दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर मेडिकल कॉलेज के उन्नयन को केन्द्र से मिले अब तक 120 करोड़

June 22nd, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (पीएमएसएसवाई) के अंतर्गत महाराष्ट्र के छह सरकारी मेडिकल कॉलेजों के उन्नयन के मकसद से केन्द्र सरकार अब तक अपने हिस्से की 594 करोड़ की राशि जारी कर चुकी है। समय से मिली केन्द्रीय मदद की वजह से नागपुर के सरकारी मेडिकल कॉलेज और मुंबई के ग्रांट मेडिकल कॉलेज को आधुनिक बनाने का काम पूरा हाे चुका है। यह जानकारी केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने दी।

चौबे ने बताया कि पीएमएसएसवाई के विभिन्न चरणों के तहत सरकार ने महाराष्ट्र में सात परियोजनाएं शुरू की है। इसमें छह सरकारी मेडिकल कॉलेजों का उन्नयन और नागपुर में नए एम्स की स्थापना का प्रकल्प शामिल है। उन्होने बताया कि सरकार ने प्रदेश की छह सरकारी मेडिकल कॉलेजों के उन्नयन के लिए 870 करोड़ रूपये की परियोजना शुरू की थी। इसमें 705 करोड़ रूपये केन्द्र सरकार और 165 करोड़ रूपये महाराष्ट्र सरकार को खर्च करना था। उन्होने बताया कि जहां तक केन्द्र सरकार का ताल्लुक है तो उसने अपने हिस्से की 594 करोड़ रूपये जारी कर चुकी है। शेष राशि भी जल्द ही जारी कर दी जाएगी। केन्द्र सरकार अब तक नागपुर मेडिकल काॅलेज को 120 करोड़, ग्रांट मेडिकल कॉलेज, मुंबई को 94 करोड़, औरंगाबाद मेडिकल कॉलेज को 98 करोड़, अकोला मेडिकल कॉलेज को 87 करोड़, यवतमाल मेडिकल कॉलेज को 101 करोड़ और लाटूर मेडिकल कॉलेज को 95 करोड़ की राशि जारी कर चुकी है। योजना के तहत नागपुर मेडिकल कॉलेज के उन्नयन पर केन्द्र को 125 करोड़ और राज्य को 25 करोड़ खर्च करने हैं।

नागपुर एम्स को अब तक मिले हैं 394 करोड़

इसके साथ ही नागपुर में नए एम्स की स्थापना हेतु चौथे चरण के लिए केन्द्रीय हिस्से के रूप में अब तक 394 करोड़ की राशि जारी हो चुकी हे। नए एम्स की स्थापना पर कुल 1,577 करोड़ रूपये खर्च होने हैं। नए एम्स की ओपीडी ब्लॉक व आवासीय कांप्लेक्स का काम 76 फीसद पूरा हो चुका है तो अस्पताल व अकादमिक परिसर का काम अभी 28 फीसद ही पूरा हो पाया है। हालांकि यहां सत्र 2018-2019 से 50 छात्रों के लिए एमबीबीएस कक्षाएं शुरू हाे चुकी है। 

खबरें और भी हैं...