दैनिक भास्कर हिंदी: बारिश से जलाशय लबालब, चौरई बांध के 6 गेट खोले अब 1000 क्यूमेक्स पानी 

August 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  छिंदवाड़ा जिले के चौरई प्रकल्प में 95 प्रतिशत जल भंडारण होते ही  छह गेट 0.85 सेमी (औसत) तक खोले गए। करीबन 1000 क्यूमेक्स पानी छोड़ा जा  रहा है, जो  110 किलोमीटर की दूरी तय कर चौरई से महाराष्ट्र के तोतलाडोह प्रकल्प तक पहुंच रहा है। बताया गया कि चौरई के कैचमेंट क्षेत्र में भारी बारिश के चलते चौरई प्रकल्प लबालब भर गया है। 

अब 10 गुना पानी 
गत 15 अगस्त से चौरई के दो गेट से मात्र 200 क्यूमेक्स तक पानी छोड़ा जा रहा था। अब छह गेट खोले जाने से दस गुना पानी बह रहा है। रविवार को चौरई  का जलस्तर 625.35 मीटर तक पहुंच गया था। बता दें कि चौरई में 92 प्रतिशत जल भंडारण के बाद  गत 15 अगस्त को सुबह 10.30 बजे दो गेट खोले गए थे।  

2 दिन में 20% जलसंग्रह का अनुमान
इधर, तोतलाडोह कैचमेंट एरिया में भी थोड़ी-थोड़ी बारिश हो रही है। जलाशय में अभी 12.50 प्रतिशत जल भंडारण है। चौरई से पानी आने के चलते आगामी दो दिनों में लगभग 20 प्रतिशत जल संचय का अनुमान है। इस खबर से किसानों के साथ ही मनपा और उद्यमियों ने भी राहत की सांस ली है। 

किसानों में खुशी 
चौरई से पानी छोड़े जाने की खबर से क्षेत्र के किसानों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। कई किसान स्वयं चौरई बांध परिसर में पहुंचकर खुशी का इजहार कर रहे हैं। तोतलाडोह के जलभंडारण पर ही नागपुर जिले के रामटेक, पारशिवनी, मौदा और भंडारा जिले  के 425 गांवों की अंदाजन डेढ़ लाख हेक्टेयर कृषि क्षेत्र की सिंचाई निर्भर है। धान उत्पादक किसान बड़ी उम्मीद लगाए बैठे हैं।

दिन में 6 डिग्री गिरा पारा
ऊपरी हवा में चक्रवात बनने से मौसम सुहाना हो गया है। तीन दिन में तापमान 6 डिग्री सेल्सियस कम हुआ है। तापमान में आई गिरावट के कारण शाम को ठंडी हवा के झोंके महसूस हो रहे हैं। रविवार को नागपुर का अधिकतम तापमान 27 डिग्री व न्यूनतम तापमान 23.8 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग के अनुसार, मौसम में आए परिवर्तन के कारण धूप कम खिल रही है। बादल छाए रहेंगे। फुहारों या हल्की बारिश का दौर जारी रहेगा। रुक-रुककर हर क्षेत्र में ऐसी स्थिति रहेगी। तापमान में बहुत ज्यादा वृद्धि होने की संभावना नहीं है। सोमवार को शहर में मध्यम बारिश के आसार हैं। इससे शाम को गुलाबी ठंडी का एहसास होगा। दो दिन बाद थोड़े बादल छंटने पर तापमान में वृद्धि होने की संभावना है। 

कन्हान जलशुद्धिकरण केंद्र 24 घंटे रहेगा बंद
कन्हान जलशुद्धिकरण केंद्र की 900 एमएम जलापूर्ति लाइन पर लिकेज दुरुस्ती तथा सुभान नगर के ईएसआर इंटेल वॉल की दुरुस्ती के िलए 27 अगस्त की सुबह 10 से 28 अगस्त की सुबह 10 बजे तक कन्हान जलशुद्धिकरण केंद्र से जलापूर्ति बंद रखी जाएगी। इसी के साथ हाईटेंशन केबल बिछाने व अन्य इलेक्ट्रिकल काम किए जाने हैं। कन्हान जलशुद्धिकरण केंद्र से जलापूर्ति नहीं किए जाने पर नेहरू नगर, लकड़गंज, सतरंजीपुरा, आशीनगर तथा मंगलवारी जोन के कुछ हिस्सों मेंं जलापूर्ति नहीं हो पाएगी। इस अवधि में प्रभावित क्षेत्रों में टैंकर से भी जलापूर्ति नहीं की जा सकेगी।  एहतियात के तौर पर नागरिकों से 26 अगस्त को पर्याप्त जल संग्रहित कर रखने की अपील की गई है।

खबरें और भी हैं...