नागपुर: कांग्रेस में मंत्री पद फेर-बदल पर बोले थोरात-मुझे नहीं पता, यह चर्चा कहां से आई

February 27th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर. कांग्रेस में मंत्री पद फेर-बदल के मामले पर राजस्व मंत्री बालासाहब थोरात ने अनभिज्ञता जताई है। वे कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं। महाविकास आघाड़ी की समन्वय समिति में भी हैं। उन्होंने कहा है कि वे स्वयं नहीं जानते हैं कि यह चर्चा कहां से आई है। इस संबंध में न तो आलाकमान ने चर्चा की है और  न ही स्थानीय स्तर पर कोई चर्चा हुई है। 

नाना ने किया था दावा : शनिवार को चंद्रपुर जिले के दौरे पर आए थोरात ने विमानतल पर पत्रकारों से चर्चा की। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने भंडारा में एक सभा में मंत्री पद फेरबदल का दावा किया था। कहा गया था कि पांच राज्यों में चुनाव के परिणाम आने के बाद राज्य में मंत्रिमंडल में फेरबदल होगा। लिहाजा चर्चाओं में सवाल पूछा जा रहा है कि आखिर किस मंत्री को मंत्रिमंडल से बाहर किया जाएगा। इसी मामले पर थोरात ने कहा कि फिलहाल उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

अनशन का निर्णय राजे का : मराठा समाज से संबंधित मांगों को लेकर सांसद संभाजी राजे ने मुंबई में अनशन शुरू किया है। इस मामले में थोरात ने कहा कि राजे से अनशन नहीं करने का निवेदन किया गया था। फिलहाल न्यायालय के कुछ निर्देशों पर अमल करना है, लेकिन राजे अनशन पर चले गए, यह उनका निर्णय है। मराठा समाज से संबंधित कुछ मांगों पर आघाड़ी सरकार ने निर्णय ले लिया है। दो दिन पहले ही मुख्यमंत्री के साथ चर्चा हुई है। यह सही

है कि उन निर्णयों के बारे में राजे से चर्चा नहीं हो पाई है। 

बजट अधिवेशन में विस अध्यक्ष का चयन : थोरात ने यह भी कहा कि बजट अधिवेशन में 9 मार्च को ही विधानसभा अध्यक्ष का चयन हो जाएगा। कांग्रेस की ओर से प्रस्तावित नाम पर राकांपा अध्यक्ष शरद पवार व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ चर्चा हुई है। संवैधानिक प्रावधान के अनुसार, अध्यक्ष का चयन होना अनिवार्य है। राज्यपाल को इस मामले में पत्र दिया है। उम्मीद है कि वे मंजूर करेंगे। एक सवाल पर थोरात ने कहा कि सत्ता के लिए भाजपा किसी भी स्तर पर जाने लगी है। वह केंद्रीय सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग करने लगी है।