दैनिक भास्कर हिंदी: मुंबई में राजू और गडकरी ने भरी सी प्लेन में उड़ान, नागपुर को मिलेगी सौगात

December 10th, 2017

डिजिटल डेस्क, मुंबई। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू और जहाजरानी मंत्री नितीन गडकरी ने शनिवार को सी प्लेन की परीक्षण फ्लाइट में उड़ान भरी। विमान ने मुंबई हवाईअड्डे से उड़ान भरी और यह गिरगांव चौपाटी पर समुद्र में उतरा। विमान सेवा कंपनी स्पाइसजेट ने देश में एंफीबियन विमानों के परिचालन की तैयारी की है। इसीके तहत परीक्षण उड़ान का आयोजन किया गया था। इसके लिए स्पाइस जेट ने जापान की सेटोउची होल्डिंग्स कंपनी से विमानों का सौदा किया है।

सी प्लेन में सवार हुए अशोक गजपति और गडकरी
मुंबई सरकार जल्द ही पेट्रोल में 15 फीसदी मेथनॉल मिलाने की नीति जारी करेगी। इससे पेट्रोल को सस्ता करने और प्रदूषण घटाने में मदद मिलेगी। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितीन गडकरी ने शनिवार को यहां एक कार्यक्रम में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, ‘संसद के आगामी सत्र में, मैं इस संबंंध में नीति की घोषणा करूंगा। मेथनॉल कोयले से बनाया जा सकता है। इसकी लागत 22 रुपए प्रति लीटर आती है। जबकि पेट्रोल की कीमत 80 रुपए प्रति लीटर है। चीन 17 रुपए प्रति लीटर की लागत में कोयले के इस बाय-प्रोडक्ट को बना रहा है।'

नागपुर में बनेगा सी प्लेन, शुरु होगा कारखाना!
गडकरी ने सेटोउची होल्डिंग्स से नागपुर में सी प्लेन बनाने का कारखाना शुरू करने का आग्रह किया। उन्होंने कंपनी से कहा कि आप नागपुर में विमान बनाने तैयार होते हैं तो हम आपको 15 दिन में सभी जरूरी मंजूरी दे देंगे। स्पाइस जेट कंपनी ने जापान की सेटोउची होल्डिंग्स कंपनी के सी प्लेन को समुद्र के पानी में उतारा। सी प्लेन 10 और 14 सीटर का है। इसको पानी और जमीन दोनों जगहों पर उतारा जा सकेगा। अगले 12 महीनों में नियमित रूप से सी प्लेन सेवा शुरू होने की उम्मीद है। अभी तक इसके किराए और रूट को निर्धारित नहीं किया गया है। 

सरकार बनाएगी सी प्लेन के लिए नियम
गडकरी ने कहा कि केंद्र सरकार सी प्लेन के परिचालन के लिए नियम बनाएगी। इसके बाद देश के विभिन्न राज्यों की नदी, तालाब, समुद्र, जलाशयों में सी प्लेन का उतारा जा सकेगा। गडकरी ने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है। सी प्लेन के माध्यम से परिवहन का एक नया विकल्प मिलेगा। गडकरी ने कहा कि मुंबई से शिर्डी भी सी प्लेन से जाया जा सकता है। मुंबई के समुद्र से विमान उड़ान भरने के बाद शिर्डी एपरपोर्ट पर उतर सकता है। गडकरी ने कहा कि हम दिल्ली से आगरा के बीच सी प्लेन शुरू करेंगे। 

यमुना नदी से भरेगा उड़ान
दिल्ली के पर्यटक ताजमहल को देखने के लिए सी प्लेन से जाएंगे। दिल्ली में यमुना नदी से उड़ान भरेगा और ताजमहल के पीछे यात्रियों को उतार देगा। इससे पहले स्पाइस जेट नागपुर और गुवाहाटी में विमान को उतराने का सफल परीक्षण कर चुका है। इस मौके पर केंद्रीय नागर विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू ने कहा कि सरकार की उड़ान योजना शुरू होने के बाद देश भर में 80 नई हवाई पट्टियों का इस्तेमाल हो रहा है। विमानन क्षेत्र में तेजी से प्रगति होने के कारण रोजगार के अवसर काफी हैं। 

छोटे शहरों से सी प्लेन उड़ाने की मंशा 
स्पाइसजेट के सीएमडी अजय सिंह ने कहा कि सी प्लेन का इस्तेमाल यात्रियों के परिवहन के अलावा आपात स्थिति और एंबुलेंस सेवा के रूप में भी किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि हम देश के छोटे शहरों तक सी प्लेन को ले जाना चाहते हैं। जहां पर हवाई सेवाएं नियमित रूप से नहीं है। सेटोउची होल्डिंग्स इंक के प्रेसीडेंट और सीईओ काजूयुकी ओकादा ने कहा कि कंपनी के विमान में छोटे शहरों और सीमित स्थानों में लैंडिंग की क्षमता है। हम स्पाइसजेट के साथ भारत में बेहतर विमान सेवा देने में मदद करेंगे।