comScore

जिला अस्पताल में युवकों ने बरपाया कहर, डॉक्टरों व स्टाफ के साथ की मारपीट

जिला अस्पताल में युवकों ने बरपाया कहर, डॉक्टरों व स्टाफ के साथ की मारपीट


डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। जिला अस्पताल की ट्रामा यूनिट में मंगलवार देर रात तीन युवकों ने जमकर उपद्रव किया। युवकों ने इमरजेंसी ड्यूटी डॉक्टर से अभद्रता और स्टाफ से मारपीट की। मारपीट में एम्बुलेंस चालक को गंभीर चोटें आई है। जिसे इलाज के लिए भर्ती किया गया है। ड्यूटी डॉक्टर के मुताबिक विवाद की वजह से वह एक घायल का इलाज नहीं कर पाए, जिससे उसकी मौत हो गई। देर रात को हंगामें की सूचना मिलते ही कोतवाली स्टाफ अस्पताल पहुंच गया था। पुलिस आने से पहले ही आरोपी युवक अस्पताल से फरार हो गए। अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे में मारपीट की पूरी घटना कैद हुई है।  
डॉ.दीपेन्द्र सल्लामे ने बताया कि मंगलवार रात वह इमरजेंसी यूनिट में डॉ.सत्येन्द्र भारद्वाज के साथ ड्यूटी पर थे। इस दौरान अचानक तीन युवक आए और गाली-गलौच करने लगे। उन्हें गाली-गलौच से मना किया गया, तो युवकों ने मारपीट शुरू कर दी। युवकों के चंगुल से निकलकर डॉ.सल्लामे कोतवाली पहुंचे और पुलिस लेकर अस्पताल पहुंचे। इस बीच युवकों ने एम्बुलेंस चालक प्रकाश मिश्रा, वार्ड वॉय लकी सोनी, ड्रेसर सौरभ मालवी, गार्ड विनोद विश्वकर्मा के साथ मारपीट की। इस मारपीट में प्रकाश मिश्रा के कान में गंभीर चोट आई है। जिसे इलाज के लिए ट्रामा यूनिट में भर्ती किया गया है। डॉ.दीपेन्द्र सल्लामे की शिकायत पर पुलिस ने तीन अज्ञात युवकों के खिलाफ धारा धारा 253, 294, 323, 427, 506, 34, एसटीएससी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।
घायल को नहीं दे पाए इलाज, मौत-
डॉ.दीपेन्द्र सल्लामे का कहना है कि विवाद की वजह से दुर्घटना में घायल एक शख्स को वह इलाज नहीं दे पाए। समय पर इलाज न मिलने पर उसकी मौत हो गई। इस मौत की जवाबदारी भी आरोपी युवकों की होनी चाहिए। तीनों युवकों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है।
अस्पताल के सभी डॉक्टर पहुंचे कोतवाली-
डॉक्टर और स्टाफ से हुई मारपीट के विरोध में अस्पताल के सभी चिकित्सक बुधवार सुबह कोतवाली पहुंचे। यहां उन्होंने उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। सिविल सर्जन डॉ. पी गोगिया और आरएमओ डॉ.सुशील दुबे ने पुलिस अधीक्षक मनोज राय से अस्पताल में डॉक्टर व स्टाफ की सुरक्षा के लिए पुलिस स्टाफ बढ़ाने के लिए पत्र लिखा है।  
क्यों मारपीट की स्पष्ट नहीं-
ट्रामा यूनिट के डॉक्टर और स्टाफ पर अचानक ही तीनों युवकों ने हमला कर दिया। ड्यूटी स्टाफ को भी यह जानकारी नहीं है कि इन युवकों ने उनके साथ मारपीट क्यों की। इन युवकों के साथ न तो कोई मरीज था और न ही किसी का इलाज कराने वे अस्पताल आए थे। विवाद करते हुए अचानक ही उन्होंने मारपीट शुरू कर दी।

कमेंट करें
DZjUe