comScore

नागपुर शहर में घुसने लगे हैं बाघ और तेंदुए , कालोनी में लोगों ने घूमते देखा

नागपुर शहर में घुसने लगे हैं बाघ और तेंदुए , कालोनी में लोगों ने घूमते देखा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर के बाहरी क्षेत्रों में अभी तक बाघ और तेंदुआ देखे जाने की खबरें आती रही हैं, लेकिन अब तेंदुआ शहर में भी प्रवेश कर गया है। बुधवार को काटोल रोड, गिट्‌टीखदान स्थित मंजीदाना कालोनी के लोगों ने तेंदुए को देखा है, जिससे परिसर के लोगों में दहशत का माहौल है। सूचना मिलने पर पुलिस और वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची थी। 

देर रात जारी रही खोजबीन
परिसर में देर रात तक तेंदुए की खोजबीन चलती रही, मगर पुलिस और वन विभाग की टीम को कहीं तेंदुआ नजर नहीं आया है। इस बीच आशंका व्यक्त की जा रही है कि गोरेवाड़ा जंगल से भटकते हुए तेंदुआ शहर में आया होगा। इससे परिसर में निवासरत लोगों में जान का खौफ और अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है। लोग घरों से निकलने में डर रहे हैं। गत कुछ दिनों से हिंगना, मिहान, बुटीबोरी परिसर में भी बाघ को देखा जा रहा है। अंबाझरी पार्क में भी तेंदुए के पग चिह्न पाए गए हैं। विभाग तेंदुए की खोजबीन में लगा हुआ है, लेकिन खबर लिखे जाने तक उसका कोई सुराग नहीं मिला है। पुलिस और वन विभाग ने इस बीच परिसर के लोगों को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं। 

लोगों ने सुनी दहाड़
रात करीब 10:30 बजे मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम और पुलिस ने एक खंडहरनुमा मकान में जाकर तेंदुए को खोजने की कोशिश की, लेकिन कहीं वह दिखाई नहीं दिया। इस बीच परिसर के लोगों ने वन विभाग को बताया कि रात 8.30 से 9 बजे के दौरान दहाड़ने की आवास सुनी। जिससे टीम ने लोगों को घर से नहीं निकलने और िवशेष कर बच्चों पर ध्यान रखने की सलाह दी है। गुरुवार को भी तेंदुए की खोजबीन जारी रहेगी।

दोपहर 3 बजे दिखाई दिया
मंजीदाना कालोनी स्थित निकुंज एंक्लेव निवासी सुरेश गिर्हे नामक व्यक्ति ने बताया कि बुधवार की दोपहर करीब तीन बजे उनके अपार्टमेंट के पास से तेदुआ कालोनी में घुस गया। उसे कालोनी में प्रवेश करते हुए परिसर के सत्यनरायण मंदिर के पास खड़े लोगों ने भी देखा। इससे कालोनी में दहशत और अफरा-तफरी का माहौल रहा था। भय के कारण लोग एक जमा हो गए थे। इस बीच सुरेश ने प्रशासन को फोन कर तेंदुआ के घुसने की सूचना दी। इसकी गंभीरता से पुलिस और वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। 

पहुंच सकते हैं वन्यजीव
वन विभाग को गिट्टीखदान के मंजीदाना कालोनी में तेंदुआ होने की जानकारी दैनिक भास्कर से ही मिली है। पुलिस विभाग से सूचना नहीं मिली है। विभाग रेस्क्यू टीम के साथ तत्काल मंजीदाना रवाना हो गई। इलाका गोरेवाड़ा के पास है। वहां वन्यजीव पहुंच सकते हैं।           
सुरेंद्र काले, एसटीएफ

तेंदुए के शावक को कुएं से सुरक्षित निकाला गया
 कलमेश्वर वन परिक्षेत्र स्थित इटनगोटी में बुधवार को तेंदुए का शावक कुएं में गिर गया। जानकारी मिलते ही वन विभाग के क्षेत्रीय अधिकारी मौके पर पहुंचे और शावक को कुएं से निकाला। उसे सेमिनरी हिल्स स्थित रेस्क्यू सेंटर में भेज दिया गया है। पशु चिकित्सकों ने जांच कर शावक को स्वस्थ बताया है। चिकित्सकों के अनुसार शावक 4 माह का है। तेंदुए का यह शावक इटनगोटी में किसान दिवाकर वडस्कर की खेत में बने कुएं में गिरा था। सुबह दिवाकर वडस्कर ने कुएं में गिरे शावक को देखा और पुलिस मित्र काले को जानकारी दी। सूचना सावनेर पुलिस थाना के जरिये वन विभाग को भेजी गई। वन विभाग के स्थानीय अधिकारी व कर्मचारी और सावेनर पुलिस थाने का दस्ता मौके पर पहुंचा। सुबह करीब 9 बजे शावक को सुरक्षित बाहर निकाला गया। यह जानकारी डॉ. प्रभुनाथ शुक्ला, उपसंरक्षक, नागपुर वन विभाग ने दी है।  

परिसर में मादा तेंदुए की खोज शुरू
इतने छोटे शावक के मिलने के बाद वन विभाग परिसर में मादा तेदुएं की खोजबीन कर रहा है। वन विभाग ने आस-पास के ग्रामीणों को सतर्क रहने की हिदायत दी है। शावक को ढंूढ़ते हुए मादा तेंदुआ के आवासीय क्षेत्र में घुसपैठ से इनकार नहीं किया जा सकता है।

लगातार मिल रहे हैं वन्यजीव
पिछले 15 दिन से नागपुर के आस-पास वन्यजीवों की उपस्थिति की लगातार सूचनाएं मिल रही हैं। शुरुआत मिहान में बाघ के नजर आने के साथ  हुई। इसके बाद बाजारगांव में भी बाघ देखे जाने के दावे किए गए। 28 नवंबर को अंबाझरी जैव विविधता पार्क में तेंदुए के पैरों के निशान मिले और अब कलमेश्वर में तेंदुए के शावक के मिलने से परिसर में तेंदुआ होने की आशंका बढ़ गई है। वन्यजीव विशेषज्ञ इसे वन क्षेत्रों में होती लगातार कमी और संरक्षण उपायों के कारण वन्यजीवों की संख्या में वृद्धि का परिणाम बता रहे हैं। 

कमेंट करें
zckQL