दैनिक भास्कर हिंदी: Crime : लूटपाट करनेवाले गिरोह का पर्दाफाश- 4 गिरफ्तार, जानिए - पिछले कुछ घंटों में महानगर में क्या क्या हुआ

March 28th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। महामार्ग पर लूटपाट करनेवाले एक गिरोह के मुखिया सहित 4 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों के नाम मयूर कृष्णा राऊत (28),  कुलदीप सिंह लखनसिंह बावरी (22), रोहित जाॅर्ज डेविड गीद्ध (21)  वार्ड क्रमांक 2, रूईखैरी,  नागपुर और राहुल श्रीराम डेहरिया (22)  सुकड़ी, हिंगना नागपुर निवासी है। आरोपियों से पुलिस ने दो दोपहिया वाहन, कार व 4 मोबाइल फोन सहित करीब 1 लाख 80 हजार रुपए का माल जब्त किया है। पकड़े गए सभी आरोपियों पर आपराधिक मामले दर्ज होने की जानकारी पुलिस ने दी है। पुलिस के अनुसार 23 मार्च को शाम को नागपुर-चंद्रपुर महामार्ग पर रूईखैरी गांव के पास आरोपी मयूर राऊत, कुलदीप सिंह बावरी, रोहित गीद्ध और राहुल डेहरिया ने एक कार चालक को रोका। कार में सवार दो लोगों को आरोपियों ने चाकू से जख्मी कर सोने की चेन छीन ली। इसी तरह इस गिरोह ने एक दंपति को टाकलघाट परिसर में चाकू दिखाकर लूट लिया था। इस मामले की शिकायत बुटीबोरी थाने में दर्ज कराई गई। आरोपियों ने हिंगना में एक कार चोरी की। इस मामले में अधीक्षक राकेश ओला के आदेश पर पुलिस निरीक्षक अनिल जिट्टावार ने आरोपियों की खोजबीन शुरू की। करीब तीन दिन की मशक्कत के बाद विशेष दस्ते ने 26 मार्च को मयूर, कुलदीप,  रोहित और राहुल को गिरफ्तार किया। आरोपियाें से  पल्सर 220 क्रमांक एम.एच. 40.ए.एच. 7788, दोपहिया वाहन क्रमांक एम.एच-32/ ए.जी-7433 व 4 मोबाइल सहित 1 लाख 80 हजार रुपए का माल जब्त किया गया। पुलिस ने कार का पीछा किया, तो उसमें सवार चारों आरोपी कार छोड़कर जंगल में भाग गए। कार को बुटीबोरी थाने में जब्त की गई। मयूर और उसके साथियों ने बुटीबोरी, एमआईडीसी बोरी, हिंगना, सेलू थानांतर्गत घटनाओं को अंजाम दिया है।

सीने में धारदार हथियार घोंपकर युवक की हत्या

गिट्टीखदान क्षेत्र में कबूतर उड़ाने की बात पर हुए विवाद में एक युवक की हत्या कर दी गई। मृतक का नाम अक्षय सिद्धार्थ बागड़े (25) है। गिट्टीखदान पुलिस ने आरोपी राजा उर्फ अरमान उर्फ अहर जाफर शेख (27), गवलीपुरा निवासी के खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया है। चर्चा है कि, दोनोंे ने कबूतर उड़ाए, उसके बाद दोनों के कबूतर अदल-बदल हो गए थे। कबूतर वापस करने की बात को लेकर विवाद शुरू हुआ और आरोपी ने हत्या की घटना को अंजाम दे डाला। घटना 26 फरवरी की रात करीब 9.30 बजे हुई। पुलिस सूत्रों के अनुसार गवलीपुरा, डोंगरे आटा चक्की के पास निवासी राजा उर्फ अरमान उर्फ  अहर जाफर शेख और अक्षय सिद्धार्थ बागड़े एक ही बस्ती मेंे रहते थे। दोनों ने कबूतर पाल रखे हैं। अक्सर दोनों कबूतर उड़ाते थे और बाजी लगाया करते थे। घटना के दिन भी सुबह दोनों ने अपने-अपने कबूतर उड़ाए। उसके बाद इनके बीच किसी बात को लेकर अनबन हो गई थी। दोनों के कबूतर उड़ान के बाद अदला-बदली हो जाने की चर्चा बस्ती में हो रही है। आरोपी राजा ने अक्षय के साथ विवाद किया। उसके बाद उसने अक्षय के सीने में  धारदार हथियार घोंप दिया। अत्यधिक खून बहने से अक्षय की मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही गिट्टीखदान पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। पंचनामा कर शव पोस्टमार्टम के लिए शासकीय अस्पताल भेजा। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी राजा को गिरफ्तार कर लिया है। गिट्टीखदान पुलिस मामले की जांच कर रही है।

दिनदहाड़े घर में घुसकर युवक पर हमला

दिनदहाड़े कुछ बदमाश डकैती की आड़ में युवक की हत्या करने के लिए घुसे, लेकिन पुलिस समय पर पहुंचने से युवक की जान बच गई। इस मामले में गिट्टीखदान पुलिस ने दस आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर चार आरोपियों को िगरफ्तार िकया। शनिवार को अदालत मंे पेश कर उन्हें पुलिस रिमांड पर लिया है। पीसीआर में लिया गया है। शेष फरार आरोपियों की तलाश जारी है।घायल भिवसनखोरी निवासी प्रशिल चंद्रिकापुर (20) है। आरोपी तुषार शेंडे (20), गणेश दुबे (20), नितीन गवली (27), सुमित नारनवरे (19), बबलू वानखेड़े, प्रशिल देशभ्रतार, सभी वाड़ी निवासी और अन्य चार आरोपी हैं। शुक्रवार को दोपहर 1 बजे तलवार और चाकू से लैस होकर आरोपियों ने प्रशिल के घर पर धावा बोला। प्रशिल कुछ समझ पाता इसके पहले आरोपियों ने उस पर वार कर दिया। शोर-शराबा होते देख पुलिस का वाहन घटनास्थल की ओर मुड़ा। पुलिस का वाहन दिखाई देते ही चार आरोपी भागने में सफल हो गए, लेकिन पुलिस ने तुषार, गणेश, नितीन और सुमित को पुलिस ने दबोच िलया। आरोपी कुख्यात बदमाश है। पूर्व के भी गंभीर प्रकरण उनके खिलाफ दर्ज हैं। घटित प्रकरण में डकैती की आड़ में आरोपी प्रशिल की हत्या करने के इरादे से ही आए थे। कहा जा रहा है कि, िकसी लड़की को लेकर प्रशिल और आरोपियों के बीच में विवाद जारी था। इस कारण आरोपी उसके घर उसकी हत्या करने के इरादे से आए थे, लेकिन एेन वक्त पर पुलिस पहुंचने से बड़ी अनहोनी टल गई। फरार आरोपियों की सरगर्मी से तलाश जारी है।

छापे के दौरान गटर में मिली शराब

होली उत्सव के मद्देनजर अवैध शराब विक्रेताओं की धरपकड़ जारी है। शनिवार को भी पुलिस ने दो अवैध शराब विक्रेताओं के यहां छापे मारे और महुआ तथा देसी शराब का जखीरा जब्त किया। दो महिला सहित चार आरोपियों के खिलाफ यशोधरा और गिट्टीखदान थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है। अवैध शराब विक्रेता आरोपी सलीम अब्दुल गफ्फार पठान (42), शकील अब्दुल गफ्फार पठान (36), दोनों निवासी मंगलवारी, रंजना सुधाकर कालबांडे (45), भिवसनखोरी निवासी हैं। शनिवार को जोन क्र.-2 की उपायुक्त विनीता साहू की टीम को गश्त दौरान गुप्त सूचना मिली कि, अपंग स्कूल के पास रहने वाले पठान बंधुओं ने होली में बेचने के लिए अवैध शराब का जखीरा जमा कर रखा है। उसके घर पर छापा मारा गया।  कार्रवाई के दौरान ट्यूब में भरकर गटर में छुपाकर रखी, पांच मोपेड पर बांधकर रखी 215 लीटर महुआ और 15 देसी शराब की बोतलें, कुल साढ़े तीन लाख रुपए का माल जब्त किया गया। आरोपियों को रंजना ने शराब की सप्लाई की थी। उसके खिलाफ भी प्रकरण दर्ज किया गया है। उधर जोन क्र.-5 की टीम ने भी यशोधरा नगर थानांतर्गत नई मंगलवारी, मेहंदीबाग क्षेत्र में वेणू माताघरे नामक महिला के घर पर शनिवार को ही छापा मारा। उसके भी कब्जे से 200 लीटर महुआ शराब और 167 देसी शराब की बोतलें जब्त की गईं। इसकी कीमत साढ़े 11 हजार रुपए बताई जा रही है। 

सीने में धारदार हथियार घोंपकर युवक की हत्या

गिट्टीखदान क्षेत्र में कबूतर उड़ाने की बात पर हुए विवाद में एक युवक की हत्या कर दी गई। मृतक का नाम अक्षय सिद्धार्थ बागड़े (25) है। गिट्टीखदान पुलिस ने आरोपी राजा उर्फ अरमान उर्फ अहर जाफर शेख (27), गवलीपुरा निवासी के खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया है। चर्चा है कि, दोनोंे ने कबूतर उड़ाए, उसके बाद दोनों के कबूतर अदल-बदल हो गए थे। कबूतर वापस करने की बात को लेकर विवाद शुरू हुआ और आरोपी ने हत्या की घटना को अंजाम दे डाला। घटना 26 फरवरी की रात करीब 9.30 बजे हुई। पुलिस सूत्रों के अनुसार गवलीपुरा, डोंगरे आटा चक्की के पास निवासी राजा उर्फ अरमान उर्फ  अहर जाफर शेख और अक्षय सिद्धार्थ बागड़े एक ही बस्ती मेंे रहते थे। दोनों ने कबूतर पाल रखे हैं। अक्सर दोनों कबूतर उड़ाते थे और बाजी लगाया करते थे। घटना के दिन भी सुबह दोनों ने अपने-अपने कबूतर उड़ाए। उसके बाद इनके बीच किसी बात को लेकर अनबन हो गई थी। दोनों के कबूतर उड़ान के बाद अदला-बदली हो जाने की चर्चा बस्ती में हो रही है। आरोपी राजा ने अक्षय के साथ विवाद किया। उसके बाद उसने अक्षय के सीने में  धारदार हथियार घोंप दिया। अत्यधिक खून बहने से अक्षय की मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही गिट्टीखदान पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। पंचनामा कर शव पोस्टमार्टम के लिए शासकीय अस्पताल भेजा। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी राजा को गिरफ्तार कर लिया है। गिट्टीखदान पुलिस मामले की जांच कर रही है।

दिनदहाड़े घर में घुसकर युवक पर हमला

दिनदहाड़े कुछ बदमाश डकैती की आड़ में युवक की हत्या करने के लिए घुसे, लेकिन पुलिस समय पर पहुंचने से युवक की जान बच गई। इस मामले में गिट्टीखदान पुलिस ने दस आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर चार आरोपियों को गिरफ्तार किया। शनिवार को अदालत मंे पेश कर उन्हें पुलिस रिमांड पर लिया है। पीसीआर में लिया गया है। शेष फरार आरोपियों की तलाश जारी है।घायल भिवसनखोरी निवासी प्रशिल चंद्रिकापुर (20) है। आरोपी तुषार शेंडे (20), गणेश दुबे (20), नितीन गवली (27), सुमित नारनवरे (19), बबलू वानखेड़े, प्रशिल देशभ्रतार, सभी वाड़ी निवासी और अन्य चार आरोपी हैं। शुक्रवार को दोपहर 1 बजे तलवार और चाकू से लैस होकर आरोपियों ने प्रशिल के घर पर धावा बोला। प्रशिल कुछ समझ पाता इसके पहले आरोपियों ने उस पर वार कर दिया। शोर-शराबा होते देख पुलिस का वाहन घटनास्थल की ओर मुड़ा। पुलिस का वाहन दिखाई देते ही चार आरोपी भागने में सफल हो गए, लेकिन पुलिस ने तुषार, गणेश, नितीन और सुमित को पुलिस ने दबोच लिया। आरोपी कुख्यात बदमाश है। पूर्व के भी गंभीर प्रकरण उनके खिलाफ दर्ज हैं। घटित प्रकरण में डकैती की आड़ में आरोपी प्रशिल की हत्या करने के इरादे से ही आए थे। कहा जा रहा है कि, िकसी लड़की को लेकर प्रशिल और आरोपियों के बीच में विवाद जारी था। इस कारण आरोपी उसके घर उसकी हत्या करने के इरादे से आए थे, लेकिन एेन वक्त पर पुलिस पहुंचने से बड़ी अनहोनी टल गई। फरार आरोपियों की सरगर्मी से तलाश जारी है।

छापे के दौरान गटर में मिली शराब

होली उत्सव के मद्देनजर अवैध शराब विक्रेताओं की धरपकड़ जारी है। शनिवार को भी पुलिस ने दो अवैध शराब विक्रेताओं के यहां छापे मारे और महुआ तथा देसी शराब का जखीरा जब्त किया। दो महिला सहित चार आरोपियों के खिलाफ यशोधरा और िगट्टीखदान थाने में प्रकरण दर्ज िकया गया है। अवैध शराब विक्रेता आरोपी सलीम अब्दुल गफ्फार पठान (42), शकील अब्दुल गफ्फार पठान (36), दोनों निवासी मंगलवारी, रंजना सुधाकर कालबांडे (45), भिवसनखोरी निवासी हैं। शनिवार को जोन क्र.-2 की उपायुक्त विनीता साहू की टीम को गश्त दौरान गुप्त सूचना िमली कि, अपंग स्कूल के पास रहने वाले पठान बंधुओं ने होली में बेचने के लिए अवैध शराब का जखीरा जमा कर रखा है। उसके घर पर छापा मारा गया।  कार्रवाई के दौरान ट्यूब में भरकर गटर में छुपाकर रखी, पांच मोपेड पर बांधकर रखी 215 लीटर महुआ और 15 देसी शराब की बोतलें, कुल साढ़े तीन लाख रुपए का माल जब्त किया गया। आरोपियों को रंजना ने शराब की सप्लाई की थी। उसके खिलाफ भी प्रकरण दर्ज िकया गया है। उधर जोन क्र.-5 की टीम ने भी यशोधरा नगर थानांतर्गत नई मंगलवारी, मेहंदीबाग क्षेत्र में वेणू माताघरे नामक महिला के घर पर शनिवार को ही छापा मारा। उसके भी कब्जे से 200 लीटर महुआ शराब और 167 देसी शराब की बोतलें जब्त की गईं। इसकी कीमत साढ़े 11 हजार रुपए बताई जा रही है। 


बकरी विवाद में हमला, पिता-पुत्र पर मामला दर्ज

वहीं बकरी को लेकर हुए विवाद में पिता-पुत्र ने एक व्यक्ति पर हमला बोल दिया। वह गंभीर रूप से घायल हो गया। शुक्रवार की रात हिंगना थाने में आरोपी पिता-पुत्र के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया। खड़का निवासी अर्जुन मेश्राम (38) और उसका पड़ोसी निलेश्वर तलांडे (48) बकरी पालन करते हैं। घटना वाले दिन शाम को तलांडे ने अपना बकरा अर्जुन की  बकरियों के पास बांधा था। बकरा बकरियों के बच्चों को मार रहा था। अर्जुन ने निलेश्वर को अपना बकरा संभालने के लिए कहा तो दोनों में विवाद हो गया और तैश में अाकर निलेश्वर और उसके पुत्र रंजीत (20) ने लाठी से अर्जुन की पिटाई कर दी। अर्जुन गंभीर रूप से घायल हुआ है। 

मामूली विवाद में दो मित्रों पर हमला, प्रकरण दर्ज

उधर इमामवाड़ा थानांतर्गत मामूली विवाद मंे कुछ युवकों ने दो मित्रों पर हमलाकर  उनकी पिटाई कर दी। आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। बड़ा ताजबाग निवासी शेख मुबारक (30) शुक्रवार को शाम करीब 4.15 बजे मित्र मो. शाकिब के कहने पर सिरसपेठ में डायमंड कार बाजार गया था। वहां पहले से ही शाकिब का किसी बात पर मुख्तार ताजू पहलवान से विवाद हो रहा था। मुबारक ने मध्यस्थता कर विवाद सुलझाने का प्रयास किया, तो मुख्तार और उसके साथी बल्लू नायर, मोंटू नवाब, परवेज और अन्य ने मुबारक और शाकिब पर हमला बोल दिया। लोहे की रॉड और लात-घूंसों से दोनों की पिटाई की। दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए।