• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Railways prepare Covid coaches for Maharashtra, know - Vidarbha's latest figures including Nagpur

दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र के लिए तैयार किए कोविड कोच, फडणवीस बोले - छुपाए जा रहे हैं मृतकों के आंकड़े, जानिए - नागपुर सहित विदर्भ के हाल

April 28th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अस्पतालों में कोविड के बढ़ते मामलों के कारण बेड़ की कमी को पूरा करने के लिए रेल मंत्रालय भी अपने स्तर पर शिद्दत से कोशिश कर रहा है। रेलवे की ओर से विभिन्न राज्यों को मांग के आधार पर कोविड देखभाल कोच सौंपे जा रहे हैं। मंगलवार को महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के कुछ शहर में कोविड कोच रवाना करने के बाद बुधवार को फिर इन राज्यों के लिए रेलवे ने अतिरिक्त 22 कोविड देखभाल कोच तैयार किए है। रेलवे के मुताबिक राज्यों के लिए 64,000 बिस्तरों वाले लगभग 4000 कोविड देखभाल कोच तैयार किए है। राज्यों की मांग के अनुसार विभिन्न शहरों में 191 आइसोलेशन कोचेस सौंपे गए है। इन आइसोलेशन कोचेस में 2990 कोविड बेड उपलब्ध है। गौरतलब है कि मंगलवार को नागपुर जिले में रेल बोगी उपलब्ध कराने के लिए रेलवे ने नागपुर नगर निगम के साथ सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं। समझौते के मुताबिक रेलवे ने मांग को देखते हुए रेलवे ने 11 कोविड कोचेस उपलब्ध कराए है, जो अजनी आईसीडी इलाके में रखे गए है। रेलवे ने कहा है कि महाराष्ट्र के नागपुर और मध्यप्रदेश के तिही और इंदौर में कोविड कोच रवाना करने के बाद फिर रेलवे की ओर इन दो राज्यों के लिए अतिरिक्त 22 कोचेस तैयार किए गए हैं।

मृतकों को आंकड़े छिपाए जा रहे : फडणवीस  

राज्य में कोरोना का प्रकोप कम करने के लिए सरकार को चाहिए कि जांच की गति बढ़ाए। सरकार कोरोना से मरनेवालों के आंकड़े छिपा रही है। यह आरोप पूर्व मुख्यमंत्री तथा विरोधी पक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने पत्रकारों के साथ चर्चा के दौरान लगाया। बुधवार को वर्धा और यवतमाल जिले के दौरे पर आए विपक्ष नेता ने दोनों जिलों में जिला सरकारी अस्पतालों में पहुंचकर कोरोना मरीजों का हाल जाना तथा स्वास्थ्य सुविधाओं का भी जायजा लिया। वर्धा में उनके साथ पूर्व मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, सांसद रामदास तडस, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ. शिरीष गोडे, विधायक दादाराव केचे, विधायक रामदास आंबटकर, विधायक समीर कुणावार भी मौजूद थे। उन्होंने जिला सरकारी अस्पताल पहुंचकर सुविधाओं का जायजा लिया। गुरुवार 29 अप्रैल को विरोधी पक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस अमरावती जिले में पहुंचकर कोरोना की स्थिति का जायजा लेंगे। 

नागपुर में 6935 मरीज हुए डिस्चार्ज, 7503 नए संक्रमित

नागपुर जिले की बात करें तो यहां लगातार मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। बुधवार को जिले में 6935 मरीज स्वस्थ हुए। इसके साथ ही जिले में पिछले 24 घंटे में 7503 नए मरीज सामने आए हैं। जिले में 24 अप्रैल को सबसे अधिक 7999 संक्रमित सामने आए थे। इसके बाद संक्रमितों का आंकड़ा स्थिर चल रहा है। इसके साथ ही डिस्चार्ज मरीजों की संख्या 6 हजार के ऊपर रही है। कुछ विशेषज्ञों ने ग्राफ के नीचे जाने की बात कही है। हालांकि आगे की स्थिति को देखकर स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कह सकते। जिले में बुधवार को 85 मरीजों की मौत हुई। बुधवार को 26525 नमूनों की जांच की गई। जिले में अब लोग कोरोना के विषय में सतर्क हो गए हैं। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जिले में सबसे अधिक 12397 जांच निजी लैब में की गई। नए 7503 मरीजों में एम्स में 965, मेडिकल में 873, मेयो में 668, नीरी में 80, नागपुर विश्वविद्यालय में 146, निजी लैब में 4120 और एंटीजन में 651 नमूनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। कुल संक्रमितों की संख्या 393830 हो गई है। बुधवार को जिले में 85 लोगों की मौत हुई। इसमें 37 शहर, ग्रामीण में 38 और जिले के बाहर के 10 लोग शामिल हैं। इन्हें मिलाकर जिले में कुल मृतकों की संख्या 7211 हो गई है। 6935 मरीज डिस्चार्ज हुए हैं। इनमें होम आइसोलेट मरीज भी शामिल हैं। इसके साथ कुल डिस्चार्ज मरीजों की संख्या 309415 पहुंच गई है। रिकवरी दर 78.60% है। वर्तमान में 77187 एक्टिव मरीज हैं। इनमें से 30834 मरीज ग्रामीण और 46353 शहर के हैं। इनमें से 60660 होम आइसोलेट हैं। 16527 कोविड केयर सेंटर, निजी व सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं। इसमें बुधवार को मिले 7503 मिले नए मरीज भी शामिल हैं जिनकी भर्ती प्रक्रिया जारी है।

विदर्भ के ताजा आंकड़े

अमरावती जिले में फिर एक बार कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलने लगा है। बुधवार को जिले में एकाएक मृतकों का आंकड़ा 32 पर पहुंच गया तथा 946 नए मरीज भी पाए गए। गत कुछ दिनों से अमरावती में स्थिति कुछ हद तक संभली हुई थी, लेकिन बुधवार को एकाएक हुए कोरोना विस्फोट से जिला प्रशासन का सिरदर्द बढ़ गया है। बुधवार को यहां 596 मरीज स्वस्थ भी हुए।  वर्धा में भी कोरोना की रफ्तार कम होने का नाम नहीं ले रही है। यहां एक दिन में 34 लोगों की मौत के साथ 1072 लोग संक्रमित पाए गए हैं। साथ ही 454 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिल गई। यवतमाल में 30 लोगों ने कोरोना से जूझते हुए जान गंवा दी तथा 863 नए मरीज भी पाए गए। जबकि 880 लोग स्वस्थ हुए। चंद्रपुर जिले में 1026 लोगों ने कोरोना को मात दी तथा 1224 नए मरीज भी पाए गए। 20 लोगों की मृत्यु भी हुई। गड़चिरोली जिले में भी कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज हो चुकी है। यहां 21 लोगों की मृत्यु के साथ 622 लोग संक्रमित पाए गए हैं। गोंदिया में स्थिति काफी हद तक सुधरने लगी है। यहां 759 मरीजों ने कोरोना को हराने में सफलता पायी है। जबकि 14 लोग कोरोना से जंग हार गए हैं। 476 नए मरीज भी मिले हैं।  भंडारा जिले में 1218 लोग स्वस्थ हुए तथा 28 मरीजों ने जान गंवा दी। 1283 नए मरीज भी मिले हैं। 

भंडारा के वरठी में खुलेगा सर्व सुविधायुक्त हजार बेड का अस्पताल 

उधर भंडारा जिले की वरठी तहसील अंतर्गत क्षेत्र के एकलारी परिसर में कोरोना मरीजों के लिए सर्व सुविधायुक्त एक हजार बेड के जम्बो कोविड अस्पताल के निर्माण का निर्णय लिया गया है। चार सप्ताह में यह अस्पताल बनकर तैयार होगा,  ऐसा  दावा किया जा रहा है। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष एवं विधायक नाना पटोले तथा जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने बुधवार को एकलारी पहुंचकर जगह का निरीक्षण किया।  

पांच दिन मच्र्युरी में पड़ा रहा कोरोना संक्रमित महिला का शव 

अमरावती में कोविड अस्पताल में उपचारत एक कोरोनाग्रस्त महिला की 22 अप्रैल को मृत्यु हो गई लेकिन पांच दिन तक परिवार के सदस्य उसका शव लेने नहीं पहुंचे। अंतत: मजबूर होकर प्रशासन को ही मृत महिला का अंतिम संस्कार करना पड़ा। पांच दिन तक महिला का शव मच्र्युरी में ही पड़ा रहा। महिला के परिजनों से संपर्क करने पर उन्होंने होम क्वारंटाइन होने का हवाला देते हुए अस्पताल में आने में असमर्थता जतायी। पांच दिन बाद महिला का कोई रिश्तेदार अचानक अस्पताल पहुंचा तब मनपा प्रशासन ने उसकी उपस्थिति में महिला का अंतिम संस्कार किया। रिश्तेदार द्वारा सूचना देने के बाद महिला का पुत्र वहां पहुंचा लेकिन पांच दिन तक किसी ने शव लेने के लिए पहल तक नहीं की। 

अकोला, बुलढाणा, वाशिम में 34 मृत, 1,400 नए पॉजिटिव

अकोला जिले में बुधवार को 13 लोगों ने अपनी जान गंवाई। 408 नए पॉजिटिव केस मिलने के बाद कुल संक्रमितों का आंकड़ा 38,951 हो गया है। 728 लोगों को डिस्चार्ज मिलने से स्वस्थ होेने वालों की संख्या अब 33,263 तक पहुंच गई है। 5,020 एक्टिव मरीजों का इलाज जारी है।

बुलढाणा जिले में बुधवार को 9 मरीजों ने दम तोड़ दिया और 662 नए पॉजिटिव मिलने से कुल मृतक 399 और संक्रमितों की संख्या 62,051 हो गई है। 641 मरीजों के स्वस्थ होने से अब ठीक हो चुके लोगों की तादाद 54,311 हो गई है। 7,341 सक्रिय मरीजों का उपचार जारी है। 

वाशिम जिले में बुधवार को 12 मरीजों की मौत हुई। 330 नए मरीज मिलने से कुल संक्रमित 26,224 और मृतक बढ़कर 282 हो गए हैं। 395 मरीजों के स्वस्थ हो जाने से ठीक होने वालों की संख्या 22,025 पर पहुंच गई है। 3,759 सक्रिय मरीजों का उपचार जारी है। 
 

 

खबरें और भी हैं...