comScore

टीआई की पिस्टल मालखाने से गायब, मचा हड़कंप

टीआई की पिस्टल मालखाने से गायब, मचा हड़कंप


डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा/ परासिया। माहुलझिर थाना के मालखाने से टीआई की सरकारी पिस्टल गायब होने का मामला रविवार को सामने आया। पिस्टल गायब होने की सूचना पर एएसपी शशांक गर्ग और जुन्नारदेव एसडीओपी एसके सिंह जांच के लिए थाने पहुंचे थे। थाने में प्रधान आरक्षक और सैनिक की अभिरक्षा से पिस्टल गायब होने से उन्हें दोषी माना जा रहा है। जिसके खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है। माहुलझिर थाना भवन जर्जन होने पर पिछले डेढ़ साल से झिरपा से थाना संचालित हो रहा है।
पुलिस ने बताया कि पिछले दिनों थाना प्रभारी एसआई भूपेन्द्र दीवान का चांद और चांदामेटा टीआई केवल परते का माहुलझिर स्थानांतरण किया गया था। थाने से रवानगी लेते वक्त एसआई दीवान ने सरकारी पिस्टल मालखाने में जमा करा दी थी। मालखाने में दो सरकारी पिस्टल रखी थी। नवागत थाना प्रभारी ने सरकारी पिस्टल नहीं ली थी। शुक्रवार तक मालखाने में दोनों पिस्टल रखी थी। शनिवार शाम को इनमें से एक ही पिस्टल मिली। थाने से पिस्टल गायब होने से हड़कंप मच गया। काफी तलाश के बाद भी जब पिस्टल नहीं मिली तब वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया। रविवार को लगभग पूरा दिन एएसपी शशांक गर्ग और एसडीओपी एसके सिंह मामले की जांच में जुटे रहे। प्रधान आरक्षक संतराम बायकर और होम गार्ड सैनिक (लांस नायक) की अभिरक्षा में रखी पिस्टल चोरी होने से गंभीर मामले में उन्हें ही दोषी मानकर प्रकरण दर्ज किया गया है। दोनों के खिलाफ धारा 409, 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है।
क्या कहते हैं अधिकारी-
मालखाने से पिस्टल गायब होना गंभीर मामला है। जिस प्रधान आरक्षक और मददगार की अभिरक्षा में पिस्टल रखी थी। उनके खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। एएसपी मामले की जांच कर रहे है।
- विवेक अग्रवाल, एसपी

कमेंट करें
5RIuJ