फसलों को है पानी की जरूरत: सतना जिले में अब तक सिर्फ 60 फीसदी बरसात 

August 24th, 2021

डिजिटल डेस्क सतना। चालू मानसून सीजन के दौरान जिला मुख्यालय समेत जिले में अब तक 60 फीसदी बरसात हुई है,जो जिले की सामान्य औसत बर्षा से 7 प्रतिशत कम है। भाद्रपद मास (भादो) की शुरुआत भी सूखी रही। जिले में एक जून से 30 सितंबर तक वर्षाकाल माना जाता है। अब तक औसत  627 एमएम बरसात हुई है। बर्षाकाल के 36 दिन बचे हैं। अब तक जिले में औसतन  था 704 एमए पानी गिर जाना चाहिए था,इस लिहाज से अभी 402 एमएम औसत बारिश की दरकार है। 
 दमघोंटू उमस फिर लौटी 
बारिश की रफ्तार थमने से एक बार फिर से मौसम का मिजाज बदल गया है। 
तेज धूप और उमस भरी चिपचिपी गर्मी से लोगों का हाल बेहाल है। ऐसी स्थिति तब तक बनी रहेगी, जब तक झमाझम बारिश नहीं होगी। हालांकि बारिश का अहम माने जाने वाले अगस्त माह में भी यह स्थिति बनी हुई है। जबकि इस माह में बारिश के कारण मौसम में ठंडक घुल जाती है। मगर इस साल ऐसा नहीं है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान सामान्य से डेढ़ डिग्री से उपर चल रहा है। जिस कारण से लोगों को उमस भरी चिपचिपी गर्मी का सामना करना पड़ता है। 
33 डिग्री पर पहुंचा पारा 
चालू मानसून सीजन में सोमवार को अधिकतम तापमान 32.8 डिग्री पहुंच गया है, जबकि न्यूनतम तापमान में भी इजाफा होकर 26.2 डिग्री पहुंच गया है। तापमान में लगातार उतार चढ़ाव होने से जहां मौसमी बीमारी का खतरा बढ़ता जा रहा है। वहीं सर्दी जुकाम के साथ अन्य बीमारियां भी फैलने लगी हैं। उधर मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि सतना समेत रीवा संभाग में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बारिश हो सकती है, मगर अच्छी बारिश के लिए 28 अगस्त के बाद ही शुरू होने की संभावना है। 
 

खबरें और भी हैं...