वैक्सीनेशन : टीका नहीं तो कार्यालय में प्रवेश नहीं, प्रशासन हुआ सख्त - लागू होगा निर्णय

November 25th, 2021

डिजिटल डेस्क, भंडारा। टीकाकरण का प्रतिशत बढ़ाने के लिए प्रशासन युध्द स्तर पर कार्य कर रहा है। हाल ही में भंडारा जिला राज्य में टीकाकरण में अव्वल रहा। मात्र 100 प्रतिशत टीकाकरण के लिए प्रशासन सख्त कदम उठा रहा है। इसी का एक भाग यह है कि, अभी तक एक भी टीका न लगाए कर्मचारियों के कार्यालयों में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाए जाने का निर्णय लिया गया है। इससे जुड़े स्पष्ट निर्देश जिलाधिकारी संदीप कदम ने औद्योगिक संस्थाओं को दिए। बुधवार को उद्योग मित्र समिति की बैठक जिलाधिकारी कार्यालय में ली गई। बैठक में जिलाधिकारी कदम ने यह बात कही। बैठक में उद्योग प्रबंधक एच. के. बेदर व औद्योगिक संगठन के प्रतिनिधि उपस्थित थे। जिलाधिकारी ने कहा कि, बड़े पैमाने पर औद्योगिक संस्थाओं में कोविड प्रतिबंधात्मक टीकाकरण शिविरों का आयोजन किया जाए। यह निर्देश दिया गया। मंगलवार 30 नवंबर तक 100 प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य पूर्ण करने के लिए जिला प्रशासन कार्य कर रहा है। जिले में टीकाकरण मुहिम बड़े पैमाने पर चलाए जाने पर 50 प्रतिशत से ज्यादा जनसंख्या टीकाकरण से संरक्षित हुई है। युवा स्वास्थ अभियान तथा घर घर दस्तक व अन्य अभियानों से टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है।

30 नवंबर के पूर्व 100 प्रतिशत टीकाकरण पूर्ण करने का निर्देश जिलाधिकारी संदीप कदम ने इस समय दिए तथा जिले में प्रथम टीका लगाने का प्रमाण 93 प्रतिशत तथा दूसरे टीके का प्रमाण 52 प्रतिशत ही है। टीका लगाने पर कोविड का प्रभाव कम होता है व सही इलाज द्वारा ग्रसित व्यक्ति जल्द ही ठीक हो रहा है। टीकाकरण से मरीज गंभीर होने का प्रमाण कम हुआ है व मृत्यु का खतरा कम हुआ है। कोविड-19 पर मात देने के लिए टीकाकरण ही एकमात्र शस्त्र होने की बात जिलाधिकारी ने कही। जिन संस्थाओं में 1 दिसंबर के बाद इन सूचनाओं का पालन नहीं किया उन कार्यालयों की जांच पथक द्वारा अचानक भेंट देकर जांच की जाएगी। सूचनाओं का पालन न करने  वाली औद्योगिक संस्था, व्यापारी, संस्थाओं के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जाएगी। बैठक में औद्योगिक प्रतिनिधि सुनील रंभाड, सुनील देशमुख, हर्षवर्धन हरडे, संदीप मारोडकर, डा. मनोहर कांबले व रितेश माने सहित अन्य प्रतिनिधि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...