comScore

आवेदक पर ही भड़क पड़े सीईओ - कलेक्टर ने शांत कराया , दिया कार्रवाई का आश्वासन

आवेदक पर ही भड़क पड़े सीईओ - कलेक्टर ने शांत कराया , दिया कार्रवाई का आश्वासन

डिजिटल डेस्क शहडोल । मंगलवार को सुनवाई के दौरान जिला पंचायत सीईओ पार्थ जायसवाल आवेदनकर्ता पर गुस्सा कर बैठे। कलेक्टर की मौजूदगी में ग्राम पंचायत पजनड़मनियां खुर्द के सरपंच डोमारी बैगा व उपसरपंच शिवकुमार गुप्ता के साथ समाजसेवी कैलाश त्रिपाठी ने आवेदन दिया कि पंचायत में कई महीनों से सचिव नहीं हैं। विकास कार्य ठप हैं, नए सचिव की पदस्थापना नहीं हो रही है। इसलिए वे इस्तीफा दे रहे हैं। सीईओ ने गुस्सा होते हुए कहा कि कई माह से सचिव नहीं है तो पहले क्यों नहीं आए? आवेदनकर्ताओं ने कहा आपको कई बार आवेदन दे चुके हैं। इसके बाद कुछ देर के लिए बहसा-बहसी हुई। कलेक्टर ललित दाहिमा ने तत्काल हस्तक्षेप करते हुए समझाइश दी और कहा कि कुछ ही दिन में नए सचिव की पदस्थापना हो जाएगी।
कुछ ऐसा काम होना चाहिए जिससे आत्मसंतुष्टि मिले
 कलेक्ट्रेट सभागार में मौजूद सभी विभाग के अधिकारियों से मुखाबित होते हुए कलेक्टर दाहिमा ने कहा कि हम सभी रूटीन में अपने दायित्वों का निर्वहन तो करते ही हैं, लेकिन अब कुछ ऐसा काम होना चाहिए जिससे न केवल आत्मसंतुष्टि मिले बल्कि आम जनता राहत का अनुभव कर सके। इसके लिए अतिरिक्त समय निकालने होगा। करीब आधे घंटे की चर्चा में कई ऐसे सुझाव आए जिन पर कार्य हो सकता है। कलेक्टर ने सुझाव रखा कि सबसे पहले एक कार्य हाथ में लिया जाए और वह है मोहनराम तालाब का उद्धार। उन्होंने कहा कि तालाब इन दिनों नर्क बना हुआ है। इसके लिए कल से ही कार्य शुरु हो जाएगा। एसडीएम सोहागपुर से कहा कि इसमें जो भी अड़चनें हैं उन्हें दूर किया जाए। जो भी मदद और सहयोग होगा प्रशासन करेगा। तालाब की सफाई के बाद उसमें पानी भराव के बारे में कार्य होगा। तालाब के ऊपर तलैया का पानी फिल्टर करके उसमें लाने का प्रयास किया जाएगा। कुछ समय बाद उसे पर्यटक स्थल के रूप में विकसित करने का काम किया जाएगा।

कमेंट करें
mXYva