में होल कर घर में घुसे चोर, डेढ़ लाख की चोरी
अमरवाड़ा के करबडोल का यादव परिवार गहरी नींद में था, इस दौरान चोरों ने दीवार में होल कर घर में प्रवेश किया और नकदी समेत जेवर चुरा ले गए। सुबह जब परिवार के सदस्यों की नींद खुली तो चोरी की वारदात का खुलासा हुआ। करबडोल निवासी 29 वर्षीय नीरज पिता कुबेर यादव ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार रात पूरा परिवार सो रहा था। इस बीच अज्ञात चोरों ने दीवार में होल कर घर में प्रवेश किया। चोर आलमारी में रखे 35 हजार रुपए नकदी और 96 हजार रुपए कीमत के जेवर चुरा ले गए। नीरज की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश शुरू की है।

शहर में गिरोह सक्रिय
इधर शहर के चंदनगांव क्षेत्र में पिछले कुछ दिनों मेें कई सूने आवासों में सेंधमारी कर चोर लाखों का माल साफ कर चुके है। शांत और पॉश कॉलोनियों के सूने आवासों में सेंधमारी कर रहे चोरों का पूरा गिरोह सक्रिय है। अक्सर ठंड के दिनों में चोरी की वारदातों में इजाफा होता है। जिसके चलते पिछले दिनों क्राइम बैठक में पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह ने गश्ती बढ़ाने के निर्देश दिए थे।