दैनिक भास्कर हिंदी:  पिता बनकर आया बदमाश , नवजात और मानसिक कमजोर महिला को ले जा रहा था साथ

September 27th, 2019

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। जिला अस्पताल के गायनिक वार्ड में मानसिक रोगी महिला ने मंगलवार रात एक नवजात को जन्म दिया। बेसहारा महिला और नवजात की सुरक्षा खतरे में है। सुबह अपने आप को बच्चे का पिता बताकर नवजात और मानसिक रोगी महिला को एक शख्स अपने साथ ले जा रहा था। गनीमत है कि गायनिक गेट पर खड़ी महिला गार्ड की उस पर नजर पड़ गई। गार्ड मामले को भांप गई और जच्चा-बच्चा को अपनी सुरक्षा में लेकर शख्स को पुलिस साथ लाने कहा। मामला बढ़ता देख शख्स वहां से भाग निकाला। गार्ड ने अस्पताल प्रबंधन को इसकी सूचना दी।
आरएमओ डॉ.सुशील दुबे ने बताया कि गुरुवार सुबह लगभग 11.30 बजे एक शख्स के साथ मानसिक रुप से अस्वस्थ महिला जाती दिखाई दी। उसकी गोद में नवजात भी थी। गायनिक में पदस्थ महिला सुरक्षा गार्ड अनुसुईया ने शख्स को रोक लिया। पूछने पर शख्स ने अपने आप को बच्ची का पिता और महिला का पति बताया। महिला गार्ड ने बच्ची को उसकी गोद से लिया और पुलिस को साथ लाकर बच्ची को ले जाने की बात कही। गार्ड ने स्टाफ को इसकी जानकारी दी। मामला बढ़ता देख शख्स वार्ड से भाग निकला। 
महिला बाल विकास विभाग नहीं दे रहा ध्यान-
आरएमओ डॉ.दुबे के मुताबिक महिला बाल विकास विभाग से कई बार बच्ची और महिला को सुरक्षित ठिकाना दिलाने पत्राचार कर चुके है। महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी बच्ची को पालना गृह में रखवाने तैयार है लेकिन मानसिक बीमार महिला को रखने उनके पास कोई व्यवस्था नहीं है। मां और बच्ची को अलग-अलग रखने से प्रबंधन ने मना कर दोनों को एक साथ रखने की मांग की है। 
क्या कहते हैं अधिकारी-
- नवजात की सुरक्षा के लिए गायनिक स्टाफ को निर्देश दिए गए है। हर बार ड्यूटी बदलने पर स्टाफ बच्ची को चैक करेगी। इसके अलावा सुरक्षाकर्मियों को निर्देश दिए गए है कि महिला और बच्चे पर विशेष नजर रखें।
- डॉ.सुशील दुबे, आरएमओ
 

खबरें और भी हैं...