• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • The police picked up the son and daughter of the accused who duped the childless couple into giving them drugs.

दैनिक भास्कर हिंदी: नि:संतान दंपती को नशीली दवा देकर ठगने वाले आरोपी के बेटे-बेटी को पुलिस ने उठाया

October 16th, 2019

- महाराष्ट्र में आरोपी पर दर्ज है सात मामले, पैरोल पर छूटकर घटना को दिया अंजाम 

जिटल डेस्क छिंदवाड़ा/पांढुर्ना। संतान प्राप्ति की दवा देने के बहाने शहर के राधाकृष्ण वार्ड में रहने वाले नि:संतान दंपती को नशीली दवा खिलाकर बेहोश कर ठगी करने वाले आरोपी की बेटी और बेटे को पुलिस ने महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया है। घटना के दौरान आरोपी दंपती का मोबाइल भी साथ ले गया था। आरोपी चोरी के मोबाइल अपने बच्चों को देकर फरार हो गया था। मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस आरोपी के बेटे और बेटी तक पहुंचने में कामयाब हो गई।  
टीआई अरविंद जैन ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी की पहचान दीपक पिता कन्हैयालाल सरवैया (55) ग्राम चिचोली थाना डिग्रस जिला यवतमाल के रूप में हुई थी। पीडि़त लक्ष्मीकांत उमाठे के यवतमाल निवासी भाई के माध्यम से आरोपी दीपक सरवैया पांढुर्ना आया था। पीडि़त के भाई से आरोपी के अन्य मोबाइल नंबर और जानकारी जुटाई गई। इन मोबाइल नम्बरों के आधार पर पुलिस ने लोकेशन ट्रेस की और महाराष्ट्र के वरूण नगर अमरावती और चिचोली में छापेमारी की। यहां से आरोपी की बेटी 22 वर्षीय वैष्णवी और बेटे 30 वर्षीय ओमप्रकाश को पकड़ा गया। जिनसे दंपती के मोबाइल जब्त किए गए है। पुलिस ने वैष्णवी और ओमप्रकाश को भी इस मामले में आरोपी बनाया है। कार्रवाई करने वाली टीम में टीआई अरविंद जैन, आरक्षक आदित्य रघुवंशी, नीतेश रघुवंशी, शिवसिंह बघेल, पुष्पेन्द्र सिंह, महिला आरक्षक दीपिका चौधरी शामिल है।
महाराष्ट्र में ठगी के सात मामले, पैरोल पर था बाहर-
टीआई अरविंद जैन ने बताया कि आरोपी दीपक सरवैया पर महाराष्ट्र के विभिन्न थानों में ठगी के सात मामले दर्ज है। जहरखुरानी और ठगी के मामले में वह दस-दस साल की सजा काट रहा था। इस दौरान अमरावती सेन्ट्रल जेल से उसे 22 सितंबर से 19 अक्टूबर तक रिहा किया गया है। पैरोल की अवधि में उसने यवतमाल क्षेत्र से फरार होकर पांढुर्ना में जहरखुरानी कर ठगी की वारदात को अंजाम दिया। 
सीसीटीवी फुटेज से हुई पहचान-
गुजरी चौक स्थित जैस्वाल ज्वेलर्स में लगे सीसीटीवी कैमरे में आरोपी दीपक की तस्वीर कैद हुई थी। पुलिस ने दंपती को फुटेज दिखाए तो उन्होंने आरोपी को पहचान लिया था। आरोपी की तलाश में टीम यवतमाल और नागपुर में छापेमारी कर रही है। महाराष्ट्र पुलिस के सहयोग से आरोपी तक पहुंचने का पांढुर्ना पुलिस प्रयास कर रही है।
 

खबरें और भी हैं...