शहडोल: बरामदों में भी दीवार तान लगा लिए शटर-गेट

February 28th, 2022

डिजिटल डेस्क,शहडोल। व्यापारिक कारोबार संचालित करने में प्रतिष्ठानों के सामने हद से अधिक जगहों पर बेजा कब्जा करने की प्रवृत्ति नगर में खत्म नहीं हो पा रही है। निजी दुकानों से लेकर नगरपालिका क्षेत्र में निर्मित शासकीय काम्पलेक्सों की दुकानों में अतिक्रमण पसरा हुआ है। कृषि उपज मण्डी हो चाहे नगरपालिका द्वारा बनाए गए सभी काम्पलेक्स में ऐसी स्थिति देखी जा सकती है। दुकानों के सामने जो बरामदे या गैलरी ग्राहकों की सुविधा के लिए बनाए गए हैं, उन्हें दुकानदारों ने अपने कब्जे में ले रखा है। पूरा सामान बरामदे के गैलरी में न केवल रखे जाते हैं, बल्कि कई दुकानदारों ने बीचों बीच दीवार बनाकर गेट व शटर तक लगवा लिए गए हैं। ऐसी स्थिति में सड़कें संकरी हो जाती हैं और आवागमन बाधित होता है।
किराया दुकान का, कब्जा बाहर तक
दुकानदानों द्वारा किराया वर्ग फिट के हिसाब से बनी दुकानों का ही अदा किया जाता है, लेकिन शायद ही कोई दुकानदार सामने तक कब्जा न करके रखा हो। दुकान की साइज से बहुत अधिक जगहों पर कब्जा करके पूरा सामान रखा जाता है। यदि किसी ग्राहक को एक दुकान से दूसरी दुकान में जाना हो तो सड़क से आकर जाना पड़ता है। यदि दुकानों के सामने बेजा कब्जा न हों तो आसानी से ग्राहकों का आना जाना हो सके। साथ ही दुकानों के सामने तक कब्जा होने से वाहनों को सड़क तक खड़ा करना पड़ता है, जिससे बाजार एरिया में जाम की स्थिति बनती है।
कृषि उपज मण्डी में अतिक्रमण
कृषि उपज मण्डी के हालात बता रहे हैं कि संबंधित प्रशासन द्वारा अतिक्रमण को लेकर कभी गंभीर नहीं रहा है। मण्डी प्रशासन द्वारा बनवाए गए सभी काम्पलेक्स की दुकानें अतिक्रमण की शिकार है। पानी टंकी के आसपास मण्डी की भूमि पर दर्जनों दुकानें अनाधिकृत रूप से बन गई हैं। वहीं पुरानी दुकानों के सामने के बरामदे बचे ही नहीं है। कुछ लोगों ने तो रास्ते में कब्जा कर दुकानें बना रखी हैं। कई दुकानदारों ने बकायदे पक्का निर्माण करके चैनल गेट व शटर लगा लिए हैं। जबकि कृषि उपज मण्डी का कार्यालय यहां से चंद कदम की दूरी पर ही है। मण्डी प्रशासन की कार्रवाई केवल नोटिस जारी करने तक ही सीमित होकर रह गई है। बताया गया है कि २५ दुकानदारों को नोटिस जारी की गई है, लेकिन उसके आगे की कार्रवाई आज तक नहीं हुई।
निरीक्षण तक सीमित मुहिम
सब्जी मण्डी से लेकर पूरे बाजार एरिया और गंज रोड के अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई प्रशासन के निरीक्षण तक ही सीमित होकर रह गई है। विगत दिवस जिला प्रशासन, राजस्व व नगरपालिका के बड़े अधिकारियों ने निरीक्षण के बाद दो दिन में अतिक्रमण हटाओ मुहिम शुरु करने की बात कही थी। लेकिन आज एक सप्ताह बाद भी कोई मुहिम शुरु नहीं की गई है। 
इनका कहना है
कृषि उपज मण्डी प्रशासन द्वारा २५ दुकानदारों को नोटिस जारी की गई है। दुकानों के सामने हद से बढ़कर कब्जा को हटाने की भी कार्रवाई शीघ्र की जाएगी।