दैनिक भास्कर हिंदी: राऊत बोले - नागपुर जिले में रोज 40 हजार टीकाकरण का लक्ष्य, वैक्सीन लेने वरिष्ठ नागरिकों की उमड़ी भीड़

March 21st, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। पालकमंत्री डॉ. नितीन राऊत ने कहा कि जिले में कोरोना की स्थिति गंभीर, लेकिन नियंत्रण में है। जिले मंे 6 लाख 87 हजार लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य है। इसके लिए हर दिन 40 हजार लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य है। जिले में टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी। जनप्रतिनिधि व एनजीआे की मदद ली जाएगी। शनिवार को विभागीय आयुक्तालय में जिले के सभी जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, व्यापारियों व एनजीआे के साथ आयोजित बैठक में लॉकडाउन व कोरोना संक्रमण से संबंधित तमाम बिंदुओं पर चर्चा हुई। पालकमंत्री ने कहा- लोगों को जिम्मेदार बनकर सामने आना चाहिए। कोरोना को हराने में जनता से उन्होंने सहयोग मांगा। 

ये रहे उपस्थित

बैठक में केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी, गृह मंत्री अनिल देशमुख (दोनों वीसी से), विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस, सांसद कृपाल तुमाने, जिप की अध्यक्ष रश्मि बर्वे, महापौर दयाशंकर तिवारी (वीसी से), विधायक गिरीश व्यास, प्रवीण दटके, अभिजीत वंजारी, कृष्णा खोपड़े, मोहन मते, राजू पारवे, विभागीय आयुक्त डॉ. संजीव कुमार, पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार, मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी., जिलाधिकारी रवींद्र ठाकरे, मुख्य कार्यकारी अधिकारी योगेश कुंभेजकर, मनपा के अपर आयुक्त जलज शर्मा, आईएमए की अध्यक्ष डॉ. अर्चना कोठारी, शासकीय वैद्यकीय महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. सुधीर गुप्ता, इंदिरा गांधी वैद्यकीय महाविद्यालय के अधिष्ठाता डा. अजय केवलिया, स्वास्थ्य उपसंचालक डॉ. संजय जायस्वाल, पुलिस, राजस्व, स्वास्त्य, शिक्षा, अन्न व औषध प्रशासन आदि विभागाें के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। 

एनजीओ की भी मदद ली जा सकती है

विधान सभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि लॉकडाउन कोई उपाय नहीं है, लेकिन हम प्रशासन के निर्णय के साथ हैं। पालकमंत्री द्वारा लॉकडाउन के संदर्भ में विभागीय आयुक्तालय में बुलाई गई बैठक में शामिल होने पहुंचे फडणवीस ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि जिले में कोरोना रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। संपूर्ण लॉकडाउन से काम-धंधे व रोजगार प्रभावित हो रहे हैं। सख्त प्रतिबंध लगाकर व्यवहार होने चाहिए। शहर में 88 टीकाकरण केंद्र हैं, इसे 151 केंद्र किया जाए।  हर दिन 10 हजार से बढ़ा कर 40 हजार लोगों को टीका लगाना चाहिए। उपकेंद्र और एनजीओ की मदद लें। सरकारी अस्पतालों में जगह कम पड़ रही है, ऐसे में निजी कोविड अस्पताल शुरू करने चाहिए। बाहर घूम रहे होम क्वारेंटाइन लोगों को पकड़ कर क्वारंेटाइन सेंटर भेजना चाहिए।

जिले में 17653 लोगों को लगाया टीका

कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। टीकाकरण प्रतिशत बढ़ाने के लिए भी आह्वान किया जा रहा है। शनिवार को जिले में 159 केंद्रों पर 111 प्रतिशत टीकाकरण किया गया। इसमें शहर के 11 हजार लोगों को टीका दिया गया, जिसके अनुसार शहर में 150 प्रतिशत और ग्रामीण भाग में  77 प्रतिशत यानी 6653 लोगों को टीका दिया गया।

लक्ष्य से अधिक वैक्सीनेशन

शनिवार को शहर के 74 केंद्रों पर टीकाकरण किया गया। इन केंद्रों पर लक्ष्य से अधिक 11 हजार लोगों को वैक्सीन दी गई। इसमें 1224 स्वास्थ्यकर्मी, 1407 फ्रंट लाइन वर्कर, 1956 कोमॉर्बिड और 5149 बुजुर्गों को पहला डोज दिया गया।  455 स्वास्थ्यकर्मी व 909 फ्रंट लाइन व फ्रंट लाइन वर्कर को दूसरा डोज दिया गया। इसी तरह ग्रामीण भाग में 86 केंद्रों पर 6653 लोगों को टीका दिया गया। इसमें 4058 बुजुर्ग, 1453 कोमॉर्बिड, 275 स्वास्थ्यकर्मी व 524 फ्रंट लाइन वर्कर को पहला डोज दिया गया। 242 फ्रंट लाइन वर्कर व 101 स्वास्थ्यकर्मी को दूसरा डोज दिया गया। इस तरह 77 प्रतिशत टीकाकरण किया गया। 

वैक्सीन लेने वरिष्ठ नागरिकों की उमड़ी भीड़

कामठी के उपजिला अस्पताल में सर्वप्रथम 16 जनवरी को स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को वैक्सीन देने का कार्य शुरू किया था। उसके पश्चात पुलिस विभाग, फ्रंट लाइन वर्कर, हेल्थ वर्कर आदि को वैक्सीन का पहला डोज दिया गया तथा 1 मार्च से 60 वर्ष से अधिक आयु वाले तथा बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 आयु वालों को वैक्सीन देना शुरू है। शुरुआत में जनता वैक्सीन लेने में आनाकानी कर रही थी, लेकिन स्थानीय प्रशासन द्वारा नगरसेवक, सामाजिक कार्यकर्ताओं के माध्यम से जनजागृति करने पर अब वरिष्ठ नागरिक वैक्सीन लेने के लिए बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। वहीं वैक्सीन लेने वालों की संख्या से कोराेना की जांच कराने वालों की संख्या कम है। शनिवार को उपजिला अस्पताल में 144 लोगों को पहला तथा 54 लोगों को दूसरा डोज दिया गया। पहला डोज लेने वालों में 60 साल से अधिक आयु वाले 103, गंभीर बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 आयु वाले 22, फ्रंट लाइन वर्कर 15 और 4 हेल्थ वर्करों का समावेश है। वहीं दूसरा डोज लेने वालों में 43 फ्रंट लाइन वर्कर और 11 हेल्थ वर्करों का समावेश है। 

गुमथला पीएचसी में 156 लोगों को दी वैक्सीन

शनिवार को तहसील के गुमथला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 60 साल से अधिक आयु वाले 51, गंभीर बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 आयु वाले 67, हेल्थ वर्कर 20, फ्रंट लाइन वर्कर 18 इस प्रकार कुल 156 लोगों को वैक्सीन दी गई। 

भूगांव उपकेंद्र में 31 लोगों को लगाया टीका

तहसील के गुमथला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के भूगाव उपकेंद्र में शनिवार को कुल 31 लोगों को वैक्सीन दी गई। जिसमें 60 साल से अधिक आयु वाले 18, बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 वाले 6 और 7 फ्रंट लाइन वर्करों का समावेश है।

गुमथी में 6 दिन में 911 लोगों को लगाई वैक्सीन

संवाददाता| कोराडी. पीएचसी सेंटर गुमथी के मेडिकल ऑफिसर डॉ. राहुल राऊत ने बताया कि, 6 दिनों में 911 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया है। प्रतिदिन वैक्सीन लगाने वालों की संख्या बढ़ रही है। अंदेशा है कि, सोमवार से 6 दिनों के लिए वैक्सीनेशन का कार्य प्रारंभ हाेगा। जो कि सुबह 9 से शाम 6 बजे तक चलेगा। कोराडी के सरपंच नरेंद्र धानोली ने बताया कि, कोराडी में बंद पड़े स्वामी विवेकानंद अस्पताल में सोमवार से वैक्सीनेशन का कार्य चलाया जाएगा।

काटोल तहसील में 465 लोगों का टीकाकरण

संवाददाता| कोंढाली. शनिवार को काटोल ग्रामीण रुग्णालय में 158 तथा ग्रामीण क्षेत्र के कोंढाली में 148, कचारीसावंगा में 130, येनवा में 29 लोगों का टीकाकरण किया गया। यह जानकारी काटोल ग्रामीण अस्पताल के तहसील स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. शशांक व्यव्हारे, डा. दिनेश डावरे, डा. सुधीर वाघमारे, डाॅ. पराग नरखेड़े, डा. अश्विनी  दातीर, भूषण गटलेवार ने दी है।
 

खबरें और भी हैं...