comScore

फिक्स डिपॉजिट तोड़ कर धार्मिक स्थल दे रहे कर्मचारियों को वेतन

फिक्स डिपॉजिट तोड़ कर धार्मिक स्थल दे रहे कर्मचारियों को वेतन

डिजिटल डेस्क, नागपुर। अनलॉक में शराब दुकान से लेकर मॉल तक खुल गए हैं, लेकिन सरकार ने अभी तक धार्मिक स्थलों को खोलने की अनुमति नहीं दी है। साढ़े छह माह से मंदिर बंद हैं। हर माह होने वाली लाखों रुपए की आय बंद हो गई है। गंभीर आर्थिक संकट के कारण कर्मचारियों को सावधि जमा (फिक्स डिपॉजिट) तोड़कर वेतन देने की नौबत आ गई है। मंदिर प्रमुखों का कहना है कि सरकार मंदिर को भी खोलने की अनुमति दे, वरना सावधि जमा भी खत्म हो जाएगी।
मंदिर शीघ्र खोलने की अनुमति दें

मंदिर बंद होने के कारण आय पूरी तरह बंद हो गई है। मंदिर की सावधि जमा नहीं है। बैंक में जमा राशि से सभी खर्च कर रहे हैं। तीन-चार माह और मंदिर बंद रहेंगे तो कर्मचारियों को वेतन देना मुश्किल हो जाएगा। सरकार मंदिर शीघ्र खोलने की अनुमति दे।
-लखीचंद ढोबले, अध्यक्ष, श्री गणेश टेकड़ी मंदिर ट्रस्ट

सरकार योग्य निर्णय ले

सरकार को मंदिर खोलने पर शीघ्र योग्य निर्णय लेना चाहिए, क्योंकि गंभीर आर्थिक संकट पैदा हो गया है। सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए 10-10 लोगों को मंदिर में प्रवेश देंगे। हार-फूल लाने पर पाबंदी रहेगी। बाबा के दूर से ही दर्शन करने की अनुमति दी जाएगी।
-अविनाश शेगांवकर, सचिव, श्रीसाईं सेवा मंडल, वर्धा रोड

सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन

करीब साढ़े छह माह से मंदिर बंद होने के कारण सावधि जमा से खर्च चला रहे हैं। 10 गार्ड हटाने पड़े हैं। सरकार मंदिरों को खोलने की शीघ्र अनुमति दे। सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए आवश्यक व्यवस्था मंदिर में की जाएगी।
-एड. मुकेश शर्मा, अध्यक्ष, महालक्ष्मी जगदंबा संस्थान, कोराडी

दरबार खोलने की अनुमति मिले

आर्थिक संकट के कारण सावधि जमा राशि भी खत्म हो गई। अब दान में प्राप्त होने वाली राशि से कर्मियों को वेतन देने के साथ ही आवश्यक खर्च भी किए जा रहे हैं। दरबार खोलने की अनुमति मिलने पर हालात में सुधार होने की उम्मीद है।
-गुणवंत कुबड़े, प्रशासक, हजरत बाबा ताजुद्दीन ट्रस्ट, ताजबाग

श्रीमद् भागवत का समापन 

श्रीकृष्ण ने अपनी बाल्यावस्था में ही राक्षसों के विनाश सहित अनेक पराक्रम कर बालकों को बोध दिया कि बाल्यकाल में ही बहादूर बनो। यह उद्गार वैशालीनगर में ब्रजकिशोर शर्मा की ओर से आयोजित श्रीमद् भागवत में पं. गोपाल दाधीच ने अपनी वाणी में व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि महर्षि वेद व्यास ने श्रीमद् भागवत में भगवान द्वारा प्रस्तुत अनेक प्रसंगों से जगत को शिक्षा दी है। कथा फेसबुक में प्रस्तुत की जा रही है। समय दोपहर 1 से 5 बजे तक रखा गया है। समापन 13 अक्टूबर को होगा।

 हरिहर मंदिर में पौधारोपण

उधर हरिहर मंदिर, लकड़गंज में मंदिर के अध्यक्ष अर्जुनराव वैरागडे के हाथों पौधारोपण किया गया। इस अवसर पर मंडल के उपाध्यक्ष पुंडलिकराव बोलधन, सचिव गुलाब बालकोटे, राजू उमाटे, रामेश्वर हिरूलकर, अंबादास गजापुरे, भूषण क्षीरसागर, व्यवस्थापक उमेश नंदनकर, गोपाल कलमकर, रमेश नाकोडे, कमलाकर घोटाले, स्वप्निल वैरागडे, रामदास गजापुरे आदि उपस्थित थे।

कमेंट करें
R2wzM