comScore

फर्जी अधिकारी बनकर आंगनबाड़ी केन्द्रों से करते थे वसूली, तीन आरोपी गिरफ्तार

फर्जी अधिकारी बनकर आंगनबाड़ी केन्द्रों से करते थे वसूली, तीन आरोपी गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। महिला एवं बाल विकास विभाग के फर्जी अधिकारी बनकर ग्रामीण क्षेत्रों की आंगनबाड़ी केन्द्रों से वसूली करने वाले एक गिरोह का पर्दाफास तामिया क्षेत्र की एक आंगनबाड़ी सहायिका की सक्रियता से हुआ है। सहायिका ने पहले धमकी से डरकर एक हजार रुपए दे दिए, लेकिन बाद में उसने आरोपियों की हकीकत पता लगवाकर उन्हें थाने पहुंचा दिया। तामिया क्षेत्र में कुछ दिनों से महिला एवं बाल विकास विभाग के फर्जी अधिकारी बनकर आंगनबाड़ी कार्रवार्ताओं और सहायिकाओं से उगाही करने वाला गिरोह सक्रिय था। इस मामले में तीन आरोपियों को आंगनबाड़ी सहायिका की सक्रियता से पकड़ लिया गया है। तीनों आरोपियों के खिलाफ धारा 420,34 आईपीसी के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

1 हजार दे दिए फिर हुआ शक तो की पड़ताल

मंगलवार को तामिया के जमुनिया खुर्द स्थित आंगनबाड़ी में दोपहर 12 बजे एक स्विफ्ट कार क्रमांक एमपी 04 सीवी 5061 आकर रूकी। कार से तीन लोग उतरे और खुद को महिला एवं बाल विकास विभाग का अधिकारी बताकर आंगनबाड़ी का निरीक्षण करने लगे। इस दौरान तीनों फर्जी अधिकारियों ने आंगनबाड़ी सहायिका और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को धमकाया और 1-1 हजार रुपए की मांग की।आरोपियों की धमकी से डरकर सहायिका राजकुमारी बाई पति राजकुमार उईके उम्र 26 वर्ष ने 1 हजार रुपए दे दिए, लेकिन कार्यकर्ता रुपए नहीं दे पाई। आरोपी उसे अपनी कार में बिठाकर वहां निकल गए तब सहायिका ने अपने पति से मिलकर आरोपियों की जानकारी निकाली और तीनों आरोपियों को ग्राम खमदौड़ा में पकड़वा दिया।

पूछताछ में खुद को बताते रहे अधिकारी

सहायिका की सूचना पर तामिया महिला एवं बाल विभाग के कर्मचारियों ने तीनों आरोपियों को पकड़ा और उनसे पूछताछ की। तब भी आरोपी खुद को अधिकारी ही बताते रहे। इतना ही नही उनमें से एक के पास विभाग का एक आइडेंटिटी कार्ड भी मिला है। बाद में विभागीय कर्मचारियों ने तीनों को तामिया पुलिस के हवाले कर दिया।

भोपाल से आए उगाही करने, चौरई में भी निवास

पुलिस ने तीन आरोपियों सोनू पिता सुरेश कुमार समैया उम्र 31 वर्ष निवासी भोपाल, हाल चौरई और स्थायी बीना जिला सागर, महेंद्र प्रताप पिता राजेंद्र सिंह रघुवंशी निवासी ऐशबाग भोपाल, स्थायी अशोक नगर, कैलाश राय पिता भैय्यालाल राय 31 वर्ष निवासी ऐशबाग भोपाल को गिरफ्तार किया है। तीनों आरोपी भोपाल से आए थे और उनमें से एक चौरई में भी एक किराये के मकान में रहता था।

कमेंट करें
N1KIU