दैनिक भास्कर हिंदी: 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते धराए वाड़ी के नगराध्यक्ष, पीसीआर में भेजा

May 19th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। वाड़ी नगर परिषद के अध्यक्ष प्रेमनाथ उर्फ प्रेम आत्माराम झाड़े को एसीबी ने शनिवार को अदालत के समक्ष पेश किया। अदालत ने प्रेम झाडे को दो दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया है। बता दें कि, प्रेम झाडे को शुक्रवार को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए एसीबी के दस्ते ने रंगेहाथ उनके घर पर धरदबोचा था। उन पर आरोप है कि, उन्होंने स्थापत्य अभियंताओं का चार माह का बकाया वेतन दिलवाने के बदले 24 हजार रुपए की मांग की थी। इसमें से 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए उन्हें उनके घर पर ही एसीबी ने गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले को लेकर प्रेम के परिजनाें का कहना है कि, उन्हें कुछ नेताओं की राजनीति के चलते फंसाने का षड़यंत्र रचा गया है।   

नौकरी लगाने के नाम पर तीन लोगों से धोखाधड़ी

एफसीआई में सरकारी नौकरी लगाने के नाम पर युवक के साथ धोखाधड़ी किए जाने का मामला उजागर हुआ। फरियादी की शिकायत पर सीताबर्डी पुलिस ने मामला दर्ज किया है। शिकायत के अनुसार  यंग स्टार बिजनेस सोल्यूशन का कार्यालय प्लाॅट नं.-6, प्रतिभा संकुल काॅम्प्लेक्स, नाॅर्थ अंबाझरी रोड, अलंकार टाॅकीज के समीप धरमपेठ में है। 2 जनवरी 2016 से 12 सितंबर 2016 के बीच आरोपी निकिता सुरेश मेश्राम (30), सुमित विजय मेश्राम (35), दोनों न्यू ठवरे काॅलोनी, नारा रोड, नागपुर निवासी तथा नई दिल्ली निवासी धीर खुराना उर्फ ब्रिजेश सिंह, (30) व सैयद आसिफ अहमद जाफरी (38) ने फरियादी प्रणय नामदेव गौरे (28), तेलीपुरा, वणी, जिला यवतमाल, उसके मित्र राहुल पिंपलशेंडे तथा शीतल मुकुंदराव सूर्यवंशी को एफसीआई में सरकारी नौकरी लगा देने का झांसा िदया। आरोपियों ने कई बार अलग-अलग बहाना बनाकर सभी से करीब 22,50,000 रुपए भी लिए, लेकिन नौकरी नहीं लगाई। जब कभी फरियादी नौकरी के बारे में पूछते तो आरोपी कोई न कोई बहाना बनाने लगे। रुपए लौटाने के नाम पर जब आरोपी टालमटोल करने लगे तो सभी को अपने साथ धोखाधड़ी का एहसास हुआ। इसके बाद फरियादी ने सीताबर्डी थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज की। पुलिस उपनिरीक्षक चव्हाण ने आरोपियों के खिलाफ भादंवि की धारा 420, 406,120(ब) के तहत मामला दर्ज किया। आगे की जांच सीताबर्डी पुलिस कर रही है। 

बंद मकान को बनाया निशाना लाखों का माल ले उड़े आरोपी

उधर काटोल में शनिवार की दोपहर बंद मकान से अज्ञात आरोपी लाखों का माल ले उड़े। दिनदहाड़े हुई इस घटना से नागरिकों के मन में दहशत का माहौल बना हुआ है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पंचवटी, काटोल निवासी काशिनाथ घंगारे शनिवार की दोपहर करीब 1 बजे के दौरान सपरिवार संचेती ले-आउट, काटोल निवासी अपने रिश्तेदार ज्ञानेश्वर सावरकर के घर गए हुए थे। इस बीच अज्ञात चोरों ने बंद घर को निशाना बनाते हुए घर में प्रवेश कर पहली अलमारी से नकद 40 हजार व दूसरी अलमारी से तीन अंगूठी ऐसा कुल 52 हजार का माल ले उड़े। लगभग 1 घंटे बाद घांगरे परिवार वापस लौटा, तो मुख्य द्वार का ताला टूटा नजर आया, अंदर जाकर देखने पर घर का सामान बिखरा और अलमारी खुली दिखाई दी। घटना की जानकारी काटोल पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही  पीआई सतीशसिंह राजपूत, पीएसआई संतोष निंबूरकर, जवाहरलाल चौहान आदि मौके पर पहुंचे और पंचनामा किया। फरियादी की शिकायत पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर किया गया। डीवाईएसपी विक्रम कदम के मार्गदर्शन व पीआई सतीशसिंह राजपूत के नेतृत्व आरोपियों की तलाश व आगे की जांच पीएसआई संतोष निंबूरकर कर रहे हैं।