• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Police has many secrets of bandit beauty practice! Police target was eliminated by robbers completely

दैनिक भास्कर हिंदी:  पुलिस के हाथ लगे दस्यु सुंदरी साधना के कई राज! डाकुओं का पूरा सफाया ही पुलिस का टारगेट

September 24th, 2019

 डिजिटल डेस्क सतना। छत्तीसगढ़ के दुर्ग से हाल ही में गिरफ्तार साधना पटेल गिरोह के 20 हजार के इनामी दस्यु दीपक शिवहरे उर्फ शिवा को पुलिस रिमांड खत्म होने के बाद जेल भेज दिया गया है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि 3 दिन की पूछताछ के दौरान दीपक ने साधना गिरोह से जुड़े कई अहम राज उगले हैं। शेजवार निवासी दीपक शिवहरे  मूलत: नवल धोबी गिरोह का शार्प शूटर था। नवल की गिरफ्तारी के बाद उसकी प्रेयसी साधना पटेल ने अपना गिरोह बना लिया था। शुरु में तो बतौर शार्पशूटर दीपक की साधना से खूब बनी मगर गिरोह में शामिल एक अन्य सदस्य ज्ञानेन्द्र पटेल के प्रति साधना के बढ़ते रुझान के चलते अंतत: दीपक ने गिरोह छोड़ दिया था। पुलिस सूत्रों का दावा है कि तराई से बबुली गिरोह के सफाए के बाद अब साधना का गैंग निशाने पर है। हालांकि साधना इधर एक वर्ष से सक्रिय नहीं है। मगर, तराई के चित्रकूट इलाके में किसी नवोदित गिरोह की सक्रियता की आशंका के मद्देनजर पुलिस एहतियाती तौर पर सतर्क है। असल में पुलिस साधना की जंगल वापसी के सारे रास्ते हमेशा के लिए बंद कर देना चाहती है। 
 मगर, मिली नहीं 2 रायफल 
पुलिस सूत्रों ने बताया कि पूछताछ के लिए रिमांड पर लिए गए दीपक शिवहरे उर्फ शिवा से जहां दस्यु सुंदरी साधना से संबंधित अहम सुराग पुलिस के हाथ लगे हैं? वहीं पुलिस को तमाम कोशिशों के बाद भी 315 बोर की वो 2 रायफल नहीं मिली हैं, जो उसने गिरोह छोड़कर छत्तीसगढ़ भागने से पहले धारकुंडी थाना क्षेत्र के सेजवार के जंगल में छिपा कर रखी थीं। इन्हीं सूत्रों ने बताया कि पुलिस दीपक को लेकर सेजवार के उस जंगल में भी गई मगर राइफल नहीं मिलीं।  
तराई में डकैतों की खैर नहीं  
एमपी-यूपी की सरहद पर स्थित तराई में 8 लाख 30 हजार के इनामी 2 अंतराज्यीय दुर्दान्त दस्यु बबुली और लवलेश कोल के पुलिस एनकाउंटर में मारे जाने के बाद अब दीगर डकैतों की खैर नहीं है। मुठभेड़ के 7 दिन के अंदर यूपी पुलिस एक-एक लाख के इनामी बबुली गिरोह के 2 फरार हार्ड कोर मेंबर संजय कोल और सोहन कोल को गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं इसी अवधि में एमपी की सतना पुलिस ने 35 हजार के दो इनामी बदमाशों दीपक और लाली को पकड़ कर जेल भेज दिया। दोनों राज्यों की पुलिस की अब साधना और गौरी यादव गिरोह की गतिविधियों पर नजर है।