comScore

सीसीआई के केन्द्र प्रभारी सहित नौ कर्मचारियों को किया क्वारेंटाइन - पारसनाथ जिनिंग फैक्टरी सील

सीसीआई के केन्द्र प्रभारी सहित नौ कर्मचारियों को किया क्वारेंटाइन - पारसनाथ जिनिंग फैक्टरी सील

छिंदवाड़ा/पांढुर्ना। बीते 14 जुलाई को दानापुर से आने के बाद क्वारेंटाइन में रह रहे कर्मचारी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर एसडीएम सुश्री मेघा शर्मा ने संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर शहर के अमरावती रोड स्थित पारसनाथ जिनिंग फैक्टरी को सील कर दिया है। अगले सात दिनों तक फैक्टरी सील रहेगी और काम बंद रहेगा। फैक्टरी सील करने के अलावा एसडीएम ने कर्मचारी के संपर्क में भारतीय कपास निगमके केन्द्र प्रभारी वीएस मीणा सहित सीसीआई और फैक्टरी के नौ कर्मचारियों को क्वारेंटाइन कर दिया।
मिली जानकारी के अनुसार विगत 19 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव मिले युवक की कॉन्टेक्ट हिस्ट्री के आधार पर पारसनाथ जिनिंग फैक्टरी को सील करने और सीसीआई के केन्द्र प्रभारी व कर्मचारियों को क्वारेंटाइन करने की कार्रवाई की गई है। एसडीएम सुश्री मेघा शर्मा ने फैक्टरी पहुंचकर पहले एहतियात के तौर पर निरीक्षण किया। चर्चा के दौरान पहले फैक्टरी के कुछ क्षेत्र को कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने की स्थिति देखी, पर चर्चाओं में सामने आई स्थिति के बाद कर्मचारी की कॉन्टेक्ट हिस्ट्री को देखते हुए पूरी फैक्टरी को ही सील करने का निर्णय लिया। इस दौरान एसडीएम सुश्री मेघा शर्मा के साथ तहसीलदार मनोज चौरसिया, नायब तहसीलदार भरतसिंह वट्टे, डॉ.संजय बरैया, मंडी सचिव मनोज चौकीकर, टीआई राजेश चौहान और प्रशासनिक अमला मौजूद रहा।
क्वारेंटाइन करने को लेकर बनी विवाद की स्थिति
सीसीआई के केन्द्र प्रभारी को क्वारेंटाइन किए जाने के दौरान एसडीएम और सीसीआई के केन्द्र प्रभारी के बीच नोकझोंक की स्थिति बन गई। सीसीआई के केन्द्र प्रभारी वीएस मीणा ने क्वारेंटाइन करने पर विरोध जताते हुए सीसीआई के वरिष्ठ अधिकारियों से दूरभाष पर चर्चा की और क्वारेंटाइन करने की शिकायत की। सीसीआई के अधिकारियों ने काम का हवाला देते हुए कलेक्टर से इस संबंध में चर्चा की गई। पर सभी वरिष्ठ अधिकारियों ने कोरोना संक्रमण के खतरे को दृष्टिगत रखते हुए कोरोना प्रोटोकॉल के अंतर्गत सीसीआई के केन्द्र प्रभारी और अन्य कर्मचारियों को क्वारेंटाइन कराने की बात कही, जिसके बाद सीसीआई के केन्द्र प्रभारी व कर्मचारी सहित फैक्टरी के सात कर्मचारियों सरस्वती विद्यालय के शेल्टर होम में क्वारेंटाइन किया गया।
एक रात फैक्टरी में रुका था संक्रमित युवक
बताया जा रहा है कि दानापुर से आने के बाद कर्मचारी शेल्टर होम जाने के बजाय सीधे पारसनाथ जिनिंग फैक्टरी पहुंचा था और एक रात फैक्टरी में ही गुजारी थी। इस दौरान वह फैक्टरी के कर्मचारियों के साथ-साथ सीसीआई के केन्द्र प्रभारी व कर्मचारियों के संपर्क में रहा, जिसके दूसरे दिन फैक्टरी के दो ड्राइवरों ने उसे सरकारी अस्पताल में लाया। यहां हुई स्क्रीनिंग के बाद उसे उत्कृष्ट विद्यालय के शेल्टर होम में क्वारेंटाइन कर दिया गया। यहां से 17 जुलाई को गए स्वाव सेंपल के बाद 19 जुलाई को कर्मचारी के कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट आई, जिसके बाद उसे अस्पताल लाने वाले दो ड्राइवरों को क्वारेंटाइन किया गया।
इनका कहना है
एहतियात के तौर पर हमनें पारसनाथ फैक्टरी का दौरा किया पर इस दौरान बात सामने आई कि संक्रमित युवक फैक्टरी में कई जगहों पर पहुंचा और कई लोगों के संपर्क में रहा। सीसीआई के अधिकारी-कर्मचारियों के भी संपर्क में आया था। यह सभी बातें सामने आने के बाद संक्रमण के खतरे को दृष्टिगत रखते हुए संपूर्ण फैक्टरी को सात दिनों के लिए सील करने का निर्णय लिया गया। वहीं सीसीआई के केन्द्र प्रभारी के साथ कुल सात कर्मचारियों को क्वारेंटाइन किया गया।
-सुश्री मेघा शर्मा, एसडीएम, पांढुर्ना
 

कमेंट करें
xnISH