comScore

RTI : कोरोना संकट से निपटने महाराष्ट्र को मिला सबसे ज्यादा साजो-सामान

RTI : कोरोना संकट से निपटने महाराष्ट्र को मिला सबसे ज्यादा साजो-सामान

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना संकट से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने विभिन्न राज्य सरकारों को साजो-सामान मुहैया कराए हैं। इसमें सर्वाधिक मदद महाराष्ट्र को मिली है। सूचना अधिकार कानून (आरटीआई) से यह जानकारी सामने आई है। मोदी सरकार से महाराष्ट्र को सर्वाधिक मास्क, पीपीई किट्स, टैबलेट और वेंटिलेटर आवंटित किए गए हैं। आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग से 1 मई 2020 को कोरोना महामारी के मद्देनजर राज्यों को आवंटित उपकरण और साम्रगी की जानकारी मांगी थी। इसकी जानकारी देने से इनकार करने पर गलगली द्वारा 1 जून 2020 को दायर प्रथम अपील पर उन्हें जानकारी देने का आदेश मंत्रालय के निदेशक राजीव वाधवान ने जारी किया। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के अवर सचिव जी के पिल्लई ने गलगली को 10 जुलाई 2020 तक राज्य व केंद्र शासित राज्यों को आवंटित उपकरणों की सूची दी है। इसके अनुसार केंद्र सरकार ने पूरे देश में 2.18 करोड़ एन-95 मॉस्क, 1.21 करोड़ पीपीई किट्स, 6.12 करोड़ एचसीक्यू टैबलेट और 9150 वेंटिलेटर का आवंटन किया हैं। इसमे सर्वाधिक लाभ महाराष्ट्र की शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस आघाडी सरकार को मिला। आघाडी सरकार को 21.84 लाख एन 95 मास्क, 11.78 लाख पीपीई किट्स, 77.20 लाख एचसीक्यू टैबलेट और 1805 वेंटिलेटर दिए गए। 

सबसे अधिक डिमांड है वेंटिलेटर की!

पूरे देश में 17,938 वेंटिलेटर की जरुरत है। पर केंद्र सरकार ने केवल 9150 ही वेंटिलेटर का आवंटन कर सकी है। सिर्फ छत्तीसगढ़ , उत्तराखंड, चंडीगढ़, पुदुच्चेरी और ओडिसा को उनकी मांग के अनुसार शत प्रतिशत वेंटिलेटर आवंटित किए जा सके हैं। जबकि सिक्किम, लक्षद्वीप, लद्दाख अब भी वेंटिलेटर से वंचित हैं। महाराष्ट्र को अब भी 1770, कर्नाटक को 1020, आंध्रप्रदेश को 914, उत्तर प्रदेश को 811, राजस्थान को 706 व तमिलनाडु को 529 वेंटिलेटर की आवश्यकता हैं।
 
 

कमेंट करें
54GaA