comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

शहडोल के तीन मरीजों को मिली छुट्टी, पूरे समय किसी में नहीं दिखे लक्ष्ण

शहडोल के तीन मरीजों को मिली छुट्टी, पूरे समय किसी में नहीं दिखे लक्ष्ण

डिजिटल डेस्क शहडोल । जिले के लिए राहत भरी खबर है। मेडिकल कॉलेज में भर्ती तीन कोरोना मरीज स्वस्थ हो गए हैं। तीनों को गुरुवार को डिस्चार्ज कर दिया गया है। सबसे बड़ी बात तीनों की स्थिति लगातार सामान्य बनी रही और सामान्य इलाज ही चलता रहा। तीनों को एक भी बार ऑक्सीजन तक लगाने की जरूरत नहीं पड़ी है। इससे पहले भी तीन मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। 
   मेडिकल कॉलेज में भर्ती तीन मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद गुरुवार छुट्टी मिल गई है। दोपहर में पुष्पवर्षा करते हुए तालियां बजाकर तीनों कोरोना वॉरियर्स को घर भेजा गया। ठीक होने वाले मरीजों में ग्राम भागा जनपद बुढ़ार, बुढ़वा धारी नंबर 2 गांव और शहर की युवती शामिल है। शुरू से ही तीनों में कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिख रहे थे। एक को गले में हल्की सी खरास थी, जो दवाइयों से ठीक हो गई। इधर अनूपपुर जिले के कोतमा में गुरुवार को एक और पॉजीटिव केस मिला है। अब कोविड मरीजों को 14 दिनों तक हॉस्पिटल में नहीं रखा जा रहा है। भर्ती करने के बाद 7 दिनों तक अगर लक्ष्ण नहीं आ रहे हैं, तो 10 दिन बाद सैंपल की जांच कराके रिपोर्ट निगेटिव आने पर डिस्चार्ज किया जा रहा है। पहले 14 दिन बाद सैंपल की जांच कराई जाती थी, फिर 24 घंटे के भीतर एक और जांच कराने के बाद रिपोर्ट निगेटिव आने पर मरीज को डिस्चार्ज किया जाता था। 
संभाग में 11 लोग ठीक होकर पहुंचे घर 
अभी तक संभाग में कोरोना के 42 केस सामने आए हैं। इनमें से 11 स्वस्थ हो चुके हैं। शहडोल जिले में छह, उमरिया में दो और अनूपपुर जिले में तीन संक्रमित कोरोना को मात दे चुके हैं। उमरिया में एक संक्रमित महिला की मौत हुई है। हालांकि उसको किडनी की समस्या पहले से थी। उसका मुंबई में इलाज भी चल रहा था। वर्तमान में संभाग के तीनों जिलों में कोरोना के एक्टिव 30 केस में सभी की हालात सामान्य है। किसी को ज्यादा दिक्कत नहीं है। गाइडलाइन के हिसाब से सभी का इलाज चल रहा है। 
लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर 
संभाग में कोरोना संक्रमित मरीजों का लगातार ठीक होना यह बताता है कि यहां के लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर है। इससे पहले शहडोल में 60 वर्षीय महिला भी स्वस्थ होकर घर जा चुकी है। अभी तक संक्रमित मिले केस में कोई भी सिम्टोमेटिक नहीं था यानि किसी में भी कोराना के लक्ष्ण नहीं मिले थे। ट्रैवल हिस्ट्री के आधार पर उनके सैंपल की जांच कराई गई और रिपोर्ट पॉजीटिव आई। रिपोर्ट आने के बाद कुछ में सर्दी, खांसी, गले में खरास के लक्ष्ण जरूर दिखे हैं। जो दवाइयों से ठीक हो गए हैं। इनको सामान्य दवाइयों के साथ-साथ मुख्य रूप से मल्टीविटामिन और विटामिन सी दिया जा रहा है। 
 

कमेंट करें
OLTPD