comScore

बेवफा पति को पकड़ने के चक्कर में पिट गई महिलाएं, लोगों ने समझा बच्चा चोर 

बेवफा पति को पकड़ने के चक्कर में पिट गई महिलाएं, लोगों ने समझा बच्चा चोर 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बेवफा पति को अपनी बहन और सहेली के साथ रंगेहाथ पकड़ने की कोशिश में एक शिक्षिका मुसीबत में फंस गई। बुरखा पहने तीनों महिलाओं को लोगों ने देखा तो उन्हें शक हुआ कि वे बच्चा चोर है। इसके बाद लोगों ने उन्हें पीट-पीटकर पुलिस के हवाले कर दिया। मामला नई मुंबई के न्हावा शेवा इलाके का है। हालांकि बाद में सारा मामला साफ होने के बाद पुलिस ने तीनों महिलाओं को छोड़ दिया। 

तलोजा इलाके में रहने वाली एक शिक्षिका को शक था कि एक निजी कंपनी में मैनेजर के पद पर काम करने वाले उसके पति का अपने ऑफिस में काम करने वाली महिला के साथ विवाहेत्तर संबंध है। शिक्षिका को शक था कि उसका पति उस महिला के घर गया हुआ है। इसीलिए पति को रंगेहाथ पकड़ने के लिए उसने अपनी बहन और सहेली से साथ बुरखा पहनकर न्हावा शेवा के गव्हन इलाके में पहुंची जहां उसके पति की कथित प्रेमिका रहती थी। जिस महिला के घर शिक्षिका जा रही थी वह शादीशुदा है और उसके बच्चे हैं। शिक्षिका  लोगों से महिला के बच्चे का नाम पूछते हुए उसके घर पहुंची थी। बच्चे का नाम पूछते तीन महिलाओं को देखकर गांव वालों को शक हुआ कि वे बच्चा चोर हो सकती हैं क्योंकि इस तरह की अफवाहें अक्सर सोशल मीडिया पर देखते रहते हैं। 

इसी बीच शिक्षिका महिला के घर पहुंची तो उसका पति की कथित प्रेमिका से विवाद हो गया। झगड़ा देखकर गांव वालों को लगा कि तीनों महिलाएं बच्चा चुराने की कोशिश कर रहीं हैं इसके बाद लोगों ने उन्हें खदेड़ लिया। बच्चा चोर समझकर लोग धक्कामुक्की करते हुए महिलाओं को न्हावा शेवा पुलिस स्टेशन ले गए। न्हावा शेवा पुलिस स्टेशन के सीनियर इंस्पेक्टर प्रमोद जाधव ने बताया कि बुरखा पहनकर बच्चे का नाम पूछ रही महिलाओं को देखकर गांववालों को शक हो गया कि वे बच्चा चोर हैं लेकिन बाद में दोनों तरफ से स्थिति साफ की गई। इस मामले में किसी ने कोई शिकायत नहीं दर्ज कराई है।  

कमेंट करें
3XrAs