दैनिक भास्कर हिंदी: ट्रक ने ट्रैक्टर को रौंदा, तीन की मौत, दो घायल, ग्रामीणों ने किया हंगामा

December 19th, 2018

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। खारी विसर्जन कर लौट रहे ट्रैक्टर को बेलगाम भाग रहे ट्रक ने रौंद दिया। इस सड़क हादसे में ट्रैक्टर सवार एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई, तो वहीं दूसरे ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। हादसे में घायल वृद्ध की उपचार के दौरान मौत हो गई। हृदय विदारक इस घटना के बाद लोगों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए जमकर हंगामा किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को समझाइश देकर मामले को शांत कराया है।

ट्रक के नीचे आ गए थे युवक
सिंगोड़ी पेंच नदी मके पुल पर हुए सड़क हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई। पेंच नदी से खारी विसर्जन कर अमरवाड़ा के ग्राम कोसमी लौट रहे लोगों से भरे ट्रैक्टर को बेलगाम ट्रक ने टक्कर मार दी। टक्कर इतनी भीषण थी कि ट्रैक्टर सड़क पर काफी दूर तक घिसटता गया और दो युवक ट्रक के नीचे फंस गए। जिन्हें रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया। एक युवक की मौके पर और दूसरे की इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं एक घायल बुजुर्ग की जिला अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

खारी विसर्जन कर लौट रहे थे ग्रामीण
पुलिस ने बताया कि कोसमी निवासी चंद्रवंशी परिवार समेत अन्य ग्रामीण बुधवार को पेंच नदी पर खारी विसर्जन करने आया था। शाम को यहां से लौटते वक्त पेंच नदी के पुल पर छिंदवाड़ा की ओर से आ रहे एक तेज रफ्तार ट्रक चालक ने ट्रैक्टर को पीछे से टक्कर मार दी। हादसे में कोसमी निवासी 17 वर्षीय प्रकाश पिता अजब सिंह चंद्रवंशी और अनघोड़ी निवासी 35 वर्षीय राकेश पिता अनकलाल चंद्रवंशी ट्रक के नीचे फंस गए थे। इनमें से पहले राकेश को बाहर निकालकर अस्पताल भेजा गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं ट्रक चालक जगदीश और एक घायल बुजुर्ग को अस्पताल लाया गया था। इलाज के दौरान बुजुर्ग ने भी दम तोड़ दिया। वहीं ट्रक चालक जगदीश का जिला अस्पताल में इलाज जारी है। इसके अलावा दो महिलाओं को मामूली चोटें आई है।

देरी से शुरू हुआ राहत कार्य, भड़के ग्रामीण
तेज रफ्तार ट्रक की टक्कर के बाद दो युवक गाड़ी के नीचे फंस गए थे। जिन्हें लगभग तीन घंटे की मशक्कत के बाद बाहर निकाला जा सका। इस दौरान आक्रोशित ग्रामीणों ने घटना स्थल पर हंगामा किया। ग्रामीणों का आरोप था कि घटना स्थल पर पुलिस देरी से पहुंची, जिसकी वजह से दोनों युवकों को नहीं निकाला जा सका। समय पर उन्हें गाड़ी के नीचे से निकाल लिया जाता तो उनकी जान बचाई जा सकती थी।

क्रेन की मदद से निकाले शव
सड़क दुर्घटना में ट्रक के नीचे फंसे युवकों को बाहर निकालने पुलिस टीम ने काफी मशक्कत की। ग्रामीणों के साथ मिलकर क्रेन की मदद से पुलिस ने युवक को ट्रक के नीचे से निकाला।

अस्पताल में नहीं थी कोई व्यवस्था
दुर्घटना के बाद तीन घायलों को 108 एम्बुलेंस से जिला अस्पताल लाया गया। यहां ना तो स्ट्रेचर थे और न ही अस्पतालकर्मी। इस वजह से काफी देर तक घायल गाड़ी में ही पड़े रहे। एम्बुलेंस के स्टाफ ने जैसे-तैसे स्ट्रेचर की व्यवस्था की।