दैनिक भास्कर हिंदी: भरी गर्मी से एक की मौत, बिजली गिरने पर गई चरवाहे की जान, पारा उछलकर 47 डिग्री पर पहुंचा

June 3rd, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। सोमवार दोपहर अचानक तेज हवा और बिजली की कड़कड़ाहट के साध हुई बारिश में कामठी तहसील के आडका गांव में एक चरवाहे पर बिजली गिरी। जिससे उसकी घटनास्थल पर मौत हो गई। अचानक मौसम ने करवट बदली, देखते ही देखते आसमान में बादल छा गए और तेज हवाओं के साथ बारिश होने लगी। आधे घंटे तक चली तेज बारिश के दौरान ग्राम पंचायत सदस्य स्वाति खेडकर के खेत में बकरियां चराने वाले चरवाहे पर बिजली गिरने से उसकी मौत की खबर मिलते ही गांव वाले खेत की ओर भागे। चरवाहा 50 बकरियों का झुंड पिछले दो दिनों से लेकर इसी गांव में डेरा जमाए हुए था। 

गर्मी से एक व्यक्ति की मौत

उधर कलमेश्वर थाना अंतर्गत गोंडखैरी मार्ग पर लोजेस्टिक पार्किंग की दीवार के पास एक व्यक्ति (उम्र 40 से 45) का शव मिला। पुलिस पाटील गणपत नारायण राव अतकरी सोमवार को सुबह 11 बजे अपने घर से 14 मील की तरफ जाते समय मामा ढाबे के सामने लोजेस्टिक पार्किंग की दीवार के पास एक व्यक्ति बेहोश अवस्था में दिखाई दिया। नजदीक जाकर देखने पर वह मृत अवस्था में पाया गया। उन्होंने कलमेश्वर पुलिस निरीक्षक मारोती मुलुक को घटना की जानकारी दी। एएसआई राजेन्द्र यादव ने घटनास्थल पर पहुंचकर पंचनामा कर शव को सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेजा। 

गर्मी से राहत के सारे उपाय फेल

पारा उछलकर 47 डिग्री तक पहुंच गया है। गर्मी से राहत के सारे उपाय फेल हो रहे  हैं। दिन और रात के तापमान में चल रहे परिवर्तन के चलते भारी उमस से लोग हलाकान हैं।  रविवार को नागपुर 47 डिग्री तापमान के साथ  विदर्भ में सबसे गर्म रहा। शनिवार शाम को हुई बारिश के कारण रात का तापमान गिरा था और न्यूनतम तापमान 26.3 डिग्री पर आ गया था। दिन में पारा चढ़ा है, पर रात में उतरा है, इसलिए उमस बनी हुई है। 

सुबह से चल रही गर्म हवा

मौसम विभाग के अनुसार, मौसम खुलने के कारण आसमान साफ हुआ आैर दिन में पारे ने जबर्दस्त उछाल मारा। 24 घंटे में अधिकतम तापमान में 3.2 डिग्री की वृद्धि हुई। न्यूनतम तापमान जरूर कम हुआ। सोमवार को सुबह से आसमान साफ बना हुआ है और गर्मी ज्यादा लग रही  है। बारिश होने की संभावना कम ही है। अधिकतम के साथ ही न्यूनतम तापमान भी बढ़ सकता है। सोमवार को अधिकतम तापमान 46 डिग्री के आसपास ही रहने की संभावना है। गर्म हवा की चुभन बनी रहेगी। रविवार को नागपुर के साथ ही ब्रह्मपुरी में भी अधिकतम तापमान 47 डिग्री रहा। दक्षिण-पश्चिम यूपी से कर्नाटक तक बनी द्रोणिका अब खत्म हो गई है। इसी कारण आसमान से बादल छंट गए आैर तापमान में वृद्धि हो रही है। 48 घंटे बाद तापमान में कमी आने की संभावना है।

बिजली  आपूर्ति हो रही बाधित

शनिवार को आई आंधी-तूफान से कई क्षेत्रों की बिजली घंटों गुल रही। कई क्षेत्रों में बिजली के पोल गिर गए थे। बिजली वितरण कंपनी को सैकड़ों शिकायत कॉल किए गए थे, लेकिन समस्या पूरी तरह हल नहीं हो पाई थी। रविवार को भी कई क्षेत्रों में यही समस्या बनी रही और बिजली आपूर्ति बाधित रही।  

इन क्षेत्रों में हुआ कार्य

पेड़ गिरने पोल झुकने और कंडक्ट टूटने के कारण रविवार को कुछ क्षेत्रों में बिजली नहीं थी। इस पर एसएनडीएल का दुरूस्तीकरण का कार्य जारी था। बिजली नगर में पेड़ गिरने से बिजली नहीं थी। दुरूस्तीकरण कार्य 12.45 से 1.45 बजे तक चला। कुंभारपुरा में बिजली का पोल गिरने के कारण 11.00 बजे दुरूस्तीकरण कार्य शुरू हुआ जो कि चार घंटे चल कर लगभग तीन बजे तक पूरा हुआ। सेंचुरी होटल के सामने फीडर भी बंद  बैठ गया था, जिसे 1 बजे तक दुरूस्त किया गया। गोरेवाड़ा में वायुसेना फीडर मंे खराबी आई थी। सुबह 9.32 बजे कार्य शुरू कर 10.49 बजे पूरा किया गया। जाफर नगर में भी फीडर बैठने के कारण बिजली नहीं थी। 4.36 बजे तक दुरूस्त किया जा सका।  लगभग हर हिस्से में इसी तरह की समस्या बनी हुई थी।