दैनिक भास्कर हिंदी: फटाखा फंड चलाने वाली महिला का किसी बैंक में नहीं था खाता, 12 लाख 80 हजार चोरी होने पर सामने आई ये बात.....

October 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  रौनक फटाका फंड और रौनक बर्तन भंडार के नाम से लोगों के पैसे जमा कर उन्हें गिफ्ट देने वाली वाली महिला के घर दिवाली के पहले चूना लगा है। फटाका फंड के रुपए चोरी हो गए हैं। चोरी का यह सनसनीखेज वाकया परिवार और फंड के सदस्यों की मौजूदगी में हुआ है,हालांकि घटना को लेकर संदेह भी व्यक्त किया जा रहा है। इस बीच गुरुवार की देर रात इमामवाड़ा थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है।

जानकारी के अनुसार जाटतरोडी निवासी रिता संजु वाघमारे (32 ) घर से ही फटाका फंड संचालित करती है। फंड में लगभग ढाई सौ महिला और पुरुष सदस्य हैंं। जो की हर वर्ष किश्तों में रिता के पास रुपए जमा करते हैं। दिवाली के दो दिन पहले फंड़ में जमा नकदी सभी सदस्यों में वितरित की जाती है। तोहफे के रुप में फटाखों के अलावा मिठाई और कुछ वस्तुओं का भी वितरण होता है। गुरुवार की रात फंड का वितरण करने का तय हुआ था। इसके लिए सभी सदस्य रिता के घर में जमा हुए थे। रिता ने भी फंड बांटने की तैयारी पूरी की। अलमारी से फंड के लगभग 12 लाख 80 हजार रुपए के नकदी से भरी बैग निकाली और खुर्सी पर रखी। इस बीच रिता फ्रेश होने के लिए गई। घर में परिवार के सभी लोग मौजूद थे। फंड के सदस्यों की भी भीड़ लगी हुई थी। इस बीच मौका देखकर किसी ने नकदी से भरी बैग गायब कर दी। जिससे कुछ समय के लिए अफरा तफरी मची रही। आरोप-प्रत्यारोप से कुछ समय के लिए तनाव का माहौल भी बना रहा। इस बीच मामला थाने पहुंचा। प्रकरण दर्ज कया गया है,लेकिन अभी तक आरोपी का सुराग नही मिला है। घटना को लेकर संदेह भी व्यक्त किया जा रहा है। जांच जारी है।

 किसी बैंक में कोई अकाउंट नहीं
डिजिटलाइजेशन के इस दौर में आज हर शख्स का बैंक अकाउंट है । नियमानुसार हर किसी का खाता आधार से भी लिंक है लेकिन यहां मजे की बात यह है कि लाखों रुपए का लेन-देन करने वाली इस महिला का किसी बैंक में कोई खाता नहीं है। बताया जाता है कि महिला सफाई कर्मी है बावजूद इसके महिला का किसी बैंक में खाता न होना आश्चर्यजनक है।