दैनिक भास्कर हिंदी: गोदाम से पुलिस ने जब्त किए 2200 रेमडेसिविर इंजक्शन

April 20th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना संक्रमितों के इलाज में मददगार साबित हो रही रेमडेसिविर इंजेक्शन की 2200 वायल्स मुंबई पुुलिस और अन्न व औषधि प्रशासन (एफडीए) की टीम ने संयुक्त छापेमारी में जब्त की है। मुंबई के न्यू मरीन लाइंस और अंधेरी इलाकों में छापेमारी के दौरान निर्यातकों से रेमडेसिविर जब्त किए गए हैं। देश में भारी मांग को देखते हुए केंद्र सरकार ने रेमडेसिविर के निर्यात पर रोक लगा दी है। इसके चलते यह इंजेक्शन निर्यातकों के गोदामों में पड़े थे। 

जब्त किए गए रेमडेसिविर को राज्य के अस्पतालों को दिया जाएगा। मुंबई पुलिस के प्रवक्ता डीसीपी चैतन्य सिरिप्रोलू ने बताया कि हमें सूचना मिली थी कि कुछ लोगों ने रेमडेसिविर जमा करके रखा है जबकि सरकार ने निर्देश दिए हैं कि जिन निर्यातकों के पास इसकी खेप है वे देश के भीतर इस्तेमाल के लिए इसकी जानकारी दें। सूचना के आधार पर पुलिस और एफडीए की टीम ने सोमवार को पहले उपनगर अंधेरी के मरोल इलाके में एक दवा कंपनी के गोदाम में छापे मारे जहां से रेमडेसिविर के 2000 वायल्स जब्त किए गए। इसके बाद दक्षिण मुंबई के न्यू मरीन लाइंस इलाके में एक निर्यातक के ठिकाने पर छापे मारे जहां से रेमडेसिविर के 200 वायल्स जब्त किए गए।

डीसीपी चैतन्य ने बताया कि बरामद रेमडेसिविर एफडीए के हवाले कर दिए गए हैं। जब्त रेमडेसिविर का उत्पादन निर्यात के लिए किया गया था लेकिन प्रतिबंध लगने के बाद इसे गोदामों में रख दिया गया था। एफडीए के एक अधिकारी ने बताया कि जरूरी प्रक्रिया पूरी करने के बाद बरामद रेमडेसिविर अस्पतालों को उपलब्ध करा दिया जाएगा। वहीं एफडीए अधिकारी इस बात की भी जांच कर रहे हैं कि क्या बरामद रेमडेसिविर का संबंध दमन की ब्रुक फार्मा से है जो दवा का उत्पादन और निर्यात करती है।

 

खबरें और भी हैं...