खतरा : निर्गुणा बांध की सुरक्षा दीवार पर बढ़ रही हैं झाडि़यां, दरार की संभावना

July 24th, 2022

डिजिटल डेस्क, अब्दुल जफर, आलेगांव. पातूर तहसील अंतर्गत आने वाले निर्गुणा बांध की सुरक्षा दीवार पर घनी झाड़ियां और पेड़ पौधे बढ़ रहे है। जिससे सुरक्षा दीवार को दरारे आने की संभावना जताई जा रही है। अगर दीवार को क्षति पहुंची तो बड़ा हादसा हो सकता है। इस ओर सम्बन्धित विभाग की अनदेखी हो रही है। इस अनदेखी पर आम जनता में नाराजगी जताई जा रही है।सुरक्षा दीवार पर बढ़ रहे पेड़ पौधों को यहां से हटाया जाए, ऐसी मांग हो रही है। पातूर तहसील में सबसे बांध बांध निर्गुणा नदी पर चोंढी का बांध है। इस बांध में हर साल जलभंडारण होता है। इस बांध की सुरक्षा पर ध्यान देना सिंचाई विभाग का काम है। लेकिन कुछ ऐसी बाते सामने आ रही है जिससे लेकर आम जनता में चिंता व्यक्त की जा रही है। इस बांध की सुरक्षा दिवार पर कई सालों से पेड़ पौधे और झाड़िया बढ़ रही है। इन पेड़ों के कारण बांध की सुरक्षा दीवार पर लगाया हुआ पैचिंग खराब हो सकता है। पैचिंग को क्षति पहुंची तो सुरक्षा दीवार कमजोर हो जाएगी। संभवता बांध सुरक्षा दिवार की सुरक्षा खतरे में आ सकती है।

अगर ऐसा हुआ तो बहुत बअड़ा हादसा होने की संभावना से नकारा नहीं जा सकता। मालेगाव तहसील के रिसोड और मेहकर तहसील के पानलोट क्षेत्र में बीते 15 दिनों से बारिश हो रही है। जिससे बांध के जल स्तर में वृध्दि हो रही है। लेकिन देखा यह गया है कि बांध की दीवार पर बढ़ रहे घने पेड़ सुरक्षा दीवार को क्षति पहुंचा सकते हैं। जिससे बड़ी दुर्घटना हो सकती है, ऐसा लोगों को कहना है। बीत पांच सालों से इन पेड़ पौधों को नहीं तोड़ गया है। इस बांध से 27 गावों के किसानों को सिंचाई के लिए जलापूर्ति होती है।  वहीं 14 गावों को पीने के लिए जलापूर्ति की जाती है। बावजूद इस के सम्बन्धित अधिकारी अनदेखी कर रहे हैं, ऐसा आरोप इस परिसर के लोगों द्वारा किया जा रहा है।