comScore

महाराष्ट्र बंद : पुणे कलेक्टर ऑफिस में तोड़फोड़, जबरन बंद कराई दुकानें, इंटरनेट सेवा कट

August 09th, 2018 20:09 IST
महाराष्ट्र बंद : पुणे कलेक्टर ऑफिस में तोड़फोड़, जबरन बंद कराई दुकानें, इंटरनेट सेवा कट

डिजिटल डेस्क, पुणे। मराठा क्रांति मोर्चा ने गुरूवार को महाराष्ट्र बंद का आह्वान किया था। जिसके बाद जिला पूरी तरह बंद रहा। शांतिपूर्ण प्रदर्शन ने अचानक हिंसक मोड़ ले लिया। आंदोलनकारियों ने जिलाधिकारी कार्यालय में जमकर तोड़फोड़ की, और हंगामा मचाया। चांदनी चौक में भी रास्ता रोका गया। प्रदर्शनकारियों द्वारा पुलिस पर पथराव किया गया। हालात काबू करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज कर, आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। हालांकि कलेक्टर नवल किशोर राम ने बुधवार को ही स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालयों को बंद रखने का आदेश दिया था। मनपा और जिला परिषद के स्कूल बंद रखे गए थे। 

आंदोलनकारियों ने बंगलुरू महामार्ग, सोलापुर महामार्ग, मुंबई महामार्ग पर चक्काजाम किया। जगह जगह दुपहिया रैली निकाली गई। लोनावला में आंदोलनकारियों ने रेल रोको आंदोलन किया। सुबह साढ़े दस बजे से आंदोलनकारियों ने पुणे-मुंबई महामार्ग पर रास्ता रोका था। जिस कारण दोनों तरफा यातायात ठप्प हो गया था। शाम करीबन पांच बजे महामार्ग पर यातायात सुचारू हो सका। आंदोलनकारियों ने केन्द्र और राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

मराठा क्रांति मोर्चा के आयोजक जिलाधिकारी कार्यालय के भीतर घुस गए। जिलाधिकारी नवल किशोर राम से मिलकर उन्हें मांगों का ज्ञापन सौंपा। लेकिन आंदोलनकारियों का एक गुट कार्यालय के गेट पर चढ़कर अंदर प्रवेश करने लगा। इसके बाद तोड़फोड़ और हंगामा किया गया। तोड़फोड़ करने वाले सभी युवक 18 से 20 साल के थे।

मामले में जिलाधिकारी नवल किशोर राम ने कहा कि निवेदन स्वीकारने के बाद तोड़फोड़ की गई। वे पहले से ही मोर्चा संचालकों के संपर्क में थे। उनके कक्ष में ज्ञापन स्वीकारने की बीत तय हुई थी। इसी बीच 30 से 40 लोगों से ज्ञापन दिया। जिसे स्वीकारा गया, साथ ही मांगों को मुख्यमंत्री तक पहुंचाने का आश्वासन दिया गया था। लेकिन बात तक बिगड़ी जब आंदोलनकारियों के एक गुट ने तोड़फोड़ शुरू की। 

आंदोलनकारियों ने पौड़ रोड पर मोरे विद्यालय परिसर में खड़ी साइकिलों को आग के हवाले कर दिया। मनपा की शेयर बाइसिकल योजना की करीबन तीस साइकिलें फूंक दी गई। जबकि कई निजी वाहनों में तोड़फोड़ की। उसके बाद पुलिस ने यातायात पूरी तरह बंद करा दिया।

अजित पवार की घेाषणा
आंदोलनकारियों ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष सांसद शरद पवार के बारामती स्थित गोविंद बाग आवास के सामने ठिया आंदोलन किया। इस मौके पर पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार भी आंदोलनकारियों के साथ नीचे बैठे। उन्होंने कहा कि एक मराठा, लाख मराठा, आरक्षण पर मराठा समाज का हक बताया। इसके बाद मराठा समाज की युवतियों ने अजित पवार को ज्ञापन सौंपा। 

सात तहसीलों में इंटरनेट सेवा बंद
चाकण में हुई हिंसा को देखते हुए गुरूवार को बंद के दौरान एहतियात के तौर पर दौंड़, भोर, बारामती, खेड़, शिरूर, मावल इन तहसीलों में इंटरनेट सेवा बंद रखी गई थी। 

नाशिक में कई जगह पर हिंसक घटनाओं में कई जख्मी
उधर नाशिक में जगह-जगह पर हिंसक घटनाएं देखने को मिली। डोंगरे वसतीगृह मैदान से आंदोलन की शुरुआत हुई। कुछ नेताओं ने लोगों को संबोधित किया। इस मौके पर रसिका शिंदे नामक युवती ने माईक हाथ में ले लिया लोगों को शांत रहने की अपील की, जिससे क्रोधित कुछ युवकों ने एक-दूसरे पर जमकर पथरावबाजी की। 4 वाहनों का नुकसान हुआ, तो कुछ कार्यकर्ता जख्मी हुए। जैसे तैसे पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित किया। इसके बाद कुछ कार्यकर्ताओं ने मोर्चा निकाला, तो कुछ कार्यकर्ताओं ने पुराने गंगापुर नाका इलाके में धरना दिया। प्रदर्शनकारियों ने जबरन दुकानें बंद कराईं।

कमेंट करें
G9nbN