दैनिक भास्कर हिंदी: प्रकरण प्रभावित करने हाईकोर्ट जज को भिजवाया वाॅट्सएप मैसेज

February 27th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर खंडपीठ में विचाराधीन एक मामले में सीधे हाईकोर्ट जज को वाॅट्सएप पर संदेश भेजकर प्रकरण प्रभावित करने की कोशिश की गई है। पक्षकार की इस हिमाकत पर नाराज न्यायमूर्ति रोहित देव ने शुक्रवार को जांच के आदेश दिए हैं। हाईकोर्ट ने न्यायिक रजिस्ट्रार को एक सप्ताह में जांच कर संदेश भेजने वाले की सारी जानकारी निकालने के आदेश दिए हैं। जानकारी के अनुसार, वाठोड़ा पुलिस थाने में एक भू-खंड अनियमितता प्रकरण में आरोपी अमरदीप सिंह बघ्घा की अग्रिम जमानत याचिका न्या.रोहित देव की खंडपीठ में विचाराधीन थी। शुक्रवार को मामले की सुनवाई रखी गई थी। 

यह है मामला

जानकारी के अनुसार, इस प्रकरण से जुड़े एक व्यक्ति ने हाईकोर्ट के जज की परिचित एक महिला को केस नंबर और एक संदेश भेजा। इसमें लिखा कि प्रकरण में आरोपी को अग्रिम जमानत न दी जाए। इस परिचित व्यक्ति ने सीधे यह संदेश जज के निजी मोबाइल नंबर पर फॉरवर्ड कर दिया। इस परिचित व्यक्ति ने यह पोस्ट सीधे जज को फॉरवर्ड कर दिया। माम8zला जब शुक्रवार को सुनवाई के लिए बोर्ड पर आया तो न्या.रोहित देव ने इस घटना का जिक्र करते हुए मामले में जांच बैठा दी। उन्होंने अपने आदेश में लिखा कि उनकी परिचित महिला एक गृहिणी है, जिसे मामले की गंभीरता शायद ठीक से समझ नहीं आई। वह प्रकरण से संबंधित व्यक्ति के झांसे में आ गई और संदेश सीधे जज को भेज दिया। ऐसे में मामले की जांच करके यह पता लगाना जरूरी है कि आखिर यह किस के दिमाग की खुराफात है। इससे यह साफ होता है कि कोई व्यक्ति है, जो न्यायदान की प्रक्रिया को प्रभावित करना चाहता है।  ऐसे में हाईकोर्ट ने इस मामले की जांच बैठाई है।