• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • The fate of his own people was not destined, the administration of Corona victim Kisnlal performed the last rites.

दैनिक भास्कर हिंदी: अपनों का कांधा भी नहीं हुआ नसीब, कोरोना पीडि़त किसनलाल का प्रशासन ने कराया अंतिम संस्कार

April 4th, 2020


डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। कोरोना पीडि़त किशनलाल की मौत के बाद शनिवार को पूरे प्रोटोकाल के तहत प्रशासन द्वारा अंतिम संस्कार कराया गया। अपनी अंतिम यात्रा में किशनलाल को अपनों का कांधा भी नसीब नहीं हुआ। दरअसल किशनलाल के अधिकांश परिजन जिला प्रशासन की निगरानी में क्वारंटाइज किए गए हैं। वहीं प्रशासनिक अधिकारियों ने अन्य रिश्तेदारों को भी अंतिम सूचना प्रदान की, लेकिन वे भी नहीं आ पाए। इसके बाद नगर निगम के कर्मचारियों द्वारा छिंदवाड़ा स्थित मोक्षधाम में किशनलाल का अंतिम संस्कार कराया गया। केवलारी निवासी किशनलाल की शनिवार को इलाज के दौरान सुबह 6 बजे मौत हो गई। किशनलाल की मौत की खबर उनके परिजनों तक पहुंचाई गई। उसके बाद महामारी अधिनियम के तहत अंतिम संस्कार की प्रक्रिया की गई। मृतक के शरीर को पूरी तरह सुरक्षित किए जाने के बाद प्रशिक्षण हासिल कर चुके तीन कर्मचारियों द्वारा अंतिम संस्कार कराया गया। जिला अस्पताल से नगर निगम की टीम द्वारा शव को मोक्षधाम ले जाया गया। जहां किशनलाल के शव का दाह संस्कार निगम के कर्मचारियोंं द्वारा ही किया गया।
इंदौर में है पत्नी व मृतक की मां-
मृतक किशनलाल इंदौर में ही नौकरी करता था। बताया जा रहा है कि मृतक की पत्नी, बच्चे और मां इंदौर में ही रह रहे थे। सेल्सटैक्स विभाग में कार्यरत किशनलाल की मौत की खबर विभागीय अधिकारियों को मिलने के बाद छिंदवाड़ा मेंं पदस्थ स्थानीय अफसरों से विभाग के कमिश्नर ने बातचीत की। हालांकि परिजनों को छिंदवाड़ा नहीं लाया जा सका।
मोक्षधाम सहित शव वाहन को किया सेनेटाइज-
मृतक किशनलाल के अंतिम संस्कार के बाद महामारी अधिनियम के प्रावधानों के तहत मोक्षधाम को सेनेटाइज किया गया। जिस वाहन में शव ले जाया गया था, उसे भी पूरी तरह से सेनेटाइज करने की प्रक्रिया नगर निगम के अधिकारियों की मौजूदगी में की गई। अंतिम संस्कार में शव वाहन के ड्राइवर के अलावा सिर्फ तीन ही नगर निगम के कर्मचारी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...