दैनिक भास्कर हिंदी: घटिया निर्माण कार्यों पर आयुक्त ने चलवाई जेसीबी, उपयंत्री सहित दो कांस्ट्रक्शन कम्पनियों को शोकाज

June 14th, 2018

डिजिटल डेस्क, सतना। निगमायुक्त ने एयरोड्रम के समीप बनाए जा रहे अमृत पार्क के घटिया निर्माण कार्यों पर जेसीबी चलवाकर नेस्तनाबूद करवा दिया। इसके अलावा उनकी सख्त हिदायत पर नगर निगम के अमले ने वार्ड क्रमांक 29 में निर्माणाधीन शाला भवन के घटिया पिलर्स को भी जेसीबी से तुड़वा दिया गया है। इसके साथ ही उन्होंने अमृत पार्क की कंस्ट्रक्शन कम्पनी, PDMC एवं उक्त विद्यालय की निर्माणी एजेंसी मातेश्वरी कांस्ट्रक्शन कम्पनी एवं नगर निगम के सम्बंधित कार्यों के प्रभारी उपयंत्री आकाश बट्टी को शोकाज नोटिस जारी किए हैं। गुणवत्ता विहीन निर्माण कार्य करवाए जाने के लिए जारी की गई नोटिसों का समाधान कारक निश्चित समय-सीमा में प्रस्तुत किए जाने एवं अन्यथा की स्थिति में आयुक्त द्वारा सम्बंधितों के खिलाफ आवश्यक वैधानिक कार्यवाही किए जाने की चेतावनी दी गई है।

बताया गया है कि23 दिन पहले 21 मई को आयुक्त के तौर पर नगर निगम की कमान संभालने वाले IAS प्रवीण सिंह अढ़ायच करोड़ों के विकास कार्यों को पलीता लगाने वाले संविदाकारों और नगर निगम के खुदगर्ज अमले के खिलाफ ऐसी सख्त कार्यवाही सुनिश्चित कर रहे हैं, जिसकी अपेक्षा नगर निगम के कई पार्षद भी लम्बे अर्से से कर रहे थे। दरअसल बुधवार को निगमायुक्त श्री सिंह ने दो ऐसी कर्र्वारियां की, जिनके बारे में नगर निगम के अन्य जिम्मेदार अधिकारियों से नगर निगम के पार्षदों के अलावा कई प्रबुद्ध नगरवासियों भी न उम्मीद हो गए थे।

साढ़े 4 करोड़ के कार्यों में पलीता लगाने की साजिश नाकाम
निगमायुक्त ने उक्त कार्यवाही सुनिश्चित करके सम्बंधित कंस्ट्रक्शन कम्पनियों द्वारा साढ़े 4 करोड़ के कार्यों को पलीता लगाए जाने की साजिश को नाकाम कर दिया है। जेसीबी से घटिया निर्माण कार्यों को ध्वस्त करवाए जाने की पहली कार्यवाही को 4 करोड़ 19 लाख की वित्तीय स्वीकृति वाले निर्माणाधीन अमृत पार्क में की गई। जानकारी के अनुसार अमृत पार्क के अहाते में शौचालय निर्माण लिंटर लेवल तक अमानक सामग्री से करवा लिया गया था, जिस पर आयुक्त द्वारा जेसीबी चलवायी गई और सम्बंधित संविदाकार को फिर से गुणवत्ता पूर्ण निर्माण कार्य करवाए जाने की हिदायत दी गई है। इसके अलावा 24 लाख की वित्तीय स्वीकृति से वार्ड क्रमांक 29 में मातेश्वरी कंस्ट्रक्शन कम्पनी द्वारा विद्यालय भवन का गुणवत्ताविहीन कार्य करवाए जाने पर निर्माणाधीन भवन के सभी कालम जेसीबी से तुड़वाकर स्वीकृत ड्राइंग और मानक के अनुसार पूरा निर्माण कार्य करवाए जाने की हिदायत दी गई है।

अमृत पार्क के बदले गए इंजीनियर
उधर अमृत पार्क की कंस्ट्रक्शन कम्पनी द्वारा निगमायुक्त की नसीहत के बाद ठेका निरस्त किए जाने के मान से निर्माण कार्य करवाए जाने के लिए पहले से नियुक्त अपने इंजीनियरों को हटा दिया है। हटाए गए इंजीनियरों की जगह नए इंजीनियरों की नियुक्ति की गई है। इसके अलावा मैत्री पार्क के समीप किड्स सायकिल ट्रैक, स्कैटिंग ट्रैक, एक्युप्रेशर ट्रैक नारायण तालाब में करवाए जा रहे पिचिंग वर्क का निरीक्षण किया और कार्यपालन यंत्री को निर्माण कार्यों की गुणवत्ता सुनिश्चित किए जाने को लेकर कड़ी हिदायत दी।

इनका कहना है
अमृत पार्क और वार्ड क्रमांक 29 में निर्माणधीन विद्यालय भवन के कार्य गुणवत्ता पूर्ण न होने के कारण जेसीबी से गिरवा दिए गए हैं। उक्त निर्माण कार्य की गुणवत्ता  पूर्ण नहीं नहीं होने के लिए सम्बंधित कंस्ट्रक्शन कम्पनियों एवं नगर निगम के जिम्मेदार इंजीनियर को नोटिस जारी कर जवाब तलब किए गए हैं। सम्बंधितों से जवाब प्राप्त होने पर आवश्यकतानुसार आगे की कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।
प्रवीण सिंह अढ़ायच, आयुक्त नगर निगम