दैनिक भास्कर हिंदी: औरंगाबाद से निकलेगी कांग्रेस सेवादल की तिरंगा यात्रा, सक्रियता दिखाने की तैयारी

August 4th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कांग्रेस के संगठन कार्य की अहम जिम्मेदारी संभालने वाला कांग्रेस सेवादल राजनीतिक तौर पर किनारे लगा रहा। सत्ता ही नहीं संगठन की राजनीति में भी कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता स्थान पाने के लिए इंतजार करते रहे, लेकिन अब कांग्रेस ने सेवादल को मुख्य प्रवाह की राजनीति में आगे रखने का निर्णय लिया है। इसी रणनीति के तहत 9 अगस्त को क्रांति दिन के मौके पर देश भर में राजधानी के अलावा प्रमुख शहरों में तिरंगा यात्रा निकाली जाएगी।

कांग्रेस सेवादल के साथ मिलकर सामाजिक मुद्दों को सामने लाने की तैयारी
महाराष्ट्र के औरंगाबाद में यह यात्रा हाेगी। यात्रा के तहत 3 किमी तक पैदल मार्च होगा। इसके माध्यम से राष्ट्रीय के अलावा सामाजिक मुद्दों को भी कांग्रेस प्रखरता के साथ उठाएगी। कांग्रेस सेवादल को सक्रिय करने की कड़ी में देश भर में 705 गांवों में प्रत्येक माह के अंतिम रविवार को ध्वज वंदना कार्यक्रम का आयोजन किया जाने लगा है।

पिछले माह गंजीपेठ परिसर के खंते भवन के पास ध्वज वंदना कार्यक्रम में कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय संगठन कृष्णकुमार पांडे, प्रदेश पदाधिकारी मोहम्मद कलाम, शहर अध्यक्ष रामगोविंद खोबरागडे, सुलभा नागपुरकर, देवेंद्र गायधने, योगेश सेठिया व अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे। ध्वज वंदना कार्यक्रम के माध्यम से बस्तियों में जनसंपर्क कर कांग्रेस की विचारधारा के बारे में जानकारी दी जा रही है। 

नागपुर में बना सेवादल
उल्लेखनीय है कि कांग्रेस सेवादल की स्थापना नागपुर में ही हुई थी। नागपुर में ही झंडा सत्याग्रह हुआ था। अंगरेज सरकार के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अनाेखा आंदोलन किया था। उस आंदोलन को देखने के लिए जवाहरलाल नेहरू व सरदार पटेल नागपुर आए थे। उस आंदोलन में ही बंकिमचंद्र उपाध्याय के वंदे मातरम व नागपुर के नगरसेवक श्यामलाल गुप्त के विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झंडा ऊंचा रहे हमारा गीत को ध्वजगान के तौर पर मंजूरी मिली थी। तब से कांग्रेस प्रति माह अंतिम रविवार को ध्वज वंदना करती है। इन दिनों कांग्रेस सेवादल काफी सक्रिय हो गई है।