• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • The leopard carried the baby girl from the front of the house - the dead body was found on the next day

दैनिक भास्कर हिंदी: घर के सामने से बच्ची को उठा ले गया तेंदुआ - दूसरे दिन क्षत विक्षत मिला शव

November 6th, 2019

डिजिटल डेस्क शहडोल/जैतपुर । यहां बीती शाम घर के सामने खेल रही एक मासूम बच्ची को  तेंदुआ उठाकर ले गया और उसे निवाला भी बना लिया। बच्ची का कंकालनुमा शव घर से काफी दूर जंगल में नाले के पास बुधवार की सुबह पाया गया। यह दर्दनाक घटना दक्षिण वन मंण्डल के वन परिक्षेत्र केशवाही अंतर्गत ग्राम भुमकार के बीट भुमकार में घटित हुई। 
रात भर तलाश की 
जानकारी के अनुसार ग्राम भुमकार निवासी अमर सिंह पाव की सात वर्षीय बच्ची ललिता सिंह मंगलवार की शाम घर के सामने खेलते समय अचानक लापता हो गई। परिजनों ने रात भर उसकी काफी तलाश किया, लेकिन वह नहीं मिली। चूंकि अमर सिंह का घर जंगली एरिया से लगा हुआ है, वन्य प्राणियों द्वारा हमले की आंशका बनी थी। स्थानीय वन विभाग के लोग भी तलाश में जुट गए। इस बीच बुधवार की सुबह बच्ची की लाश वन चौकी से करीब 200 मीटर दूर आरएफ 972 में नाले के पास मिली। उसके दोनों हाथ धड़ से अलग मिले। सीने ओर पेट का मांस गायब था। समझते देर नहीं लगी कि वन्य प्राणी का शिकार हुई है। नजदीक ही तेंदुआ के पद मार्क मिले। 
डीएफओ की मौजूदगी में हुआ संस्कार
घटनाक्रम की जानकारी मिलते ही मुख्यालय से सीसीएफ के निर्देश पर डीएफओ साउथ सहित एसडीओ वन सहित अन्य अधिकारी स्थल पर पहुंचे। इसके पूर्व केशवाही रेंजर आरएन शर्मा अपने स्टॉफ के साथ मंगलवार की शाम से बच्ची की तलाश में जुटे हुए थे। अधिकारियों ने मौके का जायजा लेने के साथ अवशेष में मिले बच्ची के शव का स्थल पर ही पोस्टमार्टम कराया। इसके बाद अधिकारियों की मौजूदगी में बुधवार की शाम बच्ची का अंतिम संस्कार कर दिया गया। विभाग द्वारा तत्कालिक मदद के रूप में 10 हजार की राशि पीडि़त परिवार को मुहैया कराई गई। इसके अलावा वन्य प्राणी द्वारा हुए क्षति के फलस्वरूप चार लाख रुपये की सहायता राशि शीघ्र ही दिलाए जाने की प्रक्रिया शुरु करा दी गई है।
घटना दुर्भाग्यपूर्ण: सीसीएफ
-यह घटना दुर्भाग्यूपर्ण है। वन्य प्राणी के नेचर के खिलाफ यह घटना हुई है। पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि आखिर ऐसी घटना क्यों घटित हुई। पीडि़त परिवार को आर्थिक मदद दी जा रही है। आसपास के लोगों को सावधान रहनी की समझाइश के साथ वरिष्ठ अधिकारी नजर रखे हुए हैं। रात्रि गश्त बढ़ाई गई है।
एके जोशी, सीसीएफ शहडोल