दैनिक भास्कर हिंदी: मासूम को अपहरण कर नागपुर-रायपुर घुमाते रहे अपहरणकर्ता, पुलिस ने आरोपी पति-पत्नी को किया गिरफ्तार

April 4th, 2019

डिजिटल डेस्क, रीवा/सतना। मैहर से लापता हुई सात वर्षीय बच्ची को रीवा पुलिस ने रायपुर कर्चुलियान से सुरक्षित बरामद कर लिया है। पुलिस ने अपहरण के आरोप में पति और पत्नी सहित तीन लोगों को हिरासत में लिया है। आरोपी मासूम को 20 दिनों तक छिपाकर रखे थे और नागपुर व रायपुर घुमाते रहे।

उल्लेखनीय है कि सात वर्षीय आशिकी साकेत पांच मार्च को सतना जिले के मैहर से लापता हो गई थी। इस मामले में मैहर पुलिस ने धारा 363 का मामला दर्ज किया था। पुलिस सहित परिजन  बच्ची की खोज में जुटे रहे। आज रीवा जिले की रायपुर कर्चुलियान थाना पुलिस को यह जानकारी मिली कि यहां कस्बा में रहने वाली रानी तिवारी के घर पर एक अनजान बच्ची है। पुलिस तत्काल ही हरकत में आई और उसके घर पहुंचकर तफ्तीश की। जहां पुलिस को मैहर से लापता आशिकी मिल गई। पुलिस ने इसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी।

वरिष्ठ अधिकारी कर रहे जांच
आईजी चंचल शेखर, डीआईजी अविनाश शर्मा और एसपी आबिद खान भी रायपुर कर्चुलियान थाना पहुंच गए और पूछताछ की। पुलिस ने इस मामले में महिला के साथ ही उसके पति राजकुमार सहित छिउला जौड़ौरी थाना बैकुण्ठपुर निवासी संतोष तिवारी की भूमिका भी संदिग्ध पाई, जिस पर इन्हें भी हिरासत में ले लिया गया। इनसे पूछताछ पूरी कर मैहर पुलिस वैधानिक कार्यवाही करेगी।

माता-पिता के साथ दर्शन के लिए गई थी मैहर
यह बच्ची रीवा जिले के मऊगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत मिसिरगवां गांव की रहने वाली है। शिवलाल साकेत की पुत्री आशिकी पांच मार्च को अपने परिजनों के साथ गांव से देवी दर्शन करने मैहर गई थी। मैहर से यह बच्ची लापता हो गई थी। धार्मिक नगरी से बच्ची के लापता होने पर पुलिस की नींद उड़ गई थी। पुलिस हर स्तर पर इस बच्ची की पतासाजी में जुटी रही और आज सुरक्षित मिल गई। इस बच्ची के सुरक्षित मिलते ही उसके परिजन को जानकारी दी गई। यह  खबर सुनते ही परिजन की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।  

दस हजार का ईनाम था घोषित
बच्ची की तलाश के लिए आईजी एवं डीआईजी द्वारा रीवा जोन में विभिन्न पुलिस टीमें गठित की गई थी। पुलिस ने इस मामले में एसआईटी का गठन किया था। इसके साथ ही सतना एसपी द्वारा अपहृता की दस्तयाबी हेतु दस हजार रुपए का ईनाम भी घोषित किया गया था।

बच्ची को नागपुर ले गई थी रानी
रायपुर कर्चुलियान पुलिस द्वारा रानी तिवारी के घर से अपह्रत किशोरी आशिकी साकेत को सकुशल दस्तयाब करने के बाद रानी तिवारी एवं उसके पति राजकुमार तिवारी से विस्तृत पूछताछ की जा रही है। पुलिस को पूछताछ में पता चला कि रानी तिवारी ज्यादातर नागपुर में रहती है। वह बच्ची की नागपुर ले गयी थी, जहां उसे कई दिनों तक रखे रही।

मैहर और मऊगंज पुलिस पहुंची
बच्चों के लापता होने की घटनाओं को लेकर पुलिस इन दिनों काफी गंभीर है। पांच मार्च से लापता आशिकी के मिलते ही मैहर पुलिस को जानकारी दी गई। वहीं जिले की मऊगंज पुलिस को भी बुलाया गया। यहां गौरतलब है कि जिले के मऊगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत ढेरा गांव से कई माह पूर्व लापता पांच वर्षीय एक बच्ची का आज तक सुराग नहीं लगा है। इस दृष्टि से मऊगंज पुलिस भी पूछताछ कर यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि कहीं इन लोगों से तो तार नहीं जुड़े थे।