दैनिक भास्कर हिंदी: ड्रग्स माफिया से जुड़े सस्पेंड पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों ने लौटाई वर्दी

February 7th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर के ड्रग्स माफिया व ताजबाग के कुख्यात बदमाश आबू उर्फ फिरोज खान के संपर्क में बने रहने वाले 6 पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों को मंगलवार को निलंबित कर दिया गया है। सूत्रों के अनुसार निलंबित किए गए 6 पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों ने बुधवार को पुलिस मुख्यालय में संबंधित विभाग के पास अपनी वर्दी लौटाई। निलंबित पुलिस उपनिरीक्षक शरद शिंपणे, निलेश पुरभे, साजिद मोवाल, मनोज ओरके ने अपनी वर्दी के साथ सरकारी पिस्टल को पुलिस मुख्यालय के वैपन विभाग में वर्दी के साथ जमा किया। निलंबित हवलदार श्याम मिश्रा और सबसे अधिक विवादित पुलिस सिपाही जयंता सेलोट ने भी बुधवार को अपनी सिपाही की कीट को वापस लौटाया। जयंता सेलोट और श्याम मिश्रा का कार्यकाल काफी विवादों में रहा है। चर्चा है कि यह पुलिस कर्मी वसूली भाई के रूप में काफी चर्चित रहे हैं। श्याम मिश्रा और जयंता के कई कारनामे उजागर होते रहने के बाद भी वह अपराध शाखा पुलिस विभाग में अपनी जगह बनाने में कामयाब हो जाया करते थे। इससे अपराध शाखा पुलिस विभाग में कार्य करने की राह देखने वालों को अवसर ही नहीं मिल पाता है। 

इस बार पुलिस आयुक्त डॉ. भूषणकुमार उपाध्याय ने गुंडों से दोस्ती रखने वाले 6 पुलिस कर्मियों को निलंबित कर एक मिसाल कायम की है। पुलिस विभाग के आला अफसरों का मानना है कि गुंडे से उतनी ही दोस्ती होनी चाहिए कि उससे पुलिस को जानकारी हासिल होती रहे और पुलिस अपराध पर काबू पाने में कामयाब होती रही। सूत्र बताते हैं निलंबित किए गए इन पुलिस कर्मियों में कुछ लोग खुद भी एम डी ड्रग्स का शौक करते थे। वह शहर की बदनाम गली में भी अक्सर फेरे लगाते नजर आया करते थे। सूत्र बताते हैं कि इस प्रकरण की जांच अपराध शाखा पुलिस विभाग के एसीपी कांबले को सौंपी गई है। इन अधिकारियों और कर्मचारियों की ड्रग्स माफिया और अन्य गुंडों से संबंध किस हद तक थे, यह बात तो पिछले दिनों एक डांस वीडियो के वायरल होने से जगजाहिर हो चुका है।

मामला भी दर्ज किया जाएगा
निलंबित किए गए पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों की भूमिका की जांच हो रही है। वह ड्रग्स माफिया से किस तरह से जुड़े हुए थे। उनकी ड्रग्स कारोबार में संलिप्तता पाई गई, तो उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। फिलहाल उन्हें निलंबित कर दिया गया है। 
- डॉ. भूषणकुमार उपाध्याय, पुलिस आयुक्त, नागपुर शहर