दैनिक भास्कर हिंदी: शिवसेना ने सहियोगी दल कांग्रेस को बताया पुरानी खाट तो बीजेपी ने कसा तंज

June 16th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। राज्य की महा विकास आघाड़ी में सम्मान न मिलने का सवाल उठाने वाली कांग्रेस को सरकार का नेतृत्व कर रही शिवसेना ने पुरानी खाट बता दिया है। मित्र दल के इस रवैए पर कांग्रेस बचाव की मुद्रा में हैं, तो विपक्षी भाजपा ने तंज कसा है। पिछले दिनों कांग्रेस नेताओं ने सरकार के कामकाज को लेकर कुछ सवाल उठाए थे और सरकार की निर्णय प्रक्रिया में शामिल न किए जाने पर नाराजगी जताई थी। अब मंगलवार को शिवसेना के मुख पत्र सामना में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बाला साहेब थोरात और पीडब्लूडी मंत्री अशोक चव्हाण पर निशाना साधते हुए कांग्रेस की तुलना चरमराने वाली पुरानी खाट से की गई है। मुखपत्र में छपी संपादकीय में जहां राकांपा अध्यक्ष की तारीफ की गई है, जबकि कांग्रेस नेताओं पर निशाना साधा गया है। शिवसेना ने कहा है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को इस कुरकुर की आदत डाल लेनी चाहिए।

शिवसेना ने सवाल किया है कि राजनीति की यह पुरानी खाट (कांग्रेस) क्यों कुरकर कर रही है। हमारी बात सुनों का मतलब क्या है। संपादकीय में कहा गया है कि मुख्य सचिव अजोय मेहता को लगातार विस्तार मिल रहा है। इसलिए कुछ अधिकारियों को असंतोष है, तो इस बारे में चर्चा की जा सकती है, लेकिन प्रशान को लेकर कोई शिकायत नहीं है। विधान परिषद की राज्यपाल मनोनित सीटों की बाबत शिवसेना का कहना है कि कांग्रेस की तुलना में शिवसेना व राकांपा के विधायकों की संख्या ज्यादा है। इसलिए सीटों का बंटवारा उसी अनुपात में होना चाहिए। शिवसेना ने सत्ता के बंटवारे में सबसे ज्यादा त्याग किया है। पार्टी ने यह भी कहा है कि विधानसभा अध्यक्ष पद कांग्रेस को दिए जाने पर राकांपा अध्यक्ष शरद पवार नाराज हुए तो शिवसेना ने अपने हिस्से का एक कैबिनेट मंत्री पद राकांपा को दे दिया। शिवसेना ने यह भी कहा है कि इस चरमराहट से सरकार को कई खतरा पैदा नहीं होगा। 

मुख्यमंत्री को बताना चाहते हैं अपनी व्यथाः थोरात

शिवसेना की इस टिप्पणी के बाद कांग्रेस बचाव की मुद्रा में आ गई है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व राजस्व मंत्री बाला साहेब थोरात ने कहा कि हमारे कुछ मसले हैं जिसको लेकर हम मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात करना चाहते हैं। हमने समय मांगा है और उम्मीद है जल्द मिलने का समय मिल जाएगा। हम अपनी व्यथा मुख्यमंत्री को बताना चाहते हैं। थोरात ने कहा कि शिवसेना के मुखपत्र में प्रकाशित संपादकीय अधूरी जानकारी के आधार पर लिखी गई है। उन्होंने कहा कि खाट की चरमराहट सुनी जानी चाहिए। कांग्रेस नेता ने साफ किया है कि हम महा विकास आघाडी के साथ हैं। शिवसेना के कटाक्ष पर प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता राम कदम ने कहा कि इन्हें कोरोना से मर रहे लोगों की चिंता नहीं अपनी कुर्सी की चिंता है। रामकदम ने कहा कि ये लोग खाट की बात कर रहे हैं पर अस्पालों में मरीजों के इलाज के लिए खाट नहीं हैं। पहले इन्हें उसकी चिंता करनी चाहिए।    
 

खबरें और भी हैं...