• Dainik Bhaskar Hindi
  • Cricket
  • India vs New Zealand: Virat Kohli on Schedule, We are "getting closer and closer to landing at the stadium and playing straight"

दैनिक भास्कर हिंदी: IND vs Aus: टीम के बिजी शेड्यूल पर विराट ने कहा, वो दिन दूर नहीं, जब खिलाड़ी सीधे स्टेडियम में लैंड करेंगे और मैच खेलेंगे

January 23rd, 2020

हाईलाइट

  • भारतीय टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ 5 मैचों की टी-20 सीरीज का पहला मैच 24 जनवरी को खेलना है
  • ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घर में वनडे सीरीज खत्म होने के कुछ घंटों बाद ही टीम इंडिया को न्यूजीलैंड दौरे के लिए रवाना होना पड़ा था
  • न्यूजीलैंड पहुंचने के बाद टीम ने 1 दिन का रेस्ट लिया और उसे प्रैक्टिस के लिए केवल 1 दिन ही मिला

डिजिटल डेस्क। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार को टीम के बिजी शेड्यूल पर चिंता जताई। कोहली ने कहा कि, वो दिन दूर नहीं, जब खिलाड़ी सीधे स्टेडियम में ही लैंड करेंगे और मैच खेलेंगे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घर में वनडे सीरीज खत्म होने के कुछ घंटों बाद ही टीम इंडिया को न्यूजीलैंड दौरे के लिए रवाना होना पड़ा था। न्यूजीलैंड पहुंचने के बाद टीम ने 1 दिन का रेस्ट लिया और उसे प्रैक्टिस के लिए केवल 1 दिन ही मिला। अब टीम को कल (शुक्रवार को) न्यूजीलैंड के खिलाफ 5 मैचों की टी-20 सीरीज का पहला मैच खेलना है। टीम का इन दिनों बीजी शेड्यूल चल रहा है और कप्तान विराट कोहली BCCI के ट्रेवल प्लान से खुश नहीं हैं।

दिन दूर नहीं, जब खिलाड़ी सीधे स्टेडियम में लैंड करेंगे और मैच खेलेंगे
कोहली ने पहले टी-20 मैच के एक दिन पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, अब हम उस स्थिति के करीब पहुंच रहे हैं कि, वो दिन दूर नहीं, जब खिलाड़ी सीधे स्टेडियम में ही लैंड करेंगे और मैच खेलेंगे। कार्यक्रम इतना व्यस्त हो गया है, लेकिन इतनी यात्रा करके अलग टाइम जोन वाले देश में आकर तुरंत ढल जाना आसान नहीं होता। उन्होंने कहा, ‘मुझे यकीन है कि, भविष्य में बोर्ड इन चीजों का भी ध्यान रखेगा। इंटरनेशनल क्रिकेट ऐसा ही है जहां लगातार खेलना होता है।

कोहली ने कहा, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछली वनडे सीरीज थी, तो हमने मैदान पर काफी समय बिताया। उससे पहले हमने कुछ टी-20 मैच भी खेले। अब हमारे लिए यहां खेलना आसान होगा।’ उन्होंने कहा कि, न्यूजीलैंड में क्रिकेटरों को दूसरे देशों की तरह सिर पर नहीं बिठाया जाता लिहाजा यहां खेलना इत्मीनान से भरा होता है।

कोहली ने कहा, ‘न्यूजीलैंड दौरे पर राहत रहती है। हर दौरा हमें यह बताता कि, लोग खेल को किस तरह से देखते हैं। यहां क्रिकेट को जॉब कि तरह ही देखा जाता है, जिसे खिलाड़ी पूरा करते हैं। यहां क्रिकेट जीवन का सबसे अहम पहलू नहीं है और ना ही बहुत ज्यादा तवज्जो दी जाती है। उन्होंने कहा, ‘लेकिन कीवी टीम भी हर मैच जीतने के इरादे से खेलती है। सब कुछ काफी संतुलित है और यहां खेलना बहुत अच्छा लगता है।

BCCI ने कोहली के ट्रेवल प्लान पर दिए बयान का किया बचाव
BCCI ने हालांकि अपने ट्रेवल प्लान का बचाव किया और कहा है कि, कोहली को इस बारे में अगर कोई शिकायत थी कि उन्हें मीडिया से इस सम्बंध में बात करने से पहले बोर्ड से बात करनी चाहिए थी। BCCI के एक अधिकारी ने कहा कि कोहली को अपने विचारों से अवगत कराने का पूरा अधिकार है। लेकिन बोर्ड अपनी ओर से हरसम्भव प्रयास करता है कि, उसके ट्रेवल प्लान से किसी खिलाड़ी को परेशानी ना हो।

अधिकारी ने कहा, कोहली को मुद्दा उठाने का पूरा अधिकार है लेकिन सच कहूं तो खिलाड़ियों की सुविधा का ध्यान रखकर ही ट्रेवल प्लान तय किया जाता है। आप देखिए कि विश्व कप से पहले हमने जितना सम्भव हो सका खिलाड़ियों को स्पेस दिया और इसी क्रम में खिलाड़ियों को दिवाली के समय ब्रेक मिला। BCCI के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि, यह प्लानिंग सीओए के समय की है और अगर कोहली को इससे कोई समस्या थी तो उन्हें मीडिया से नहीं बल्कि BCCI सचिव से बात करनी चाहिए थी।

अधिकारी ने कहा, शेड्यूल टाइट था लेकिन यह शेड्यूल सीओए के समय और सीईओ की निगरानी में बना था। ऐसे में कोहली को इस समस्या को बोर्ड के सामने उठाना चाहिए था। तब इसका समाधान निकल सकता था। कोहली अपनी बात कहने के लिए आजाद हैं। लेकिन हर बात के लिए एक तरीका है, जिसका पालन किया जाना चाहिए था। कोहली ने टाइट शेड्यूल को लेकर नाराजगी जाहिर की और कहा कि, अब वह समय आ गया है जब हमें सीधे स्टेडियम में पहुंचना पड़ रहा है।

खबरें और भी हैं...