नागपुर: सफलतापूर्वक किया मस्तिष्क की नसों की दुर्लभ बीमारी का ऑपरेशन

May 28th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर| सिकलसेल ग्रस्त बच्ची को हुए मस्तिष्क की नसों की दुर्लभ ‘मोया-मोया’ बीमारी का सफल ऑपरेशन किया गया। इस बीमारी के कारण 17 वर्षीय रिया चौधरी सिकलसेल ग्रस्त बच्ची के दाहिने हाथ अौर पैर में सुन्नपन और कमजोरी के चलते उसे न्यूराॅन हाॅस्पिटल में भर्ती किया गया। उसे बहुत सिरदर्द व बीच-बीच में झटके आ रहे थे। आरंभ में उसका एमआरआई किया गया, जिसमें  उसके दिमाग के दाहिने हिस्से की नस से खून की आपूर्ति कम हो रही थी। उसके दिमाग का भी विकास नहीं हो पा रहा था जिससे उसमें मोया मोया बीमारी की आशंका नजर आते ही  चिकित्सकों ने उसके दिमाग की नस एंजियोग्राफी की। कैरोटीड नामक नस से निकलने वाली नसें बंद हो गई थीं, जिससे मस्तिष्क तक रक्त का प्रवाह ठीक ढंग से नहीं हो पा रहा था। भविष्य में यह परेशानी और बढ़ सकती थी। इसीलिए रक्त का प्रवाह सुचारू करना अत्यंत आवश्यक था। इसके लिए मस्तिष्क के ऊपरी भाग की मुख्य नस को मस्तिष्क की नस से जोड़ने के लिए ऑपरेशन किया गया। न्यूराॅन हाॅस्पिटल के संचालक प्रो. डाॅ. प्रमोद गिरी, डाॅ. सौरभ वर्षणे, डाॅ. संजोग गजभिये, डाॅ. शिवाजी देशमुख, डाॅ. मंजूषा गिरी, डाॅ. सुशांत आदमणे, डाॅ. तुषार येलणे व न्यूराॅन की टीम ने अपने अनुभव व कुशलता से सफल ऑपरेशन किया।