comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

अपनी ही पार्टी के मंत्री पर भड़के शिवसेना विधायक कदम- शिवसेना के मंत्री रुकवा रहे पुलिस अधिकारी के खिलाफ जांच 

अपनी ही पार्टी के मंत्री पर भड़के शिवसेना विधायक कदम- शिवसेना के मंत्री रुकवा रहे पुलिस अधिकारी के खिलाफ जांच 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। विधान परिषद में शिवसेना के सदस्य रामदास कदम ने अपनी ही पार्टी के एक कैबिनेट मंत्री को कटघरे में खड़ा कर दिया। मंगलवार को सदन में प्रश्नकाल के दौरान कदम ने कहा कि रत्नागिरी के खेड तहसील की पुलिस निरीक्षक सुवर्णा पत्की की जांच चल रही है। इस जांच में शिवसेना के एक मंत्री पत्की का साथ दे रहे हैं। वे प्रदेश के गृह राज्य मंत्री से पत्की के खिलाफ जारी जांच को रोकने को कह रहे हैं। प्रदेश में यह क्या चल रहा है? कदम ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए मास्क के इस्तेमाल का आह्वान किया है। कोरोना के कारण स्कूल और मंदिर बंद हो रहे हैं लेकिन पत्की 100-100 लोगों के बीच बिना मास्क के रहती हैं। पत्की कभी मास्क नहीं पहनती हैं। खेड में क्रिकेट प्रतियोगिता को अनुमति दी जा रही है। किसी पार्टी के कार्यक्रम में सरकारी अधिकारी शामिल हो सकते हैं क्या ? कदम ने कहा कि मैंने राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख को पत्की की बिना मास्क वाली तस्वीरें छह बार भेजी हैं। लेकिन कोई संज्ञान नहीं लिया गया।

विधानभवन के सामने धरने पर बैठने को मजबूर न करे सरकार 

कदम ने देशमुख से कहा कि यदि आप के लिए संभव हो और आप पर किसी का दबाव नहीं हो तो उनके खिलाफ कार्रवाई करिए। मुझे विधानभवन के प्रवेशद्वार पर अनशन के लिए बैठने को मजबूर न करें। कदम ने कहा कि मैं भी गृह राज्य मंत्री रह चुका हैं। 31 सालों से विधानमंडल का सदस्य हूं। लेकिन मैंने ऐसा दिन कभी नहीं देखा है। इसके जवाब में देशमुख ने कहा कि मुझे कदम ने अभी कागज उपलब्ध कराए हैं। कोरोना काल में मास्क का उपयोग करना जरूरी है। यदि कोरोना के कानून का कोई उल्लंघन किया होगा तो जानकारी लेकर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस बीच विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने कहा कि कदम ने पत्की के खिलाफ सबूत दिए हैं। वह किसी को कुछ नहीं समझती हैं। वे मनमानी करती हैं। सरकार बताए कि उनके खिलाफ कार्रवाई कब होगी। इसके बाद सदन में सभापति रामराजे नाईक-निंबालकर ने बजट अधिवेशन खत्म होने से पहले कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

मैं मंत्री का नाम भी बता सकता हूं

सदन में कदम जब बोल रहे थे तो विपक्ष के सदस्यों ने कहा कि संबंधित मंत्री का नाम बताइए। इस पर कदम ने कहा कि मैं नोटिस देकर मंत्री का नाम ले सकता हूं। मुझे कोई अड़चन नहीं है। लेकिन आपको जो चाहिए वो सब कुछ नहीं मिलेगा।
 

कमेंट करें
UmWfG