नागपुर: बहन की शादी का कर्ज चुकाने बन गया अंतरराज्यीय वाहन चोर

July 17th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर. बहन की शादी का कर्ज चुकाने के लिए एक अंतरराज्यीय वाहन चोर सहित दो आराेपियों को सीताबर्डी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी पुनीत देवश्याम गायकवाड़ (22), पौनार खुर्द, तहसील बरघाट, जिला सिवनी, मध्यप्रदेश और उसका साथी श्याम उर्फ आकाश केकराम हरीनखेड़े (24), समता नगर, जरीपटका, नागपुर निवासी है। दोनों आरोपियों से पुलिस ने 16 दोपहिया वाहन सहित 4 लाख 62 हजार रुपए का माल जब्त किया है। आरोपियों ने यह वाहन सीताबर्डी, धंतोली, जरीपटका, कपिल नगर, कोराडी, सिवनी, मध्य प्रदेश आदि जगहों से चुराए थे है। आरोपी पुनीत और आकाश के फरार साथी विजय देवलसिंह हरीनखेड़े (27),  समता नगर, जरीपटका  निवासी की तलाश पुलिस कर रही है। 

दिन में काम, रात में करते थे चोरी

आरोपी पुनीत ने बहन की शादी करने के लिए 1 लाख रुपए कर्ज िलया था। कर्ज को चुकाने के लिए वह अंतरराज्यीय वाहन चाेर बन गया। पुनीत दिन में पेंटिंग का काम करता था और रात में आकाश और विजय के साथ दोपहिया वाहन चुराता था। आरोपी आकाश भी मिस्त्री का काम करता है। पुलिस के अनुसार जरीपटका निवासी दिनेश नागपुरे का गत 2 जुलाई को सीताबर्डी के  उड़ानपुल के नीचे से वाहन चोरी हो गया था। उसने सीताबर्डी थाने में शिकायत दर्ज कराई। 

एक माह में सीताबर्डी क्षेत्र से चुराए 5 वाहन : एक माह में सीताबर्डी इलाके से करीब 5 दोपहिया वाहन चोरी होने से पुलिस का सिरदर्द बढ़ गया था। पुलिस ने फुटेज व तकनीकी जांच-पडताल और मोबाइल के डम्प डाटा के आधार पर आरोपी पुनीत का सुराग खोज निकाला और उसे सिवनी से गिरफ्तार किया। पुनीत की निशानदेही पर श्याम हिरनखेड़े को गिरफ्तार किया। इन दोनों आरोपियों से पुलिस ने 16 दोपहिया वाहन जब्त किए हैं। पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को बताया कि, वे अपने  दोस्त विजय के साथ मिलकर वाहन चुराते थे।

दोनों आरोपी रिमांड पर 
आरोपी पुनीत और श्याम पुलिस रिमांड पर है।  दोनों से चोरी के और दोपहिया वाहन जब्त हो सकते हैं। पुलिस उपायुक्त डाॅ. संदीप पखाले , सहायक पुलिस आयुक्त डाॅ. निलेश  पालवे के मार्गदर्शन में कार्रवाई की गई। सीताबर्डी के वरिष्ठ थानेदार अतुल सबनीस के नेतृत्व में पुलिस निरीक्षक अमोल काचोरे,  सहायक पुलिस निरीक्षक  संतोष  कदम, उपनिरीक्षक  कैलास मगर, हवलदार  रामेश्वर गिते, नायब सिपाही संदीप भोकरे,  प्रशांत भोयर, रमण खैरे, विक्रम ठाकुर, दीपक चव्हाण, प्रज्ञा चांदपुरकर ने कार्रवाई में सहयोग किया।