दैनिक भास्कर हिंदी: ठगबाज भोंदूबाबा गिरफ्तार, अड्‌डे से हथियार सहित सामग्री बरामद

July 21st, 2018

डिजिटल डेस्क, खापरखेड़ा(नागपुर)। खापरखेड़ा पुलिस ने खापरखेड़ा पत्रकार संघ व अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति की मदद से भोंदू बाबा के अड्डे पर छापा मारकर बड़े पैमाने पर हथियार बरामद किए गए हैं। विभिन्न धाराओं के तहत आरोपी ‘भोंदू बाबा’ को गिरफ्तार किया गया है।

यह है पूरा मामला 
‘भोंदू बाबा’ का नाम संदीप प्रभुदास सिडाम (28) है और वह बीपीएल टोली, टीचर कॉलोनी भानेगांव का निवासी है। पिछले लगभग दो वर्षों से वह अपने घर में ही बाबागिरी कर रहा है। फरियादी दिलीप गणपत खारकर (55), वार्ड नंबर 3, खापरखेड़ा की पत्नी की तबीयत पिछले कुछ माह से ठीक नहीं हो रही थी। चिकित्सक को दिखाने के बावजूद तबीयत जस की तस बनी हुई थी।

दोस्त की राय पर दिलीप पत्नी को ‘भोंदू बाबा’ के पास ले गया। ‘भोंदू बाबा’ ने महिला के शरीर पर राख की भस्म व नींबू उतार कर फेंक दिया। तलवार, कटार दिखा कर उसके मन में डर पैदा किया। इस प्रक्रिया के बाद उसने दिलीप से कहा कि तेरी पत्नी की तबीयत ठीक हो सकती है। अब तक 50 से 60 हजार रुपए वह दिलीप से ऐंठ चुका है। पत्नी को आराम होता न देख दिलीप ने ‘भोंदू बाबा’ से रुपए वापस मांगे। इस पर ‘भोंदू बाबा’ ने गाली-गलौज करना शुरू कर दिया। धमकी देते हुए कहा कि तेरे से जो बनता है, वह कर ले।

दो वर्षों से बना रहा था लोगों को बेवकूफ 
‘भोंदू बाबा’ संदीप पहले ट्रैक्टर चालक था। बाबागिरी में ज्यादा पैसा होने की लालच में उसने लोगों को फंसाना शुरू किया। किसी को लालच देता था तो, किसी की बीमारी ठीक करने का दावा करता था। इस बाबागिरी में उसके माता-पिता तथा परिवार के सदस्यों की भूमिका भी बताई जा रही है।

थाने पहुंचा फरियादी दिलीप
दिलीप ने 18 जुलाई बुधवार को खापरखेड़ा थाने में इस ठगी की शिकायत दर्ज कराई। खापरखेड़ा पुलिस ने दर्ज शिकायत के आधार पर खापरखेड़ा पत्रकार संघ व अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति की मदद से ‘भोंदू बाबा’ संदीप सिडाम के दरबार में छापा मार कर उसे पकड़ लिया। उसके खिलाफ धारा 3, महाराष्ट्र नरबलि और अमानुष अघोरी प्रथा जादू-टोना अधिनियम 2013 सहधारा 4/25 आर्म्स ऍक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने घटनास्थल से 3 तलवार, 1 खंजर, 1 बड़ी नाग छड़ी, 4 चाकू, 5 अंगूठी, 2 मोबाइल, 2 कटार, नींबू, भस्म आदि जब्त किया है।

महिला सिपाही ने सबूत जुटाए
‘भोंदू बाबा’ संदीप के खिलाफ शिकायत दर्ज होने के बाद सबूत इकट्‌ठा करने षड्यंत्र रचा गया। महिला सिपाही प्रिया महल्ले, जितेश झडाने को सबूत इकट्‌ठा करने की जिम्मेदारी दी गई। अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के शेखर कोलते व पत्रकार बंधु को भी साथ में लिया गया। योजना के मुताबिक महिला पुलिस सिपाही प्रिया महल्ले ने बीमार होने का नाटक किया। इस प्रकार ‘भोंदू बाबा’ पुलिस के जाल में फंस गया। अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति केे शेखर कोलते ने घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग भी की है। ‘भोंदू बाबा’ की गिरफ्तारी के विरोध में कुछ नेता थाने भी पहुंचे थे।

जनता को लगातार लूट रहा था
पिछले कई वर्षों से भानेगांव के बीपीएल टोली में आरोपी संदीप ‘भोंदू बाबा’ बन कर आम जनता से हजारों रुपए लूट रहा था। इस संबंध में  खापरखेड़ा पत्रकार संघ को शिकायत मिल रही थी, लेकिन कोई सामने आने को तैयार नहीं था। आखिर फरियादी दिलीप खारकर ने अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति सावनेर के पदाधिकारी शेखर कोलते, पत्रकार बंधु के साथ खापरखेड़ा थाने पहुंचा और शिकायत दर्ज कराई।