दैनिक भास्कर हिंदी: ग्रामीण महिलाओं के साथ धोखा है 'प्रधानमंत्री उज्जवला योजना' : NCP

February 12th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश राष्ट्रवादी महिला कांग्रेस ने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना को धोखा बताते हुए कहा है कि यह योजना किफायती न होने के कारण लोगों को फिर से लकड़ी का चुल्हा जलाना पड़ रहा है। प्रदेश राष्ट्रवादी महिला कांग्रेस (NCP) की अध्यक्ष चित्रा वाघ ने दावा किया कि केंद्र सरकार की इस योजना का फायदा ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को नहीं मिल रहा।

राष्ट्रवादी महिला कांग्रेस का आरोप
सोमवार को प्रदेश राष्ट्रवादी कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को संबेधित करते हुए वाघ ने कहा कि इश योजना की हकीकत जानने के लिए हमने महाराष्ट्र के 6 जिलों की महिलाओं से बातचीत कर उना वीडियो भी तैयार किया है। उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना  के तहत रसोई गैस लेने के चलते सरकारी राशन दुकानों से मिलने मिट्टी का तेल मिलना भी बंद हो गया। मजबूरी में ये महिलाएं प्लास्टिक जला कर खाना पका रही है। जिससे बीमारी होने का खतरा बढ़ गया  है।

1 हजार रुपए में मिल रहा गैस सिलेंडर
उन्होंने कहा कि रसाई गैस कनेक्शन के लिए 200 से 2200 रुपए तक लिए गए हैं। कहीं यह राशि 8200 रुपए तक वसूली गई है। खाली गैस सिलेंडर ले जाने और भरा सिलेंडर लाने के लिए ग्रामीण इलाके के लोगों को 150 रुपए और यात्रा खर्च के रुप में 100 रुपए खर्च करने पड़ रहे हैं। इस लिए लोगों को एक सिलेंडर के लिए 1 हजार रुपए तक खर्च करने पड़ रहे हैं।

हर जिले में होगा आदोलन
वाघ ने कहा कि संसद में बजट पेश करने के दौरान कहा गया कि 5 करोड़ परिवारों को उज्जवला योजना का लाभ मिला है। लेकिन लोगों को वास्तव में कितना फायदा हुआ यह वहीं लोग बता रहे हैं। राकांपा नेता ने कहा कि इस योजना के खिलाफ राष्ट्रवादी महिला कांग्रेस राज्य के हर जिले में आदोलन शुरु करेगी। उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना की वास्तविकता हर जिले से सामने लाएंगे।