दैनिक भास्कर हिंदी: गुरुवार को ईडी के सामने पेश होंगे राज ठाकरे, कार्यकर्ताओं से शांति बनाए रखने की अपील

August 20th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश होने का फैसला किया है। उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से शांति बनाए रखने की अपील की है। इसके पहले सोमवार को राज ठाकरे को ईडी की नोटिस पर मनसे नेताओं ने कहा था कि 22 अगस्त को कुछ भी हो सकता है लोग जरूरी होने पर ही घरों से निकले। मंगलवार को राज ने अपने पार्टी नेताओं के साथ बैठक की। बैठक के बाद पार्टी के प्रवक्ता संदीप देशपांडे ने मंगलवार को बताया कि मनसे ने गुरुवार को प्रस्तावित ठाणे बंद को भी वापस ले लिया है। इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज (आईएलएंडएफएस) घोटाले की जांच के सिलसिले में ईडी ने ठाकरे को को समन किया है। एजेंसी आईएलएंडएफएस द्वारा कोहिनूर सीटीएनएल इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी में 450 करोड़ रुपये से अधिक के ऋण एवं इक्विटी निवेश से जुड़ी कथित अनियमितताओं की जांच कर रही है। कोहिनूर सीटीएनएल इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी मुंबई के दादर इलाके में कोहिनूर स्क्वायर टावर का निर्माण कर रही है। मनसे प्रवक्ता संदीप देशपांडे ने सोमवार को चेतावनी दी कि ‘‘सरकार अगर ठाकरे के खिलाफ पूर्वाग्रह के साथ कार्रवाई करती है तो पार्टी सड़कों पर प्रदर्शन करेगी।’’पार्टी ने गुरुवार को ठाणे बंद का एलान किया था। ठाकरे ने इस मुद्दे और आगामी कार्रवाई पर चर्चा करने के लिए मंगलवार को अपने आवास पर पार्टी पदाधिकारियों की बैठक की। बैठक के बाद देशपांडे ने कहा कि राज साहब गुरुवार को ईडी के समक्ष पेश होंगे। उन्होंने मनसे कार्यकर्ताओं से अपील की कि ऐसा कोई विरोध प्रदर्शन नहीं करें जिससे लोगों को समस्या हो। उन्होंने कहा कि पार्टी ने ठाणे में बंद के आह्वान को भी वापस ले लिया है। 

‘ईडी कार्यालय न आए नेता-कार्यकर्ता’

इस बीच राज ठाकरे ने सोशल मीडिया पर अपील जारी कर अपने कार्यकर्ताओं से शांति बनाए रखने को कहा है। राज ने कहा कि आप पर और मुझ पर कई मामले दर्ज हुए हैं और हमने हर बार कोर्ट और जांच एजेंसियों का आदर किया है। इस लिए 22 अगस्त को शांति बनाए रखें। सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान न पहुंचाए और ऐसा कुछ न करें जिससे आम लोगों को परेशानी हो। राज ने कहा कि पार्टी का कोई नेता-कार्यकर्ता ईडी कार्य़ालय पर न आए।