comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

आईपीएल मैच पर लगा था तीन करोड़ का सट्टा, नगदी, मोबाइल व लेपलॉप के साथ आरोपी गिरफ्तार

September 27th, 2020 00:00 IST
आईपीएल मैच पर लगा था तीन करोड़ का सट्टा, नगदी, मोबाइल व लेपलॉप के साथ आरोपी गिरफ्तार



डिजिटल डेस्क शहडोल। दुबई में चल रहे आईपीएल में चौके-छक्के लग रहे थे तो जिले के बुढ़ार, अमलाई, सोहागपुर व शहर के कोतवाली क्षेत्र में दांव पर दांव लगाए जा रहे थे। हर चौके, छक्के और विकेट गिरने के साथ बोली में उछाल आ जाता। आलम यह कि तीन कराड़ रूपए तक का दांव लग गया। हाईटेक तरीके से जिले में चल रहे इस आईपीएल सट्टे का शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात उस समय भंडाफोड़ हुआ जबकि पुलिस ने इन चारों स्थानों पर एक साथ छापा मारा। जिस समय छापा मारा सटोरियों द्वारा 2 करोड़ 88 लाख 60 हजार रुपए की बुकिंग की जा चुकी थी। छापे के दौरान पुलिस ने अलग-अलग ठिकानों से 25 लाख 1055 रुपए नकद, 5 टीवी, 2 लैपटॉप, 56 मोबाइल सहित कट्टा-कारतूस जब्त किए। दबिश में एक महिला सहित 13 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। इनमें कटनी तथा उमरिया के लोग भी शामिल हैं। जो शहडोल में ठिकाना बनाकर सट्टा का हाईटेक कारोबार संचालित कर रहे थे। क्रिकेट मैचों पर सट्टा के विरुद्ध पुलिस द्वारा यह अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है।
ये किए गए गिरफ्तार
गिरफ्तार आरोपियों में मो. नाजिल (घरौला मोहल्ला), अजय गुप्ता (ईदगाह रोड इंदिरा चौक) अभिषेक गांधी व राजेश अरोरा उर्फ बंटी भाटिया (किरन टाकीज के पास), संतोष गुप्ता (चपरा क्र्वाटर के पास), मनोज पोपतानी (स्क्वायर मॉल के पीछ) , मंजा उर्फ मासिया खान (अरबन स्कूल के पीछे), जुन्नू उर्फ जुनामत खान (बरौनी होटल के पास) , श्रेया गुप्ता पिता राजेश (साईं मंदिर के पीछे) शामिल हैं। बुढ़ार से भी एक अन्य आरोपी गिरफ्तार किया गया। इनके अलावा कटनी के माधवनगर में रहने वाले श्याम खटवानी व विकास पिपरानी तथा पाली जिला उमरिया के विक्की उर्फ राजकुमार जसवानी को भी गिरफ्तार किया गया।
--- बॉक्स ---
इन पोर्टल व एप से लगवाते थे दांव
एसपी सत्येंद्र शुक्ला ने बताया कि आरोपियों द्वारा क्रिकेट मैच में सट्टे के लिए ऐसे पोर्टल व एप का प्रयोग करते थे कि किसी को शक न हो। इन सटोरियों द्वारा मुख्य रूप से एसकेआर 777, कल्याण, लाइवगेम, ड्रीम11, एसकेआर777 डॉट कॉम, एडमिन डॉट कल्याणएक्सेज डॉट कॉम, लाइवगेमेक्स24 डॉट काम, एम डॉट कल्याणऐक्स डॉट कॉम, लाइवगेमेक्स24 डॉट इन, सुपरस्टॉकिस्ट डॉट कॉम, माई लेजर आदि ऐप एवं बेवसाइट का उपयोग किया जाता था। उन्होंने बताया कि मोबाइल पर चर्चा के बाद जो भी दांव लगाता उसकी बातें डिवाइस पर रिकार्ड कर ली जातीं। फिर जीती हारी रकम ऑन लाइन ट्रांसफर कर देते। एसपी ने टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

कमेंट करें
5SajU
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।