पाट्र्स खराबी आने के बाद नहीं हुआ सुधार, मेंटेनेंस नहीं हो पाने के कारण बनी ये स्थिति: सवा करोड़ की बर्बादी, ट्रामिल यूनिट बंद, मजदूर अलग कर रहे गीला-सूखा कचरा

February 26th, 2022


छिंदवाड़ा। शहर से निकलने वाले मिक्स कचरे को अलग-अलग करने के लिए नगर निगम ने ट्रामिल यूनिट की खरीदी की थी। एक करोड़ 15 लाख की इस मशीन को लेकर तब भी सवाल खड़े हुए थे। अब मशीन के पाट्र्स में खराबी आ जाने के कारण ये यूनिट लंबे समय से बंद है। गीला-सूखा कचरे को मजदूरों के माध्यम से बर्मन जमीन में अलग कर जामुनझिरी कचरा संग्रहण केंद्र पहुंचाया जा रहा है। सबसे बड़ी बात ये हैं कि नगर निगम द्वारा इस मशीन के संचालन का जिम्मा निजी फर्म फ्यूजन को दिया गया है। जिसे हर तीन से चार महीने में तकरीबन 13 लाख का भुगतान किया जाता है।
स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 की ग्रेडिंग गिरने के बाद भी निगम अधिकारियों ने सबक नहीं लिया। जामुनझिरी कचरा संग्रहण केंद्र के डाक्युमेंटेशन में गड़बड़ी के चलते निगम की ग्रेडिंग में बड़ी गिरावट आई थी, लेकिन अभी भी व्यवस्था में सुधार नहीं हो पाया है। शहर से निकलने वाले मिक्स कचरे को अलग करने के लिए निगम ने सवा करोड़ खर्च कर ये मशीन खरीदी, ताकि मजदूरों की बजाय मशीनों से काम हो और इससे गे्रडिंग में सुधार किया जा सकें। अब स्वच्छता सर्र्वेक्षण 2022 को लेकर कभी भी दिल्ली का दल छिंदवाड़ा आ सकता है, लेकिन मशीन के पाटर््स में खराबी के चलते ये यूूनिट बंद पड़ी है।
रोजाना 64 टन कचरा निकलता है शहर से
शहर से रोजाना तकरीबन 64 टन कचरा शहर से निकलता है। इसमें गीले और सूखे कचरे की समान स्थिति है। कहने को तो नगर निगम का स्वास्थ्य अमला दावा करता है कि गीले और सूखे कचरे का संग्रहण अलग-अलग किया जाता है, लेकिन शहर के ही ऐसे कई क्षेत्र है जहां के घरों में एकमात्र डस्टबिन है। इसमें सूखा और गीला कचरा एक साथ रखते हैं। इसी कचरे को अलग करने के लिए इस मशीन की खरीदी निगम ने की थी।
वृक्षारोपण की भी बर्बादी
जामुनझिरी में कचरा घर बनाते समय दावा किया गया था कि यहां पर फलदार पौधों से जंगल बनाया जाएगा। लाखों खर्च कर यहां पौधारोपण भी किया गया। प्रचार-प्रसार में भी उस समय लाखों खर्च कर दिए गए, लेकिन अब ये स्थिति है कि यहां वृक्षारोपण के नाम पर कुछ पौधे नजर आते है। फलदार पौधे तो ढूंढने से नहीं मिल रहे। जामुनझिरी में ये व्यवस्था में यहां फेल हो गई है।
इनका कहना है...
शहर से निकलने वाले मिक्स कचरे के लिए ये मशीन खरीदी गई। निगम द्वारा वार्डों से गीला व सूखा कचरा अलग-अलग कलेक्ट किया जाता है। ट्रामिल यूनिट के पाटर््स भी आ गए है। जिसे भी अब जल्द शुरु कर दिया जाएगा।
हिमांशु सिंह
नगर निगम आयुक्त,