दैनिक भास्कर हिंदी: नक्सलियों से निपटने के लिए ग्रे-हाउंड की तर्ज पर अब जवानों को मिलेगी ट्रेनिंग

May 11th, 2018

मोहनीश चिपिये, गड़चिरोली।  बिना किसी आधुनिक प्रशिक्षण के सी-60 जवानों ने हाल ही में नक्सल मोर्चे पर देश की सबसे बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया। इस उपलब्धि पर पुलिस महासंचालक माथुर ने स्वयं गड़चिरोली आकर जवानों की वाहवाही की।  सी-60 के जवानों को तेलंगाना राज्य के ग्रे-हाउंड की तर्ज पर आधुनिक प्रशिक्षण दिलाने की दिशा में गृह मंत्रालय ने अब कदम बढ़ाए हैं। सरकार ने नागपुर के अंबाझरी में एक विशेष प्रशिक्षण केंद्र तैयार करवाने के लिए तकरीबन 3 करोड़ 9 लाख 12 हजार 592 रुपए की निधि को मंजूरी प्रदान की है। इस केंद्र के माध्यम से अब सी-60 के जवानों को नक्सल मोर्चे के लिए तैयार किया जाएगा।  

बता दें कि, गत दिनों मुठभेड़ में सी-60 के जवानों ने एकसाथ 40 नक्सलियों को मार गिराया था। जिस समय सी-60 दल का गठन किया गया था, उस समय दल के जवानों को गड़चिरोली में ही प्रशिक्षित किया जाता था, पर धीरे-धीरे पुलिस विभाग ने अपनी नीतियों में बदलाव किया। फिलहाल, पुलिस विभाग में भर्ती हुए नए जवानों को पुणे के दौड़ समेत अन्य स्थानों पर प्रशिक्षण के लिए भेजा जाता है।

सुराबर्डी में भी है प्रशिक्षण केन्द्र
जिला मुख्यालय से 185 कि.मी. दूर स्थित नागपुर के सुराबर्डी में भी अपारंपारिक अभियान प्रशिक्षण केंद्र कार्यरत है। यहां भी जवानों को प्रशिक्षित किया जा रहा है, लेकिन यहां पर्याप्त क्षेत्र उपलब्ध नहीं होने से जवानों को प्रभावी प्रशिक्षण नहीं मिल पा रहा है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए ग्रे-हाउंड के जवानों की तरह सी-60 के जवानों को तैयार करने के लिए अंबाझरी में नया प्रशिक्षण केंद्र आरंभ करने का निर्णय सरकार ने लिया है। पुलिस दल में भर्ती होने वाले जवानों समेत कार्यरत जवानों को इसी प्रशिक्षण केंद्र से प्रशिक्षित किया जाएगा। अंबाझरी के प्रशिक्षण केंद्र में जंगल कैम्प समेत गोलीबारी के लिए पर्याप्त जगह और जवानों के लिए उचित सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। शक्ति प्रदान समिति और मंत्रिमंडल की उपसमिति ने प्रशिक्षण केंद्र के लिए 3 करोड़ की निधि मंजूर की है।