comScore

जिसे दी सुरक्षा की जिम्मेदारी उसी ने लूट लिया घर, आरोपी शिमला से गिरफ्तार 

जिसे दी सुरक्षा की जिम्मेदारी उसी ने लूट लिया घर, आरोपी शिमला से गिरफ्तार 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। परिवार के साथ गोवा घूमने जा रहे एक व्यापारी ने बिल्डिंग के नेपाल मूल के सुरक्षारक्षक को हिदायत दी कि वह बाहर जा रहा है और घर का ध्यान रखे। लेकिन यह हिदायत उल्टी पड़ गई और सुरक्षा रक्षक घर की तिजोरी साफ करके अपनी पत्नी और दूसरे साथियों के साथ भाग निकला। वापस लौटने पर व्यापारी को चोरी की जानकारी हुई तो चारकोप पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई गई। पुलिस ने आरोपी सुरक्षा रक्षक और उसके दो साथियों को हिमाचल प्रदेश से शिमला से गिरफ्तार कर लिया जहां आरोपी सेब के बागीचे में चौंकीदारी कर रहे थे।  

चारकोप के शेजल अपार्टमेंट में रहने वाले मनोज भंडारी 5 नवंबर को अपने परिवार के साथ गोवा जा रहे थे। सुबह छह बजे निकलने से पहले उन्होंने इमारत में आठ सालों से काम कर रहे जीवन बुधा नाम के नेपाली मूल के सुरक्षा रक्षक को हिदायत दी कि उनकी गैरमौजूदगी में घर का ध्यान रखे। भंडारी 11 नवंबर को वापस आए तो उन्होंने पाया कि उनके घर की कुंडी टूटी हुई है अंदर सामान अस्तव्यस्त है और आलमारी में रखे 35 तोले सोने के गहने और नकदी गायब हैं। इसके बाद वे जीवन को खोजने लगे तो उन्हें बताया गया कि जीवन अपनी पत्नी को नेपाल स्थित घर छोड़ने गया है।

भंडारी उस मोटर रूम में पहुंचे जहां बुधा रहता था तो वहां उनकी पत्नी का सोने का कर्णफूल और चांदी का हार गिरा मिला। इससे इस बात की पुष्टि हो गई कि चोरी में बुधा का हाथ है। भंडारी ने चारकोप पुलिस स्टेशन में मामले की शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद पुलिस ने बुधा के मोबाइल लोकेशन को ट्रैक करना शुरू कर दिया। साथ ही उसने जिन लोगों से मोबाइल पर बात की थी उनकी भी जानकारी निकाली गई। शुरूआत में बुधा ने अपना मोबाइल बंद रखा था लेकिन बाद में उसमें दूसरा सिमकार्ड डालकर शुरू कर दिया। आईईएमआई नंबर से जरिए पुलिस को उसके नए मोबाइल नंबर की जानकारी मिल गई। जिसके बाद पीएसआई विजय शिंदे की अगुआई में पुलिस की एक टीम उसके पीछे लग गई और बुधा को हिमाचल प्रदेश के शिमला से गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने अपराध में जीवन का साथ देने वाले मुकेश बुधा और संतोष बुधा नाम के आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है। चोरी के बाद नेपाल भागने के बजाय आरोपियों ने शिमला जाकर वहां सेब के बाग में सुरक्षा रक्षक की नौकरी शुरू कर दी थी। मामले में पुलिस को एक और आरोपी की तलाश है। गिरफ्तार आरोपियों से 21 तोला सोना बरामद कर लिया गया है। कोर्ट में पेशी के बाद आरोपियों को छह दिसंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।

 

कमेंट करें
YJZTh